गुजरात: बजरंग दल की पुलिस को धमकी, यदि त्रिशूल यात्रा रोकी तो बवाल के लिए तैयार रहें

गांधीनगर/नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गांधीनगर प्रशासन को धमकी दी है कि यदि पुलिस प्रशासन ने त्रिसूल यात्रा को रोकने की कोशिश की तो इसकी पूरी जिम्मेदीरी पुलिस प्रशासन की ही होगी।

आगामी 25 जून को होगी त्रिशूल यात्रा

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के करीब 4000 कार्यकर्ता गांधीनगर, मानसा, कलोल और देहग्राम में रथ यात्रा के दौरान त्रिशूल का प्रदर्शन करेंगे जो गांधीनगर पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती होगी। ज्ञात हो कि यह यात्रा 25 जून को होगी।

इसे भी पढ़ें...बीजेपी राज में संविधान पर हमले तेज, हिंदू संस्था ने कहा हथियारबंद होकर सेकुलरों को खत्म कर दो

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गांधीनगर जिला के बजरंग दल कॉर्डिनेटर अमित उपाध्याय ने कहा कि शस्त्र नियम के तहत त्रिशूल शस्त्र नहीं है। इसलिए हम हिंदुत्व और अपने नेतृत्व की शक्ति को दिखाने के लिए रथ यात्रा के दौरान त्रिशूल का प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस इसे रोकती है और कुछ गलत होता है तो इसके लिए वे जिम्मेदार होंगे। उपाध्याय ने कहा कि पुलिस ताजिया जुलूस के दौरान मुस्लिम समाज को तलवार, चैन, भाला आदि के प्रदर्शन पर रोक नहीं लगाती है। उन्होंने कहा कि पुलिस त्रिशूल को लेकर हमलोगों से भेदभाव करती रही है जबकि नियम के मुताबिक त्रिशूल शस्त्र है ही नहीं।

पुलिस ने कहा कोई कानून तोड़ेगा तो कार्रवाई होगी- 

उधर गांधीनगर के एसपी वीरेंद्र सिंह यादव ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है, आगर कोई गैरकानूनी गतिविधियों में पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें...आंदोलन के बाद कतार में म.प्र. का किसान, प्याज बेचने के लिए लगा 3से 7 किमी लम्बी लाइनें

रिपोर्ट के मुताबिक 12 जून को दक्षिणपंथी संगठन ने गांधीनगर में त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम में 75 युवाओं को त्रिशूल बांटा था। उपाध्याय ने कहा कि त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम गोरक्षा और लव जिहाद को रोकने उद्देश्य से आयोजित किया जाता है। जो दीक्षा कार्यक्रम के लिए चयनित किए जाते हैं वे शिक्षण संस्थानों के पास एंटी रोमियो दल का हिस्सा होते हैं।

1 Comment

  • kabir shaikh , 18 June, 2017 @ 9:50 am

    kya koi dharm hinsa ka rasta batata hai agar ha to us ka rupantar adharm mai ho cuka hai aur uski jinda misal hidutva hai ke jo janwar aurram ke nam par manushya vaddh ki ejajat deta hai aurbmai jo abdul kalam ke kadmo pe calu to accha saiancedan ban jaunga aur jo ram ke kadmo par chla to ek din saryu mai pran tyag na padenga to aap hi bataye ke kiska aadarsh lekar chale bhai ram aap khud ho so aapni ramayan ko samzo ravan bhi aap hi hai to apni niti ko samzo aur jo aap samzonge to yakinan aapko koi bhogi modi ya koi dul galat ramayan aur gita nahi pdha sakta bhai makhab nahi sikhata aapas mai bair rakhna aur sabse pahle hum bhartiya hai aur hamara bridvakya hai sarv dharma sambhav aur jo ese nahi manta wo bhartiya nahi ho sakta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Share