You are here

धर्म में उलझे CM आदित्यनाथ के गोरखपुर में 30 बच्चों की अस्पताल में तड़प-तड़पकर मौत

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

गाय,गंगा, मंदिर और धर्म में उलझी योगी सरकार के गढ़ गोरखपुर में 30 बच्चों की तड़प-तड़पकर मौत, BRD अस्पताल में खत्म हो गया था ऑक्सीजन। गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में 48 घंटे में 30 बच्चों की मौत से कोहराम मच गया है।

ये घटना गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मेडिकल कॉलेज के आईसीयू और इंसेफलाइटिस वार्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई ठप होने से इन बच्चों की मौत हुई है।

योगी आदित्य नाथ इस वक्त गोऱखपुर से ही सांसद हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में दिमागी बुखार की वजह से कई बच्चे अस्पताल में भर्ती थे। गोरखपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाके दिमागी बुखार से प्रभावित हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक अस्पताल के इस वार्ड में गुरुवार रात 11.30 बजे से ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई थी। ये सिलसिला सुबह 9 बजे तक चलता रहा। इसकी वजह से 30 बच्चों ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद अस्पताल में कोहराम मचा हुआ है।

जिला प्रशासन ने अबतक सात बच्चों की मौत की पुष्टि की है। खबरों के मुताबिक इस मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का अस्पताल पर लगभग 69 लाख रुपये बकाया था। पैसे ना मिलने पर कंपनी ने लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी।

इसके बाद अस्पताल में जंबों सिलेंडरों से गैस सप्लाई की जा रही थी। पहली बार अस्पताल के स्टाफ को रात आठ बजे पता चला कि ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म हो गया है। अब तक यहां सिलेंडर से ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही थी। इसके बाद वार्ड को लिक्विड ऑक्सीजन से जोड़ा गया, लेकिन दुर्भाग्य से रात 11.30 बजे ये भी खत्म हो गया।

अब तक अस्पताल में कोहराम मच गया था, लगभग 50 से ज्यादा मरीज बेहोशी की हालत में थे, लेकिन डॉक्टर, नर्स स्टाफ कोई कुछ कहने की हालत में नहीं था। आनन-फानन में वरिष्ठ अधिकारियों को फोन लगाया गया। लेकिन कोई कुछ जवाब देने की हालत में नहीं था।

इस बीच राहत की खबर रात 1.30 बजे आई जब ऑक्सीजन सिलेंडर से लदी गाड़ी आई। लेकिन राहत की ये खबर महज कुछ घंटों के लिए थी। सुबह सात बजे दोबारा ऑक्सीजन खत्म हो गई। इसे पूरे मामले में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही साफ नजर आ रही है।

सपा ने जताई कड़ी प्रतिक्रिया- 

समाजवादी पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह वर्मा ने घटना पर दुख जताते हुए कहा है कि-

रोते बिलखते अपने बच्चे की लाश को उठाये लोगों की तस्वीर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के गोरखपुर की है। बी. आर. डी. मेडिकल कालेज, गोरखपुर में बीते ४८ घंटों में आक्सीजन सप्लाई न होने के कारण ३० बच्चों की मौत हो गई। यह मेडिकल कालेज प्रशासन की घोर लापरवाही तथा प्रदेश की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोलती है।

आखिर इन बच्चों की मौत का जिम्मेदार कौन है ? मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से मांग करता हूँ कि इस घटना के दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाय तथा भविष्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न होने पाए इसके व्यापक इंतजाम किये जाए। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी शोक संवेदना।

 

Related posts

Share
Share