You are here

तो क्या गुजरात चुनाव जीतने के लिए PM ने देशवासियों से झूठ बोला था ? कांग्रेस बोली माफी मांगे मोदी

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गुजरात चुनाव के वक्त दिए गए पाकिस्तान संबंधी बयानों को लेकर विपक्ष हमलावर है। तकरीबन सभी पार्टियों ने प्रधानमंत्री के इस बयान का एक स्वर में विरोध करते हुए इस ओछी हरकत करार दिया था।

अब गुजरात चुनाव के परिणाम सामने आने के बाद भी कांग्रेस पाकिस्तानी संबंधी बयान को आसानी से छोड़ने के मूड में नहीं दिख रही. कांग्रेस का स्पष्ट कहना है कि अगर देशद्रोह हुआ है तो कार्रवाई करें नहीं तो पीएम देश से माफी मांगे।

कांग्रेस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि पाकिस्तान के साथ साजिश करने के आरोप पर कार्रवाई नहीं कर, उन्होंने संविधान एवं पद की मर्यादा का उल्लंघन किया है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान के साथ साजिश का आरोप प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात चुनाव के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, विदेश मंत्री एवं पूर्व उपराष्ट्रपति, पूर्व सेना प्रमुख पर लगाया था।

कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को कम से कम अपनी टिप्पणी पर स्पष्टीकरण देना चाहिए. पार्टी ने कहा कि यदि ऐसा प्रधानमंत्री के रूप में अटल बिहारी वाजपेयी के साथ हुआ होता तो उन्होंने 10 बार माफी मांगी होती.

संसद के दोनों सदनों में कांग्रेस का हंगामा- 

कांग्रेस ने इस मुद्दे पर संसद के दोनों सदनों में हंगामा किया. हंगामे के कारण जहां राज्यसभा पूरे दिन बाधित रही, वहीं लोकसभा में भोजनावकाश के बाद पार्टी सदस्यों ने सदन से वॉकआउट किया.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने संवाददाताओं से कहा, ‘प्रधानमंत्री देश को तोड़ने का प्रयास और अच्छे लोगों की छवि पर धब्बा लगाने का काम कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि यदि प्रधानमंत्री के पास पाकिस्तान के साथ खुफिया बैठक की सूचना थी, तो उन्होंने आईबी एवं अन्य खुफिया एजेंसियों का इस्तेमाल क्यों नहीं किया.

अगर सबूत है तो एफआईआर दर्ज कराइए – 

खड़गे ने कहा, ‘यदि आप के पास पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ सबूत हैं तो आपको उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए. आप उनकी छवि पर धब्बा लगा रहे हैं और उनके राष्ट्रवाद पर सवाल उठा रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यदि प्रधानमंत्री के पास सबूत हैं, तो उन्होंने खुफिया एजेंसियों से यह पता क्यों नहीं लगवाया कि क्या कुछ राष्ट्र विरोधी है. उन्होंने गोपनीयता की शपथ ली है. यदि यह राष्ट्र हित में नहीं है और राष्ट्र विरोधी है, तो आपने संविधान और पद की मर्यादा का उल्लंघन किया है.’

पीएम स्वीकार करें कि ये महज चुनावी स्टंट था- 

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि ‘जब देश के प्रधानमंत्री पाकिस्तान के साथ साजिश करने का सार्वजनिक तौर पर आरोप लगाते हैं तो यह एक बेहद गंभीर आरोप हो जाता है जिस पर उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए.

आजाद ने कहा, ‘यदि उन्हें प्रधानमंत्री को माफी मांगने से दिक्कत है तो प्रधानमंत्री को कहना चाहिए कि गुजरात चुनाव जीतने के लिए उन्होंने एक स्टंट किया था, गोला फेंका था. यह हमें स्वीकार होगा.

उन्होंने कहा कि यदि अटल बिहारी वाजपेयी होते प्रधानमंत्री के रूप में, तो उन्होंने 10 बार माफी मांग ली होती. यह इस पर निर्भर करता है कि कौन प्रधानमंत्री हैं.

आजाद ने कहा, ‘उन्हें कहना चाहिए कि अब गेंद लक्ष्य पर लग गई है. गुजरात चुनाव भाजपा जीत गई है, वह अपने शब्द वापस ले रहे हैं. हम उसे भी स्वीकार कर लेंगे, उन्हें माफी मांगने की जरूरत नहीं है. उन्हें सिर्फ यही कहना है कि उन्होंने यह चुनाव जीतने के लिए कहा था.’

दिल्ली: आध्यात्म के नाम पर 100 लड़कियों को बंधक बनाकर यौन शोषण करता था वीरेन्द्र देव दीक्षित

कैमरा प्रेम: PM मोदी और कैमरे के बीच आ गए केन्द्रीय मंत्री तो सिक्योरिटी ने पीछे भेजा, वीडियो वायरल

“PCS सेवा में रहते हुए राकेश पटेल ने ‘नदियां बहती रहेंगी’ के माध्यम से अदम्य साहस का परिचय दिया है”

BJP के पूर्व विधायक का आरोप, पार्टी की सांसद का उच्च जाति के अधिकारियों से व्यवहार रूखा रहता है

गुजरात के छुपे रुस्तम: शरद यादव गुट के छोटू भाई ने चुनाव से 7 दिन पहले बनाई पार्टी, 2 सीटें जीतीं

 

Related posts

Share
Share