You are here

सहारनपुर हिंसा के खिलाफ लखनऊ में दिखी फूलन देवी की तस्वीरें, सोशल मीडिया पर वायरल

लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो।

सहारनपुर में दलित विरोधी हिंसा के खिलाफ आज लखनऊ में विधानसभा के पास छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया. योगी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर बर्बरता दिखाते हुए जमकर लाठियां भांजी. जिससे कई छात्र घायल भी हुए.

प्रदर्शन की सबसे बड़ी बात ये रही कि प्रदर्शनकारी बड़ी संख्या में बहुजन समाज के महापुरुषों के चित्र अपने हाथों में लिए थे. कुछ प्रदर्शनकारी इस प्रदर्शन में महिला स्वाभिमान की प्रतीक फूलन देवी का चित्र लेकर भी आए थे.

इस प्रदर्शन में दिलीप यादव, राम करन निर्मल, मुलायम सिंह, राजेश कुमार समेत दर्जनों प्रदर्शनकारी पुलिस की लाठियों का शिकार बने. आपको बता दे कि योगी सरकार में बढ़ते अपराध और सहारनपुर में दलित विरोधी हिंसा के विरोध में देश भर की यूनिवर्सिटी के कई छात्र आज विधानसभा का घेराव करने जुटे थे. घेराव की रुपरेखा और रणनीति तय करने के लिए ज्वाइंट एक्शन कमेटी का भी गठन किया गया था.

क्या थी प्रमुख मांगे- 

1.शब्बीरपुर की घटना की न्यायिक एवं स्वतंत्र जाँच हो।

2. शब्बीरपुर की घटना में लिप्त दोषियों की गिरफ्तारी हो।

3. अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत दोषियों पे मुकदमा दर्ज हो।

4. पीड़ित परिवारों के जलाये गये घर सरकार के द्वारा बनाये जाय।

5. जातीय हिंसा से पीड़ित परिवारों को 50 लाख का मुआवजा दिया जाय।

6.जातीय हिंसा में मारे गये अनुसूचित जाति के परिवार के घर वालो को 50 लाख मुआवजा एवं परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाय।

7.फर्जी मुकदमो में फसाये गये अनुसूचित जातिं के लोगो को बिना शर्त रिहा किया जाय।

8. प्रदेश में महिलायों,अनुसूचित जाति/जनजाति पिछडो और अल्पसंख्यको को को सुरक्षा प्रदान की जाय।

अतः महोदय से निवेदन है कि उक्त मांगो का गंभीरता पूर्वक संज्ञान लिया जाय अन्यथा की स्थिति में संविधानिक दायरे में रहते हुए प्रदेश बंद का आवाहन किया जा सकता है।

Related posts

Share
Share