You are here

भगवाराज: गौभक्ति में लीन, धार्मिक CM के गोरखपुर में अगस्त माह में ही 296 बच्चों की मौत

नई दिल्ली/गोरखपुर, नेशनल जनमत ब्यूरो।

गाय, गंगा, योगा और मंदिर की प्राथमिकताओं वाले सीएम आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र में लगातार बच्चों का मरना कोई आश्चर्य की बात नहीं। दरअसल बीआरडी मेडीकल कॉलेज में बच्चों के मारे जाने के बाद जिस तरह से सरकार की असंवेदनशीलता सामने आई उससे यह स्पष्ट है कि भगवा सरकार और धार्मिक मुख्यमंत्री के लिए बच्चों की जाने से ज्यादा कीमती गौ सेवा का दिखावा है।

गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज (BRD) में अगस्त में हुई बच्चों के मौत के आंकड़े जारी किए गए हैं। आंकड़ों के अनुसार सिर्फ अगस्त महीने में ही बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 296 बच्चों की मौत हुई है। वहीं जनवरी से लेकर अब तक यहां पर 1256 बच्चों की मौत हो चुकी है।

बीजेपी की सरकार बनने से पहले सीएम आदित्यनाथ संसद से लेकर सड़क तक इंसेफलाइटिस से मौत के लिए जूझते दिखते थे, आंसू बहाते थे, अखिलेश सरकार से जवाब मांगते थे। अब जब आदित्यनाथ सीएम हो गए हैं तो उनकी संवेदनशीलता मानो कही गुम सी हो गई है।

अपर स्वास्थ्य निदेशक कार्यालय से प्राप्त आंकड़े के मुताबिक, इस वर्ष जनवरी में एनआईसीयू तथा जनरल चिल्ड्रेन वार्ड में 143 और इंसेफलाइटिस वार्ड में नौ बच्चों की मृत्यु हुई।

वहीं फरवरी में 117 तथा पांच, मार्च में 141 तथा 18, अप्रैल में 114 तथा नौ, मई में 127 तथा 12, जून में 125 तथा 12, जुलाई में 95 एवं 33 और अगस्त माह में 28 तारीख तक एनआईसीयू में 213 और इंसेफलाइटिस वार्ड में आज तक 83 बच्चों की मौत हुई है।

बीआरडी के प्राचार्य डॉक्टर पीके सिंह ने बताया, इस वर्ष अब तक इंसेफलाइटिस, एनआईसीयू तथा सामान्य चिल्ड्रेन वार्ड में कुल 1256 बच्चों की मौत हो चुकी है। इस माह 28 अगस्त तक एनआईसीयू में 213 और इंसेफलाइटिस वार्ड में आज तक 83 समेत कुल 296 बच्चे दम तोड़ चुके हैं।

गोरखपुर के अपर निदेशक डॉक्टर पुष्कर आनंद ने बताया कि बीते 24 घंटे में इंसेफलाइटिस से पीड़ित 17 बच्चे मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए गए जिनमें इलाज के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई।

इसे भी पढ़ें-

गाय से ज्यादा इंसान की जिंदगी की परवाह करते CM आदित्यनाथ, तो 63 लाख में बच जाती 30 बच्चों की जान

सीएम योगी के फरमान के बाद अब यूपी रोडवेज की बसों का भी होगा भगवाकरण

नोटबंदी की साजिश सफल: UP चुनाव में BJP के 32 हेलीकॉप्टर्स के मुकाबले, SP+BSP+कांग्रेस के 5 हेलीकॉप्टर थे

झारखंड का रामराज: अस्पताल में 60 दिनों में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत, मानवाधिकार आयोग ने भेजा नोटिस

Related posts

Share
Share