You are here

भाजपाईयों ने तोड़ा पूर्व CM अखिलेश के नाम का शिलापट्ट, सपाई बोले BJP के विकास का यही तरीका है

नई दिल्ली/लखनऊ, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

श्रीराम चिकित्सालय परिसर में मरीजों के बेहतर इलाज के लिए बनाए गए नए वार्ड के उद्घाटन से पूर्व ही सियासी बवंडर खड़ा हो गया है. दऱअसल बवाल उस समय बढ़ गया जब नवनिर्मित अस्पताल के भवन की दीवार पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नाम का शिलापट्ट लगा था जिसे बीजेपी जिलाध्यक्ष की मौजूदगी में भाजपाईयों ने उखाड़कर फेक दिया।

दरअसल अयोध्या में श्रीराम चिकित्सालय परिसर में बनाए गए नए बार्ड का काम अखिलेश सरकार के समय में शुरू हुआ था। जिस पर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और पूर्व विधायक तेजनारायण पांडे के नाम का शिलापट्ट लगवाया गया था. अब इसी भवन का उद्घाटन करने 18 अक्टूबर को यूपी के सीएम आदित्यनाथ आ रहे हैं।

बुधवार को जिले के भाजपाईयो ने आरोप लगाया कि पहले नवनिर्मित भवन की दीवार पर कोई शिलापट्ट नहीं था, लेकिन अब साजिश के तहत कुछ अराजक तत्वों ने अस्पताल की दीवार पर पूर्व की सरकार का शिलापट्ट लगा दिया है। जबकि आगामी 18 अक्टूबर को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इस नवनिर्मित भवन का उद्घाटन होना है

आरोप लगाते हुए सुबह ही भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष अवधेश पांडेय बादल सहित बीजेपी के अन्य कार्यकर्ता और नेता अस्पताल परिसर पहुंच गए और आरोप लगाते हुए मौके पर पुलिस को बुला लिया गया। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में ही जिलाध्यक्ष के कहने पर शिलापट्ट को तोड़ कर हटा दिया गया .

धरने पर बैठे सपाई- 

वही इस मामले की खबर जब सपा के नेताओं को हुई तो सपा के कार्यवाहक जिलाध्यक्ष गंगा सिंह यादव के साथ तमाम समाजवादी पार्टी  नेता अस्पताल परिसर पहुंच गए और शिलापट्ट तोड़े जाने को लेकर हंगामा करते हुए धरने पर बैठ गए।

अस्पताल परिसर में सपा- भाजपा नेता सामने -सामने आ गए दौनों ओर से आरोप-प्रत्यारोप लगने शुरू हो गए। माहौल गर्माता देख बड़ी संख्या में पुलिस बल की अस्पताल परिसर में तैनात किया गया।

फिलहाल समाजवादी पार्टी के नेताओं ने जिलाधिकारी फैजाबाद को प्रेषित ज्ञापन प्रशासन के अधिकारियों को सौंपा है जिसमें शिलापट्ट तोड़े जाने की घटना में दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने और सरकारी खर्च पर दोबारा लगाए जाने की मांग की गई है।

फिलहाल पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर घटना की जांच शुरू कर दी है। इस प्रकरण को लेकर उद्घाटन से पहले ही अयोध्या में सियासी माहौल बेहद गर्मा गया है। अप्रिय स्थिति से बचने के लिए पुलिस बल अस्पताल परिसर में तैनात कर दिया गया है।

यशवंत सिन्हा का शाह पर वार, पहली बार निजी आदमी का केस देश का अतिरिक्त महान्यायवादी लड़ रहा है

29 को दिल्ली में होगा राष्ट्रनिर्माता सरदार पटेल जयंती समारोह, देश भर से जुटेंगे बुद्धिजीवी

शिवराज का रामराज: छतरपुर में दलित छात्राओं से साफ कराते हैं टॉयलेट, MIDDAY MEAL में फेंककर देते हैं रोटी

बिहार: CM नीतीश की सामाजिक मुहिम का असर, जेल पहुंच रहे हैं नाबालिग लड़कियों से शादी कर रहे दूल्हे

BBC के रोजगार वाले कार्टून से चिढ़ गए BJP आईटी सेल के हेड, सोशल मीडिया पर बना मजाक

देशभक्त’ PM के राज में बोरियों और गत्तों में भरे गए 7 शहीद जवानों के शव, सोशल मीडिया पर उठे सवाल

Related posts

Share
Share