You are here

गुजरात: BJP को जिन 3 युवा तुर्कों का है खौफ, राहुल गांधी ने तीनों की तरफ बढ़ाया दोस्ती का हाथ

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी को कांग्रेस की ताकत से ज्यादा तीन युवा तुर्कों के संघर्ष का खौफ है। ये तीनों युवा फिलहाल किसी पार्टी में शामिल नहीं हैं लेकिन तीनों के पीछे अलग-अलग तबके से आना वाला जबरदस्त जनसमर्थन है। गुजरात में बीजेपी की हालत खराब करने वाली इस तिकड़ी की तरफ अब कांग्रेस ने पास फेका है।

कांग्रेस ने गुजरात चुनाव को लेकर बीजेपी की घेरेबंदी के लिए कमर कस ली है। राहुल गांधी के लगातार गुजरात दौरों के बाद कांग्रेस ने ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर को पार्टी में शामिल कराने के लिए तैयार कर लिया है। अब पार्टी के निशाने पर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, दलित समाज के युवा नेता जिग्नेश मेवाणी हैं।

ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर विधान सभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं। अल्पेश ठाकोर ने शनिवार (21 अक्टूबर) को गुजरात कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात के बाद ये घोषणा की। 23 अक्टूबर को अहमदाबाद में एक रैली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में अल्पेश ठाकुर कांग्रेस में शामिल होंगे।

अल्पेश ठाकोर ओबीसी एकता मंच के नेता है। सूत्रों के अनुसार अल्पेश बनासकांठा जिले के वाव सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। मालूम रहे कि गुजरात विधानसभा चुनाव में ओबीसी वोटर्स का बड़ा रोल है। राज्य में ओबीसी मतदाताओं की संख्या 54 फीसदी है, लिहाजा हर पार्टी इस समुदाय को अपने पक्ष में करना चाहती है। अल्पेश ठाकोर ने दावा किया है कि 23 अक्टूबर की रैली में 5 लाख लोग जुटेंगे।

हार्दिक-जिग्नेश की तरफ दोस्ती का हाथ- 

कांग्रेस ने बीजेपी को हराने के लिए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, ठाकुर समुदाय के नेता अल्पेश ठाकोर और दलित समाज के नेता जिग्नेश मेवाणी को पार्टी के साथ हाथ मिलाने के लिए आमंत्रित किया था। इन नेताओं के अलावा कांग्रेस ने शरद पवार के नेतृत्व वाली राकांपा और राज्य से जदयू के एकमात्र विधायक छोटू भाई वसावा को साथ लाने के लिए चुनावपूर्व गठबंधन का संकेत दिया है।

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी ने भरोसा जताया कि इन नेताओं के समर्थन और आशीर्वाद से पार्टी कुल 182 सीटों में 125 से ज्यादा सीटें आसानी से जीत जाएगी। सोलंकी ने संवाददाताओं से कहा, हालांकि भाजपा चुनाव जीतने के लिए पूरी कोशिश कर रही है पर गांधीनगर के लिए कांग्रेस के विजय मार्च को रोकने में उसे सफलता नहीं मिलेगी।

उन्होंने कहा, जिस कारण के लिए हार्दिक पटेल लड़ रहे हैं हम उसका सम्मान और अनुमोदन करते हैं। मैं हार्दिक से चुनावों के दौरान कांग्रेस का समर्थन करने की अपील करता हूं। अगर वह भविष्य में चुनाव लड़ना चाहें तो हम उन्हें टिकट देने के लिए भी तैयार हैं।

श्री सोलंकी ने कहा, इसी तरह हमने जिग्नेश मेवानी को भी कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने के लिए आमंत्रित किया है। इसके अलावा जेडीयू शरद गुट के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष व विधायक छोटू भाई वसावा को भी समर्थन के लिए आमंत्रित किया है। छोटू भाई वसावा ने इससे पहले भी राज्य सभा चुनावों में हमारी मदद की थी।

मौर्य काल से लेकर ब्राह्मणराज की स्थापना तक, शत्रु की हत्या के जश्न में दीप जलाने का रिवाज है ?

राजस्थान के रामराज्य में नेताओं-अफसरों को FIR से बचाने की अनोखी तरकीब निकाली बीजेपी सरकार ने

गुजरात में BJP का प्लान B: भूख, बेरोजगारी, मंहगाई के जवाब देने के बदले पूरी राजनीति को धर्म से रंग दो

AU छात्र संघ: समाजवादी छात्रसभा की जीत सामाजिक न्याय की जीत है, 1 यादव, 1 पटेल, 1 दलित, 1 ठाकु

पिछड़ों, दलितों, आदिवासियों, मुस्लिमो के हित में बीजेपी-कांग्रेस दोनों का खात्मा जरूरी है !

शब्दों से भेदभाव मिटाने की निकली केरल सरकार, ‘दलित-हरिजन’ शब्दों के इस्तेमाल पर रोक

 

Related posts

Share
Share