You are here

गुजरात के व्यापारियों का अभियान ‘कमल का फूल, हमारी भूल’ पत्रकार ने शेयर किया तो फेसबुक ने किया ब्लॉक

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

बीजेपी सरकार की अगर आप प्रशंसा करते हैं तो आप उनके सबसे करीबी हैं। सरकार चाहे गलत करे या सही उस पर उंगली उठाना जुर्म है। सरकार का डंडा इन दिनों सोशल साइट्स पर भी खूब चल रहा है। जिसके चलते फेसबुक के इंडिया अधिकारी भी सजग हो गए हैं। फेसबुक इंडिया को बीजेपी सरकार का इतना डर सता रहा है कि सरकार के खिलाफ कुछ लिख दिया तो फेसबुक उसे ब्लॉक कर देती है।

एक ऐसा ही वाकया गुजरात के सूरत में हुआ है जहां पर एक फ्रीलांस पत्रकार को सोशल साइट फेसबुक ने 30 दिनों के लिए ब्लॉक कर दिया। पत्रकार मोहम्मद अनस का बस कसूर इतना था कि उन्होंने व्यापारियों द्वारा दी जा रहीं रसीद को फेसबुक पेज पर शेयर किया था।

दरअसल गुजरात के व्यापारी अपने कैश मेमो पर प्रिंट करवा कर जनता से बता रहे हैं कि बीजेपी को वोट देकर गलती हो गई। कैश मेमो पर नीचे लिखा है कमल का फूल हमारी भूल।

एक ऐसा ही कैश मेमो मोहम्मद अनस ने अपनी फेसबुक पोस्ट में शेयर किया। जिसके बाद फेसबुक से उन्हें मैसेज आया “ऐसा प्रतीत होता है कि आपने कुछ पोस्ट किया है जो हमारे कम्युनिटी स्टैंडर्ड को फॉलो नहीं करता है ।” जिसके बाद में फेसबुक ने उन्हें 30 दिनों के लिए ब्लॉक कर दिया।

मोहम्मद अनस ने भाजपा सरकार के खिलाफ व्यापारियों के अभियान को फेसबुक पर साझा किया था। उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा, व्यापारी अपने कैश मेमो पर प्रिंट करवा कर जनता से बता रहे हैं कि बीजेपी को वोट देकर गलती हो गई। कैश मेमो पर नीचे लिखा है कमल का फूल हमारी भूल।

इस घटना पर पत्रकार मोहम्मद अनस कहते हैं, मैंने अपनी तरफ से कुछ भी नहीं कहा है। मैंने सिर्फ एक फोटो शेयर की है। जिसमें कुछ भी विवादास्पद नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि चौथी बार उनका अकाउंट फेसबुक ने ब्लॉक किया है।

मोहम्मद अनस ने आगे कहा, मैंने किसी के खिलाफ गाली गलौज वाली भाषा का इस्तेमाल नहीं किया है और न ही किसने ने मेरे खिलाफ। लेकिन जो सरकार की आलोचना कर रहे हैं उन्हें हटाया जा रहा है। यह फेसबुक का फासीवाद है।

4 लाख करोड़ के कर्ज में डूबी गुजरात की BJP सरकार, युवाओं को सस्ता लोन का वादा छलावा- हार्दिक पटेल

BJP के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा बोले, भारत को गरीब बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं अरुण जेटली

चीफ जस्टिस बनने से रोकने के लिए जयंत पटेल का कोलेजियम ने किया ट्रांसफर, तो थमा दिया इस्तीफा

UP में असुरक्षित बेटियां: अब UGC ने भी माना छेड़छाड़ की घटनाओं में UP के विश्वविद्यालय अव्वल

अच्छे दिनः यूपी में प्राइमरी अध्यापक बनने की राह और भी कठिन, TET के बाद भी लिखित परीक्षा अनिवार्य

4 लाख करोड़ के कर्ज में डूबी गुजरात की BJP सरकार, युवाओं को सस्ता लोन का वादा छलावा- हार्दिक पटेल

बेटे जयंत सिन्हा ने निभाया मंत्री पद का धर्म, यशवंत सिन्हा को दिया जवाब, चिदंबरम ने लताड़ा

Related posts

Share
Share