You are here

पटेल-दलित आंदोलन का दिखने लगा असर, गुजरात चुनाव से पहले BJP नेता ने थामा कांग्रेस का हाथ

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

गुजरात चुनाव से पहले पाटीदार और दलित आंदोलन की चिंगारी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को परेशान किए हुए है। वर्तमान माहौल में बीजेपी की जीत इतनी आसान भी नजर नहीं आ रही। ऐसे में बीजेपी के एक विधायक ने हवा का रुख भांपते हुए कांग्रेस का दामन थाम लिया है।

कांग्रेस विधायकों की खरीद फरोख्त करने वाली बीजेपी के एक नेता और पूर्व विधायक ने अपनी ही पार्टी से किनारा कर लिया है। गुजरात में चुनावी माहौल के दौरान बीजेपी नेता का पार्टी छोड़ देना बीजेपी नेताओं के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है।

बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह की लिए ये बड़ी चुनौती की तरह है। वड़ोदरा जिले की सावली विधानसभा से पूर्व विधायक रहे उपेंद्र सिंह गोहिल ने बीजेपी छोड़कर, कांग्रेस का दामन थाम लिया।

भारतीय जनता पार्टी के नेता उपेंद्र सिंह गोहिल ने गुजरात कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी की उपस्थिति में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। उपेंद्र सिंह गोहिल दिलीप पारिख सरकार में राज्य मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने 2012 का चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर लड़ा लेकिन हार गए थे।

लोगों का कहना है कि उपेंद्र सिंह गोहिल बीजेपी के टिकट पर गुजरात विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे। लेकिन उनकी सुनी नहीं गई। जिसके बाद उन्होंने बीजेपी से किनारा कर लिया।

नोएडा से अगवा कर लड़की से चलती कार में सामूहिक बलात्कार, दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास फेंका

भगवाराज: गरबा में आने वालों को गौमूत्र से शुद्धिकरण और लाल तिलक लगाए बिना नहीं मिली एंट्री

JNU-DU के बाद हैदराबाद वि.वि. में छात्रों ने भगवा सोच को नकारा, जीत रोहित वेमुला को समर्पित

भारतीय परम्पराओं में ही भ्रष्टाचार शामिल है, काम कराने की नियत से लोग भगवान को भी घूस देते हैं

जातिवादी स्वरूपानंद और वासुदेवानंद सरस्वती को शंकराचार्य मानने से हाईकोर्ट का इंतजार

सभ्य समाज का स्याह चेहरा, गाजियाबाद में सीवर सफाई कर रहे 3 मजदूरों की दम घुटने से दर्दनाक मौत

सुप्रीम कोर्ट सख्त : गाय के नाम पर हिंसा करने वालों पर करें सख्त कार्रवाई, पीड़ितों को दें मुआवजा

Related posts

Share
Share