You are here

EVM में VVPAT लगने से मुरझाया कमल, दिल्ली की बवाना सीट उपचुनाव में ‘आप’ की बंपर जीत

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

देश भर में बीजेपी के नेता और समर्थक अभी भी मोदी लहर की बात कर रहे हैं। लेकिन दिल्ली आते-आते मोदी लहर की हवा निकल जाती है। पिछले दो विधानसभा चुनावों के दौरान दिल्ली में कांग्रेस और बीजेपी कुछ खास नहीं कर पाई है।

दोनो पार्टियों पर आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भारी पड़े हैं। हाल ही में दिल्ली की बवाना विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ था जिसमें आम आदमी पार्टी को बंपर जीत मिली है।

वहीं बवाना विधानसभा उपचुनाव में ईवीएम मशीन में वीवीपीएटी यानि पर्ची निकलने का सिस्टम रखा गया था। इस सीट पर आम आदमी पार्टी की जीत के बार एक बार फिर बिना पर्ची की ईवीएम मशीनों पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। गौरतलब है कि बसपा, सपा, समेत आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनावों के बाद ईवीएम गड़बड़ी का मुद्दा जोर शोर से उठाया था।

दिल्ली की बवाना विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव में बीजेपी का कमल मुरझा गया है। इस उप चुनाव में आम आदमी पार्टी को जीत मिल है। आम आदमी पार्टी के राम चंदर ने बीजेपी के वेद प्रकाश को 24 वोटों से हरा दिया है। कांग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र कुमार तीसरे स्थान पर रहे।

दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी के मुताबिक, आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार राम चंदर को 59,886 वोट मिले। वहीं दूसरे स्थान पर रहे बीजेपी के कैंडिडेट वेद प्रकाश को 35,834 वोट मिले जबकि कांग्रेस प्रत्याशी सुरेंद्र कुमार को 31919 मत मिले।

बवाना सीट से आप विधायक वेद प्रकाश ने मार्च में आम आदमी पार्टी से किनारा करके बीजेपी का दामन थाम लिया था। जिसके चलते बवाना सीट खाली हुई थी।

आपको बता दें 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को रिकॉर्ड तोड़ जीत मिली थी। आप ने दिल्ली 70 विधानसभा सीटों में से 67 सीटों पर सफलता पाई थी। जबकि 3 सीटें बीजेपी के खाते में गईं थी। अप्रैल में रजौरी गार्डन विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव हुआ था जिसमें बीजेपी को जीत मिली।

70 विधानसभा सीटों वाली दिल्ली में बवाना सीट जीतने के बाद आम आदमी पार्टी की कुल 66 सीटें है जबकि बीजेपी की विधानसभा में 4 सीटे हैं।

Related posts

Share
Share