You are here

योगी जी ! आज 15 जून है, आंकड़े कह रहे हैं कि गड्ढामुक्ति का आपका दावा फेल हो गया है

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ने सत्ता संभालते ही पूरे जोर शोर के साथ यूपी की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की घोषणा की. बोलने में जोश इतना था कि समय भी तय कर दिया गया 15 जून यानि आज ही का दिन. आज समय पूरा हुआ तो सोशल मीडिया पर ये सवाल तैर रहा है कि योगी जी आज 15 जून है क्या हुआ आपके गड्डामुक्त यूपी का.

ये बात एकदम सही है कि किसी भी काम को करने में वक्त लगता है. लेकिन सवाल वक्त नहीं आपकी सरकार की जुमलेबाजी का है. किसी बात को इतना बढ़ाकर चढ़ाकर भाषण देंगे तो लोग सवाल करेंगे ही.

इसे भी पढ़ें-गोदी मीडिया की एजेंडा पत्रकारिता पर उठे सवाल, पढ़िए कैसे सवालों में ही लालू यादव को बना दिया अपराधी

1लाख 21 हजार 816 किलोमीटर सड़क को गड्ढा मुक्त करने का लक्ष्य तय था. इसे पूरा करने की जिम्मेदारी 9 विभागों को दी गई थी. अब .ये बात निकलकर आ रही है कि सभी विभागों के पास पर्याप्त धनराशि उपलब्ध ही नहीं कराई गई थी.

पीड्ब्ल्यूडी ने मांगा और समय- 

यूपी सरकार का सड़कों को गढ्ढा मुक्त करने का दावा फिलहाल फेल होता नजर आ रहा है. PWD ने 10 हजार किमी सड़कों के लिए अभी 15 दिन का और समय मांगा है. प्रमुख सचिव पीडब्ल्यूडी ने शासन को पत्र लिखकर समय मांगा है.  85 हजार में से 75 हजार किमी करनी थी सड़के गड्ढा मुक्त.  1.21 लाख किमी में से आधी सड़के ही गड्ढा मुक्त हो पाई हैं.

इसे भी पढ़ें- पत्रिका ग्रुप के मालिक का सरकार पर हमला, मीडिया मैनेज कर जनता कर झूठी खबरें पहुंचा रहे हैं मोदी

सिंचाई विभाग और अन्य विभागों का हाल देखिए-

PWD के अलावा आधा दर्जन विभाग गड्ढा मुक्ति में असफल साबित हुए हैं. सिंचाई विभाग तो अभी तक काम ही नहीं शुरू कर पाया है.   जबकि नगर निगम भी अभी मात्र 17 प्रतिशत ही निर्माण करा सका है. गन्ना विभाग 3716 के सापेक्ष  465 किमी. ही बना सका है सड़क.अन्य विभागों का भी हाल देखिए.

मंडी परिषद 10193 के सापेक्ष 2090 किमी ही बना सका सड़क

पंचायतीराज विभाग 3890 के सापेक्ष मात्र 390 किमी ही बनी सड़क

राष्ट्रीय राजमार्ग ने 189 के सापेक्ष 133 किमी सड़कें ही ठीक की

इसे भी पढ़ें- सुन लो मोदी जी मां के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए दो साल से हर घंटे आपको ट्विट करता है ये फौजी

घोषणा कर दी विभागों के पास उपलब्ध ही नहीं थी राशि- 

सीएम योगी की घोषणा के अनुरूप पूरे यूपी की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के लिए 4500 करोड़ रुपये की जरूरत थी. जबकि ये बात निकलकर आ रही है कि विभागों के पास केवल 20 प्रतिशत ही  धनराशि उपलब्ध थी.

बहरहाल आंकड़े बता रहे हैं कि अभी तक महज 55 फीसदी ही काम हो पाया है. लेकिन सरकार का दावा कुछ और ही है और वो खुद अपनी पीठ थपथपा रही है.

Related posts

Share
Share