You are here

आचार संहिता के बाद भी गुजरात चुनाव से ठीक पहले GST में छूट, चुनाव आयोग की खामोशी पर उठे सवाल

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

गुजरात चुनाव मे पाटीदार, दलित, मुस्लिम और व्यापारी वर्ग के गुस्से को भांपते हुए मोदी सरकार ने आनन-फानन में गुवाहाटी में जीएसटी परिषद की बैठक बुलाई और टैक्स में छूट देने की घोषणा कर दी।

मोदी सरकार का टैक्स कम करने का फैसला स्वागतायोग्य तो है लेकिन गुजरात चुनाव की आचार संहिता लगी होने से इस फैसले की नियत और समय पर सवाल उठ रहे हैं।

कांग्रेस का आरोप है कि गुजरात में व्यापारियों को लुभाने के लिए बीजेपी सरकार ने आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए इस तरह की लोक लुभावन घोषणा की है। इस पर चुनाव आयोग को संज्ञान लेना चाहिए था लेकिन अफसोस कि चुनाव आयोग खामोश है।

कई वस्तुओं के कम किए दाम- 

गुवाहाटी में हुई GST काउंसिल की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए. शुक्रवार को हुई इस बैठक में फैसला हुआ है कि अब 28% स्लैब में कुल 50 ही प्रोडक्ट रहेंगे. पहले 28 फीसदी स्लैब में कुल 227 वस्तुएं थीं.

जीएसटी काउंसिल ने शेविंग क्रीम, टूथपेस्ट, शैंपू, चॉकलेट, मार्बल आदि को 28 फीसदी टैक्स की स्लैब से हटा दिया है. अब सिर्फ 50 लग्जरी प्रोडक्ट ही 28 फीसदी की श्रेणी में रहेंगे.

गौरतलब है कि ​परिषद की दो दिवसीय बैठक गुरुवार को शुरू हुई थी. परिषद की यह 23वीं बैठक है. इसमें असम के वित्त मंत्री हेमंत विश्व शर्मा की अध्यक्षता वाले मंत्री समूह की एकमुश्त योजना के लिए कर दरों में कटौती के सुझावों पर भी विचार किया गया.

आपको बता दें कि जेटली की अध्यक्षता वाली इस परिषद में राज्यों के वित्त मंत्री शामिल हैं. देश में जुलाई 2017 से कार्यान्वित जीएसटी के तहत 1200 से अधिक वस्तुओं और सेवाओं को 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत कर की श्रेणी में लाया गया है.

राहुल बोले गब्बर सिंह टैक्स नहीं थोपने देंगे- 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लेकर सरकार पर हमले जारी रखते हुए कहा कि उनकी पार्टी ‘गब्बर सिंह टैक्स’ थोपने नहीं देगी. वे लघु और मध्यम उद्योगों की कमर नहीं तोड़ सकते, अनौपचारिक सेक्टरों को तबाह नहीं कर सकते और लाखों नौकरियों को नष्ट नहीं कर सकते.

उन्होंने देश को उचित सामान्य कर देने की सलाह सरकार को दी. उन्होंने कहा कि सरकार को देश का वक्त केवल बातों में बर्बाद नहीं करना चाहिए. राहुल ने ट्वीट किया, अपनी अक्षमता को स्वीकार कीजिए, आक्रामकता त्यागिए और भारत की जनता की बात को सुनिए.

समय पर उठाया सवाल- 

कांग्रेस प्रवक्ता सिंघवी ने जीएसटी परिषद की बैठक के समय पर प्रश्न उठाया और कहा कि यह बैठक गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले की गई है. गुजरात में नौ और 14 दिसंबर को दो चरणों में चुनाव होने हैं.

सिंघवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा केंद्र ने पहले सोचे बिना जीएसटी लागू कर दिया.

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री और उनकी सरकार पहले गोली दागती है, फिर वे लक्ष्य साधते हैं और उसके बाद सोचते हैं. फिर चाहे वह नोटबंदी का मामला हो या जीएसटी का, और ठीक यही जीएसटी के साथ हो रहा है.

BJP के मंत्री बोले कारोबारियों को छोड़ो, बड़े-बड़े CA भी नहीं समझ पा रहे GST का खेल

नोटबंदी-GST इंपैक्ट: कर्मचारियों को गाड़ी-फ्लैट देने वाले गुजराती कारोबारी इस बार बोनस भी नहीं दे पाए

गुजरात चुनाव में हार्दिक इफैक्ट : पटेलों के गढ़ सौराष्ट्र में BJP को 23 फीसदी वोटों का नुकसान

गुजरात में नाराज पाटीदारों ने किया BJP का बहिष्कार, गांवों में BJP नेताओं के घुसने पर प्रतिबंध

नोटबंदी के आलोचक रहे, RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन को राज्यसभा भेजेगी केजरीवाल की ‘आप’ !

नोटबंदी के 1 साल: मोदी सरकार नोटबंदी के दौरान मारे गए लोगों की मौत का जश्न मना रही है- विपक्ष

 

 

Related posts

Share
Share