You are here

राज्य अधिवेशन में अखिलेश का मोदी-योगी सरकार पर वार, बोले बीजेपी का मुद्दा विकास नहीं, नफरत है

लखनऊ/नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

लखनऊ के  रमाबाई अंबेडकर मैदान में शनिवार को समाजवादी पार्टी का 8 वां राज्य अधिवेशन आयोजित किया गया। इस अधिवेशन में अखिलेश यादव ने प्रदेश के कार्यकर्ताओं के बीच अपनी पकड़ साबित की। वहीं उनके करीबी एमएलसी नरेश उत्तम पटेल को दोबारा पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया गया।

अधिवेशन को संबोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने विकास के मुद्दे पर केन्द्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार पर जमकर शब्दबाण चलाए।

अखिलेश ने कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद से व्यापारी बर्बाद हो गए हैं। यूपी की योगी सरकार ने क़र्ज़माफी के नाम पर सूबे के किसानों के साथ क्रूर मजाक किया है।

उन्होंने कहा, कि क़र्ज़ माफी के नाम पर किसी किसान को 1 पैसे तो किसी को 20 पैसे का सर्टिफिकेट दिया गया है। उन्होंने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा, प्रदेश के किसानों को कोई सुविधाएं नहीं दी गईं। किसानों के हित में योगी सरकार फैसला लेने में नाकाम रही है।

अखिलेश यादव ने आगे कहा, हमारी सरकार बनती तो गरीब बुजुर्ग महिलाओं के लिये हमने पेंशन शुरू की थी, वो मिलती, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

नेताजी को याद किया- 

समाजवादी पार्टी अधिवेशन में पूर्व सीएम अखिलेश यादव को अपने पिता और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की कमी खली। जिसे वह इनकार नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि नेता जी हमारे पिता हैं और वो हमेशा पिता तो रहेंगे ही।

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर वार करते हुए कहा, हमारी सरकार में जो गांवों में बिजली के लिए जो स्टेशन बने थे उनको बंद कर दिया गया। 108 सेवा ठप्प कर दी गई। उन्होंने आगे कहा, आम लोगों की सुविधाओं के लिए 100 नंबर सेवा शुरू की थी जिसे योगी सरकार ने बेकार कर दिया। सड़कों के सुधार और निर्माण विकास के मामले में योगी सरकार बहानेबाजी कर रही है।

अधिवेशन को संबोधित करते हुए अखिलेश ने लोगों को नोटबंदी की याद दिलाई। उन्होंने कहा, याद करो वो आठ नवंबर की रात, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नोटबंदी से आतंकवाद और भ्रष्टाचार बंद हो जाएगा। लेकिन सही बात ये है न भ्रष्टाचार बंद हुआ और न ही आतंकवाद।

अखिलेश यादव ने कहा कि जिन लोगों ने कहा था कि हम रमजान में ज्यादा बिजली देते हैं दिवाली में कम, वो बीजेपी वाले बताएं कि उन्होंने क्या किया? अभी जो हाल है, उससे हमें नहीं लगता किसी कोई रोजगार या नौकरी मिलेगी।

बीजेपी का मुद्दा विकास नहीं है। हमें लगता है कि सरकार कोई फिर ऐसा नियम लेकर आएगी, जिससे लोग धोखा खा जाएंगे। उन्होंने आगे कहा, इनसे हमें सावधान रहकर एकजुट होकर प्रदेश बचाना होगा।

आजम खान बोले- 

आजम ने कहा कि यह मत समझो कि इतिहास बस वो है, जिसे सिर्फ आरएसएस ने लिख दिया. दुनिया में दो इतिहास होते हैं, एक वो इतिहास जो मेरी तरह रंगीन चश्मा लगाकर लिखा गया हो. दूसरा वो इतिहास जिसको सच्चाई की कलम से लिखा गया हो.

बीजेपी पर निशाना साधते हुए आजम खान ने कहा कि याद रखना आने वाला कल हम लोगों के लिये रोहिंग्या मुसलमानों जैसा हो सकता है. जब हम लोगों के आंसू पोंछने के लिए सरकार में आते हैं, तो बेगुनाह मारे जाते है और बस्तियां जलने लगती हैं. उन्होंने शायराना अंदाज में कहा कि जलता था जो घर मेरा…कुछ लोग ये कहते थे, क्या आग सुनहरी है…क्या आग सुहानी है.

सपा सम्मेलन में नरेश उत्तम पटेल दोबारा चुने गए प्रदेश अध्यक्ष, पहली बार 5 साल होगा कार्यकाल

JNU-DU के बाद हैदराबाद वि.वि. में छात्रों ने भगवा सोच को नकारा, जीत रोहित वेमुला को समर्पित

नोटबंदी एक संगठित लूट है, जिसकी वजह से देश की आर्थिक विकास दर गिरी है- पूर्व PM मनमोहन सिंह

भारतीय परम्पराओं में ही भ्रष्टाचार शामिल है, काम कराने की नियत से लोग भगवान को भी घूस देते हैं

जातिवादी स्वरूपानंद और वासुदेवानंद सरस्वती को शंकराचार्य मानने से हाईकोर्ट का इंतजार

सभ्य समाज का स्याह चेहरा, गाजियाबाद में सीवर सफाई कर रहे 3 मजदूरों की दम घुटने से दर्दनाक मौत

सुप्रीम कोर्ट सख्त : गाय के नाम पर हिंसा करने वालों पर करें सख्त कार्रवाई, पीड़ितों को दें मुआवजा

Related posts

Share
Share