You are here

पिछड़ों को कांग्रेस से जोड़ने की कवायद, लखनऊ पहुंचे OBC विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

2019 के आम चुनाव में एक बार फिर बीजेपी देश के बहुसंख्यक पिछड़े समुदाय का वोट हासिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जाति को सामने लेकर आएगी। एक बार फिर से मंचों से उन्हे चिल्ला- चिल्लाकर पिछड़ी जाति का बताया जाएगा।

बीजेपी के इसी मुद्दे की काट के लिए कांग्रेस ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है, इसके लिए कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग विभाग को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के पदाधिकारियों की जिम्मेदारी होगी कि पिछड़ों को समझाएं कि ओबीसी के नाम पर प्रधानमंत्री बनने वाले मोदी ने आखिर 5 सालों में उन्हे दिया क्या है ?

इसी कवायद को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ओबीसी विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन व सांसद ताम्रध्वज साहू 22 मई को लखनऊ पहुंचे और कांग्रेस मुख्यालय 10 माल एवेन्यू पर पिछड़ा वर्ग विभाग के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

बैठक की अध्यक्षता पिछड़ा वर्ग विभाग के उत्तर प्रदेश संयोजक राहुल सचान व संचालन विभाग के मुख्य प्रवक्ता डॉ. अनूप पटेल ने किया।

कांग्रेस को नेता नहीं कार्यकर्ता की जरूरत- 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को नेता की नहीं कार्यकर्ता की जरूरत है। सत्ता में पहुंचना तभी संभव है जब पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी कार्यकर्ता के रूप में कार्य करना शुरू करेंगे।

इस दौरान कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए गए कि-

1- पिछड़ा वर्ग विभाग प्रदेश में पंजीकृत पिछड़ी जाति की सूची एकत्र करे।

2– पिछ़ड़ा वर्ग समुदाय के पूर्व और वर्तमान में सांसद, विधायक, ब्लाक प्रमुख आदि की सूची एकत्र करे।

3– विभिन्न पिछड़े वर्ग की जातियों के बीच समन्वय बनाने का कार्य करें।

4- पिछड़ों को बताएं कि ओबीसी के नाम पर प्रधानमंत्री बनने वाल े नरेन्द्र मोदी ने जनता को क्या दिया ?

11 जून को दिल्ली में पिछड़ा वर्ग सम्मेलन- 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू ने बताया कि पिछड़े वर्ग का राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम 11 जून को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में प्रस्तावित है। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शिरकत करेंगे। इस सम्मेलन का उद्देश्य प्रदेशवार पिछड़े वर्ग के लोगों की समस्याओं को समझना और पिछड़े वर्ग के नेताओं व कार्यकर्ताओं से उन पर चर्चा करके रणनीति बनाना है।

ब्लॉक स्तर पर पिछड़ों को जोड़ना है- 

अध्यक्षता कर रहे प्रान्तीय संयोजक राहुल सचान ने कहा कि संगठन को विस्तार देने के लिए समय कम है इसलिए कम समय में अधिक काम करना है। आने वाले 11 दिन के अन्दर संगठन को ब्लाक स्तर तक पहुंचाना है। जो पदाधिकारी सुचारू ढ़ंग से काम नहीं करेगा उसके स्थान पर कमर्ठ कार्यकर्ता की तैनाती होगी।

बैठक को सम्बोधित करते हुए विभाग के मुख्य प्रवक्ता डॉ0 अनूप पटेल ने कहा कि कांग्रेस के अन्दर सभी सामाजिक समुदायों को उचित प्रतिनिधित्व हर स्तर पर दिया जाय, साथ ही प्रदेश में पिछड़ा वर्ग विभाग को मजबूत किया जाना चाहिए।

उ0प्र0 की पिछड़ा वर्ग की आबादी को कांग्रेस के साथ जोड़ने में राष्ट्रीय स्तर पर भी प्रयास होना चाहिए। आने वाले समय में प्रदेश में चारों जोन में पिछड़े वर्ग की बड़ी रैली की जायेगी।

बैठक में प्रदेश कांग्रेस के संगठन मंत्री तरूण पटेल, प्रदेश उपाध्यक्ष छोटेलाल चौरसिया, गौरव चौधरी, कानपुर देहात के जिलाध्यक्ष नीतम सचान, नीरज प्रजापति, प्रीतम सिंह लोधी, विशाल राजपूत, विपनेश यादव, पूर्व जिला पंचायत सदस्य गजेन्द्र सिंह पटेल, प्रदीप चौधरी वकार अहमद, नाहिदा अकील, नीरज लेाहिया, नन्दकिशोर पाल, जितेन्द्र सिंह राजपूत, ओम प्रकाश विश्वकर्मा, शमशाद अली, डॉ. हरिश्चंद्र, आशीष गुप्ता समेत सैकड़ों की संख्या में पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी मौजूद रहे।

UPSC को भेजे गए प्रस्ताव में OBC/SC/ST के खिलाफ साजिश और ‘वफादार’ नौकरशाही तैयार करने की बू है

बस्ती: पुलिस व BJP सांसद से नाराज कुर्मी समाज उतरा सड़क पर, मार्च निकालकर DM कार्यालय का घेराव

गुजरात: राजकोट में दलित को गेट से बांधकर बेरहमी से पीट-पीटकर हत्या, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

इलाहाबाद: शिक्षा विभाग में कार्यरत रामचंद्र पटेल की हत्या, पुलिस और नेताओं के रवैये से परिवार में आक्रोश

क्लर्क की नौकरी करने वाले येदियुरप्पा ने की मालिक की बेटी से शादी और बन गए करोड़पति

 

 

 

Related posts

Share
Share