You are here

CM केजरीवाल ने अपने 2 स्वजातीयों को राज्यसभा का टिकट देकर जातिवाद खात्मे की तरफ कदम बढ़ाया !

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

देश में असमानता औऱ गैरबराबरी दूर करने की एक प्रक्रिया आरक्षण का विरोध करने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद को जातिवाद से दूर बताकर आरक्षण का जातिवादी व्यवस्था करार देते हैं, लेकिन चुनाव के समय में खुद को बनिया बताकर व्यापारियों से वोट मांगते हैं।

इतना ही नहीं सीएम साहब को जब राज्यसभा भेजने का मौका मिलता है तो 3 में से दो टिकट अपने स्वजातिय व्यापारियों को दे देते हैं। वो भी ऐसे लोगों को दरकिनार कर जिनका पार्टी के आगे बढ़ने में बहुत बड़ा योगदान रहा।

टिकट ना मिलने से असंतुष्ट आप नेता कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल को अपनी नाराजगी जाहिर कर दी है। विश्वास बोले पिछले डेढ़ वर्ष से हमारी पार्टी में पीएसी के अंदर हमारे नेता और मित्र अरविंद भाई के कई निर्णय माने जाते रहे हैं।

चाहे वो सर्जिकल स्ट्राइक के हों, आंतरिक भ्रष्टाचार से आंख फेरना हो, चाहे पंजाब में अतिवादियों के प्रति सॉफ्ट रहना हो, चाहे टिकट वितरण में जो गड़बड़ियां मिलीं उसकी शिकायत हो, चाहे जेएनयू का विषय हो. मैंने जो सच बोला आज उसका पुरस्कार दंड स्वरूप मुझे दिया गया जिसके लिए मैं स्वयं का आभार व्यक्त करता हूं.

कुमार विश्वास ने कसा तंज- 

कुमार विश्वास ने अपने मन की बेदना को तंज के रूप में बया किया और बोले मैं पिछले 40 वर्ष से मनीष के साथ काम कर रहे, 12 वर्ष से अरविंद के साथ काम कर रहे, सात साल से कार्यकर्ताओं के लिए काम कर रहे और पांच साल से लगातार आम आदमी पार्टी के हर विधायक के लिए रैलियां कर करके, ट्वीट कर करके, मीडिया में बहस कर करके जिन्होंने आज पार्टी को खड़ा किया है.

ऐसे महान क्रांतिकारी श्री सुशील गुप्ता जी को आंदोलनकारियों की आवाज राज्यसभा में भेजने के लिए अरविंद जी ने चुना है. इसके लिए मैं अरविंद जी को बधाई देता हूं कि उन्होंने क्या शानदार चयन किया है. कार्यकर्ताओं को लाखों-लाखों बधाई. आपकी बात सुनी गई. एक महानतम व्यक्ति को बधाई जिसने लगातार काम किया. ऐसे ही दूसरे गुप्ता जी को भी बधाई. इसके लिए भी कार्यकर्ताओं को बधाई.

एक दूसरी बधाई भी देना चाहता हूं. चार महीने पहले अरविंद ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा था कि ‘सर जी आपको मारेंगे पर शहीद नहीं होने देंगे.’ मैं उनको बधाई देता हूं कि मैं अपनी शहादत स्वीकार करता हूं.

मैं जानता हूं कि आपकी इच्छा के बिना हमारे दल में कुछ होता नहीं, आपसे असहमत रह के वहां जीवित रहना मुश्किल है. मैं अनुरोध करता हूं कृपया अपने मंत्रियों, ट्विटर के योद्धाओं को लोगों को ये कह दें कि शहीद तो कर दिया पर शव के साथ छेड़छाड़ न करें क्योंकि यह युद्ध के नियमों के विपरीत है. आगे से ऐसी कोई दुर्गंध न फैले.

संजय सिंह, सुशील गुप्ता, एन डी गुप्ता को राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया- 

आम आदमी पार्टी ने अपने राज्यसभा उम्मीदवारों के तौर पर बुधवार को संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता को नामित किया. सिंह पार्टी गठन के समय से ही उससे जुड़े हुए हैं. सुशील गुप्ता दिल्ली के एक कारोबारी हैं और एन डी गुप्ता एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई एक बैठक में यह निर्णय लिया गया जिसमें करीब पार्टी के 56 विधायकों ने हिस्सा लिया.

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा, ‘सुशील गुप्ता ने दिल्ली और हरियाणा में शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्रों में बड़ा योगदान दिया है. वह 15,000 बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा मुहैया कराते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘नारायण दास गुप्ता इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (पीएसी) के पूर्व अध्यक्ष हैं।

राज्यसभा सीट के उम्मीदवार बनने की आस लगाए बैठे असंतुष्ट नेता कुमार विश्वास ने पीएसी बैठक में भाग नहीं लिया. वह पीएसी के सदस्य हैं. दिल्ली से तीन राज्यसभा सीटों के लिए मतदान 16 जनवरी को होंगे.

70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में आप को पूर्ण बहुमत प्राप्त है और उसके सभी तीनों सीटों पर जीत हासिल करने की पूरी उम्मीद है. राज्यसभा सीटों के लिए नामांकन दायर करने की अंतिम तिथि पांच जनवरी है.

सावित्रीबाई फुले: देश में पहला बालिका स्कूल खोलकर, नारी मुक्ति का मार्ग प्रशस्त करने वाली ‘ज्ञान की देवी’

नितिन पटेल माने तो बागी हुए कोली समाज के नेता, बोले पाटीदार नेता को मिला विभाग तो मुझे क्यों नहीं?

जातिवाद का आरोप झेल रही योगी सरकार ने, 4 वरिष्ठों को दरकिनार कर दूसरे ‘सिंह साहब’ को बनाया DGP

अब ऑनलाइन वोटिंग में PM मोदी पर भारी पड़े हार्दिक पटेल, व्यक्ति विशेष-2017 बने, भारी अंतर से पछाड़ा

OBC को आबादी के हिसाब से आरक्षण देने की मांग, ग्वालियर से दिल्ली पदयात्रा करेंगे प्रेमचंद कुशवाहा

 

 

 

Related posts

Share
Share