You are here

फिल्म में GST-नोटबंदी पर सवाल उठाने से हो गईं BJP की भावनाएं आहत, अभिनेता पर दर्ज कराया केस

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

बंदेमातरम, राष्ट्रगान, गाय, गंगा, गीता, राम, धर्म-अधर्म के फेर में जनता को उलझाकर जरूरी मुद्दों से ध्यान भटकाने के आरोप भारतीय जनता पार्टी पर लगते रहे हैं। अब मोदी-शाह की बीजेपी में मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाना भी हिन्दू भावनाओं को आहत करने वाला और देश विरोधी हो गया है।

पत्रकारों, लेखकों पर टेढ़ी निगाह रखने वाले बीजेपी नेताओं की नजर अब फिल्मों पर भी पड़ गई है। फिल्म में मोदी सरकार की नोटबंदी और जीएसटी योजना पर सवाल उठाने पर फिल्म अभिनेता विजय पर हिन्दू भावनाएं आहत करने का केस दर्ज करवा दिया गया है।

फिल्म की रिलीज़ के बाद से ही तमिल सुपरस्टार विजय की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। पहले इस फिल्म पर जीएसटी को गलत तरीके से पेश करने का आरोप लगा और अब खबर आ रही है कि फिल्म के मुख्य कलाकार विजय पर इस फिल्म में हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में पुलिस में शिकायत दर्ज हुई है। बताया जा रहा है कि मदुरै के एक एडवोकेट ने ये शिकायत दर्ज कराई है।

हैरत की बात देखिए मोदीराज में बीजेपी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाने से ही हिन्दुओं की भावना आहत हो जा रही है। आपको बता दें कि फिल्म मर्सल तब विवादों में घिर गई जब तमिलनाडु के बीजेपी नेता एच राजा ने ये कहते हुए हंगामा खड़ा कर दिया कि फिल्म में जीएसटी को इस तरह से दिखाया गया है जैसे सरकार का ये कदम बहुत बुरा है।

ये मामला तब साम्प्रदायिक रंग में तब्दील हो गया जब बीजेपी नेता एच राजा ने ये कह दिया कि विजय इसाई हैं इसलिए उन्होंने फिल्म में जीएसटी को गलत तरीके से पेश किया है।

बीजेपी की तरफ से मांग की गई कि इस फिल्म से तुरंत ही जीएसटी को लेकर दिखाए गए विवादित सीन हटाए जाएं। हालांकि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत पी चिदंबरम और एम के स्टालिन तक ने बीजेपी के विरोध को बेबुनियादी करार दिया। तमिल सुपरस्टार रजनीकांत से लेकर कमल हासन तक ने इस मुद्दे पर फिल्म का सपोर्ट किया है।

अब तक के सबसे ‘भाषणवीर’ PM साबित हुए नरेन्द्र मोदी, 3 साल में दिए 30 मिनट से ज्यादा के 775 भाषण

गुजरात में बदलते मूड के संकेत: अब महिला कार्यकर्ता ने रोड शो के दौरान PM मोदी पर फेंकी चूड़ियां

देशभक्ति साबित करने के लिए सिनेमाघरों में राष्ट्रगान पर खड़ा होना ज़रूरी नहीं- सुप्रीम कोर्ट

राजस्थान: अपनी ही सरकार के खिलाफ BJP विधायक का बिगुल, बोले विधेयक लोकतंत्र का गला घोंटने वाला

राजस्थान के रामराज्य में नेताओं-अफसरों को FIR से बचाने की अनोखी तरकीब निकाली बीजेपी सरकार ने

 

Related posts

Share
Share