You are here

UP में गुंडाराज: अवैध कब्जे का विरोध करने पर पेट्रोल पंप मालिक पांडेय ने की गोलीबारी, 3 की मौत 9 घायल

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

अखिलेश राज को गुंडाराज बताकर सत्ता में आने वाली भाजपा द्वारा बैठाए गए धार्मिक मुख्यमंत्री अजय सिंह बिष्ट उर्फ आदित्यनाथ के राज में दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यकों के प्रति अपराध कम होने के बजाए बढ़ते ही जा रहे हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो बीजेपी सरकार आने के बाद सवर्ण जातियों का गुंडाराज प्रदेश में कायम होता जा रहा है। ताजा मामला गोरखपुर से सटे देवरिया का है।

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर से सटे देवरिया जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र के सरौरा गांव में शनिवार को पेट्रोल पंप मालिक छोटे लाल पांडेय और हरिशंकर पांडेय ने कानून व्यवस्था को धता बताते हुए ग्रामीणों पर गोली बरसा दीं। इस वारदात में तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि 9 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। बवाल एक पेट्रोलपंप की बाउंड्री बनाने को लेकर हुआ था।

पेट्रोल पंप का एरिया बढ़ाने को लेकर विवाद- 

जानकारी के अनुसार देवरिया के सरौरा चौराहा रूद्रपुर रोड पर छोटेलाल पाण्डेय का इंडियन ऑयल का पेट्रोल पंप है। पेट्रोल पंप का एरिया बढ़ाने के लिए छोटेलाल ने पेट्रोल पंप के आसपास की जमीन पर अतिक्रमण कर बाउंड्री बनाना शुरू कर दिया।

लेकिन पेट्रोल पंप से सटी संजय सिंह सैंथवार की जमीन भी है जिसके एक साइड में मंदिर है। पेट्रोल पंप का एरिया अवैध तरीके से बढ़ाने के लिए मंदिर और संजय सिंह की जमीन पर भी कब्जा करने का प्रयास शुरू हो गया था।

ग्रामीणों की मानें तो शनिवार को करीब 11 बजे बाउंड्री का निर्माण कार्य चल रहा था, जब संजय सैंथवार ने इसका विरोध किया तो पेट्रोल पंप मालिक के गुंडों संजय को पीट पीटकर अधमरा कर दिया। इसी दौरान सरौरा गांव के सैकड़ो ग्रामीण वहां पर पहुंचे और मंदिर की जमीन पर अतिक्रमण करने का आरोप लगाते हुए निर्माण कार्य रोक दिया।

तीन की मौत, 9 घायल- 

इस बात को लेकर पेट्रोल पंप मालिक व ग्रामीणों में विवाद शुरू हो गया।मामले की जानकारी होने पर जब गांव वाले बड़ी संख्या में पेट्रोल पंप के आसपास जमा हो गए तो पेट्रोल पंप मालिक और उनके गुंडे और उग्र हो गए। ग्रामीणों का आरोप है कि पेट्रोल पम्प मालिक हरिशंकर पाण्डेय ने खुद गोली चलाई।

वारदात में गोली लगने से 40 वर्षीय रामप्रवेश, 22 वर्षीय इंद्रजीत कुशवाहा, 20 वर्षीय सत्यप्रकाश की मौत हो गई। जमीन मालिक संजय सैंथवार के पेट में धारदार हथियार से हमला किया गया। गंभीर रूप से जख्मी संजय सैंथवार, नरेंद्र प्रताप और राम प्रवेश को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है।

इसके अलावा जख्मी नरेंद्र प्रताप, राम प्रवेश, विनय राजभर, रमेश यादव, संदीप, अमरावती, शांति और चुन्नी लाल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसपी राकेश शंकर मौके पर पहुंच गए हैं। घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात कर दी गई है।

BJP सांसद स्वामी ने खोली PM के विकास की पोल, बोले सिर्फ विकास नहीं, हिन्दू कार्ड है जीत का मंत्र

बदलाव की आहट: पंजाब लोकसभा उपचुनाव में अपनी पुश्तैनी सीट हारी BJP, कांग्रेस प्रत्याशी की बंपर जीत

इलाहाबाद विवि के छात्रों ने भी भगवा सोच को नकारा, समाजवादी छात्रसभा ने 5 में से 4 पदों पर जीत दर्ज की

CM आदित्यनाथ के रोड शो में सूनी पड़ी सड़कें गवाह हैं, गुजरात में इस बार BJP की राह आसान नहीं

भाई की हार से खफा BJP सांसद बोले, जो टुकड़े फेंकता है, पुलिस वाले उसके इशारों पर दुम हिलाते हैं

सपा 31 अक्टूबर को आयोजित करेगी सरदार पटेल जयंती समारोह, कुर्मी समाज के दिग्गजों का होगा जमावड़ा

Related posts

Share
Share