You are here

पानी में डूबे आजाद भारत की तस्वीर बयां करती तस्वीर वायरल, ताजिम और मिजानुर के जज्बे को सलाम

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

सरकार द्वारा थोपी जा रही और सबूत मांगने वाली देशभक्ति के बीच एक तस्वीर जबरदस्त वायरल हो रही है। ये तस्वीर अपने आप में बहुत कुछ बयां कर रही है।

ये तस्वीर आजाद भारत की, देशभक्ति के जज्बे की और प्राइमरी स्कूलों की हकीकत और शिक्षा व्यवस्था की पोल खोल रही है।

एक तस्वीर जो बहुत कुछ कहती है !

15 अगस्त 2017 के झंडारोहण की यह तस्वीर लोअर असम,धुबरी के नस्करा प्राइमरी स्कूल की है.

तस्वीर में दिख रहे हैं स्कूल के प्रधानाध्यापक जनाब ताज़िम सिकदर और मिज़ानुर रहमान नाम के अध्यापक महोदय . साथ में हैं तीसरी कक्षा के दो विद्यार्थी हैदर अली खां और जैरुल अली खां जिन्हें अपनी तैर सकने की योग्यता के कारण इस राष्ट्रीय कर्तव्य के पालन हेतु चुना गया है.

बाकी बच्चे पास की सड़क से यह राष्ट्रीय पर्व मनाने में सहयोग दे रहे हैं. फोटो खींची है सहायक अध्यापक जयदेव रॉय ने . फोटो इसलिए ज़रूरी थी क्योंकि इसे क्लस्टर रिसोर्स सेंटर के कोऑर्डीनेटर को भेजना ज़रूरी था.

यह फोटो शेयर करने का अभिप्राय यह प्रमाणित करना नहीं है कि देश के मुसलमान कितने राष्ट्रभक्त हैं, वह तो वे हैं ही. मैं सिर्फ इतना अर्ज़ करना चाहता हूं कि इस देश का आम आदमी तमाम असुविधाओं और तकलीफों के बावजूद अपनी जिम्मेदारियां पूरी निष्ठा से निभाता आ रहा है.

मैं सिर्फ यह कहना चाहता हूं कि यह जो हर जगह फोटू-फोटू के प्रमाण की व्यवस्था है, यह बहुत बदतमीज़ किस्म की फूहड़ व्यवस्था है जहां स्वच्छता अभियान की फोटो अंततः हगते हुए की फोटो तक पहुंच जाती है .

मूल बात यह कि एक सरकार का — एक व्यवस्था का — अपने कर्मचारियों तथा नागरिकों से विश्वास का रिश्ता होना चाहिए. संदेह का नहीं !

और अगर भरोसा नहीं रखेंगे तो एक दिन वह भी आपकी तरह फोटो की बजाय फोटोशॉप पर उतर आएगी .

* यह सच्ची फ़ोटो और सूचना ‘द टेलीग्राफ़’ के सौजन्य से

Related posts

Share
Share