You are here

संवैधानिक आरक्षण को खत्म करने की बात तो करते हैं, मंदिरों में अवैध आरक्षण की बात नहीं करते

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

युवा बहुजन सामाजिक चिंतक काव्या यादव सोशल मीडिया पर आरक्षण को लेकर विमर्श को आगे बढ़ाते हुए कहतीं हैं कि मनुवादी लोग आरक्षण को खत्म करने की बात करते हैं पर कभी जाति को खत्म करने की बात नहीं करते.

आरक्षण विरोधी लोग भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त संवैधानिक आरक्षण का विरोध करते हैं पर ये लोग कभी भी मंदिरों में मंहत या पुजारी के रूप में सिर्फ एक जाति यानि ब्राह्मणों के आरक्षण का कभी भी विरोध नहीं करते.

काव्या ने अपने इसी विमर्श को जायज आरक्षण और नाजायज आरक्षण के रूप में परिभाषित किया है. आप भी पढ़ें काब्या सोशल मीडिया पर आरक्षण के बारे में क्या लिखती हैं

आरक्षण का विरोध या समर्थन करने वालों को यह जानना जरुरी है कि वर्तमान भारत में दो प्रकार के आरक्षण है.

1. #द्विजशास्त्रो द्वारा प्रदत्त नाजायज अर्थात् अन्यायी आरक्षण.
2. #भारतीय_संविधान द्वारा बहुमत से प्रदत्त जायज अर्थात् न्यायी आरक्षण.

आजतक मंदिरों से लेकर शंकराचार्य, वैष्णवाचार्य, वल्लभाचार्य जैसे बडे पदों पर #घुसपैठियो का ही एकचक्री वर्चस्व रहा है. इस पदों पर आजतक महिला वर्ग सहित बहुसंख्यक गैरब्राह्मण समुदाय के क्षत्रिय, वैश्य या शुद्र-अतिशुद्र नियुक्त नहीं हो सके है.

इसलिए इस “#धार्मिक_आरक्षण” को घुसपैठियो द्वारा, ब्राह्मणों के लिए आरक्षित रखा हुआ “#अन्यायी_आरक्षण” कहा जाता है.
#भारतीय_संविधान अनुसार SC और ST को उनकी #आबादी_के_अनुपात में आरक्षण दीया गया है. इस प्रकार OBC को भी उनकी आबादी के अनुपात में आरक्षण देने का प्रावधान है.

#काका_कालेलकर_और_मंडल_आयोग द्वारा OBC को उनकी आबादी के अनुपात में आरक्षण देने की सिफारिशें की गई है. लेकिन ब्राह्मणवादी मानसिकता से ग्रस्त अबतक की सरकारो ने इस का अमल नहीं किया है.
संक्षिप्त में कहा जाए तो हमें समानता और मानवता को ध्यान में रखकर “नाजायज अर्थात् अन्यायी आरक्षण” का विरोध और “जायज अर्थात् न्यायी आरक्षण” का समर्थन करना चाहिए.

यदि #ब्राह्मणवाद प्रेरित #जातिवादी_वर्णव्यवस्था ख़त्म हो जाती है तो यह दोनों प्रकार के आरक्षण अपने आप ही ख़त्म हो सकते है। लेकिन घुसपैठि लोग बड़ी चालाकी से “#जायज_आरक्षण” का विरोध करते है, और अपनी सदियो पुरानी “#नाजायज_आरक्षण” पर धुर्तता से मौन धारण कर लेते है.

#गैरसंवैधानिक_क्रीमीलेयर_हटाओ
#भारतीय_संविधान_बचाओ
काव्या यादव की फेसबुक वॉल से..

Related posts

Share
Share