You are here

गुजरात: EVM के मोबाइल्स से कनेक्ट होने की शिकायतों के बीच, 89 सीटों पर हुआ मतदान, 68% वोटिंग

नई दिल्ली/अहमदाबाद, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

ईवीएम छेड़छाड़ की आशंका से घिरे गुजरात चुनाव के पहले चरण की 89 सीटों पर हुए मतदान में ईवीएम गड़बड़ी की दर्जनों शिकायतें सुनने को मिली। शाम होते-हाेते कांग्रेस-बीजेपी के आरोप-प्रत्यारोप के बीच कुल 68 फीसदी मतदान हुआ।

इस बार ईवीएम को लेकर एक नई तरह की शिकायत चुनाव आयोग के सामने आई। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पोरबंदर जिले के ठक्कर प्लॉट बूथ पर ईवीएम ब्लूटूथ से कनेक्ट हो रही हैं। कांग्रेस के पोलिंग एजेंट ने इसकी शिकायत की, इसके बाद चुनाव आयोग के इंजीनियर्स ने पहुंचकर मामले की तहकीकात की।

छानबीन करने वाले आयोग के इंजीनियर एस आनंद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अगर कोई व्यक्ति अपने मोबाइल डिवाइस का नाम इको रख ले और उसे ऑन कर दे, उसी वक्त अगर आपके मोबाइल में भी ब्लूटूथ ऑन होगा तो वो सीधे कनेक्ट नहीं होगा लेकिन आपके मोबाइल में शो करेगा कि इको आपकी पहुंच में है, कनेक्ट हो सकता है।

इस मामले में भी ऐसा ही कुछ हुआ होगा। बाकि सीधे तौर पर ईवीएम में कोई गड़बड़ी नजर नहीं आ रही। आयोग के सूत्रों के मुताबिक पहले चरण के मतदान में लगे कुल 24 हजार 689 ईवीएम मशीनों में से 1.90 फीसदी मशीनें ही रिप्लेस की गई हैं।

कांग्रेस नेता ने सौंपा चुनाव आयोग को स्क्रीन शॉट- 

गुजरात कांग्रेस के बड़े नेता अर्जुन मोढवाडिया ने दावा है किया था कि ईवीएम को ब्लूटूथ से कनेक्ट किया जा सकता है। मोढवाडिया ने इस बावत एक स्क्रीनशॉट भी जारी किया। इस स्क्रीनशॉट में लिखा था कि आपका फोन एक नजदीकी डिवाइस के पास है।

मोढवाडिया ने इस स्क्रीनशॉट को चुनाव आयोग को भेजा था। इस मामले में चुनाव आयोग ने आनन-फानन में जांच के आदेश दिए।मोढवाडिया ने कहा था कि हमने तीन EVM को चेक किया, ये तीनों EVM ब्लूटूथ के जरिये कनेक्ट हो सकते हैं।

जब आप अपने मोबाइल फोन का ब्लूटूथ ऑन करते हैं तो एक डिवाइस ECO दिखता है। ये बेहद गंभीर मामला है, मैंने इसका स्क्रीनशॉट लिया है और चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज की है। मोढवाडिया ने इस बावत गंभीर चिंता जताई है

कुछ खास बातें- 

वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता अर्जुन मोधवाडिया ने शिकायत की कि जब वह पोरबंदर जिले के मोधवाड़ा गांव में वोट डाल रहे थे तो मीडियाकर्मी उन्हें कवर कर रहे थे लेकिन एसएसबी जवानों ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया।

मोधवाडिया ने सवाल उठाया कि जब वोट डाल रहे अन्य नेताओं को कवर कर रहे मीडियाकर्मियों को रोका नहीं जा रहा तो उन्हें कवर कर रहे मीडियाकर्मियों को क्यों रोका गया?

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) की पूर्व संयोजक रेशमा पटेल जब जूनागढ़ जिले के झनझारड़ा गांव में वोट डालने गईं तो पीएएएस के कई समर्थकों ने उनका विरोध किया।

– गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) बी.बी.स्वेन ने कहा, “हम पोरबंदर में ईवीएम के ब्लूटूथ और वाईफाई से जुड़े होने की शिकायतों की जांच कर रहे हैं।” कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोधवाडिया ने शिकायत की कि तीन ईवीएम ब्लूटूथ उपकरणों से जुड़ी हुई हैं और उन्होंने इस संदर्भ में स्क्रीनशॉट के साथ ईसीआई को शिकायत भेज दी है।

दलित क्षेत्रों की वोटिंग मशीन खराब करने के आरोप- 

– कच्छ के मांडवी निर्वाचन क्षेत्र में ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें मिली। मांडवी से चुनाव लड़ रहे शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, “आखिर क्यों विशेष रूप से दलित समुदायों वाले क्षेत्रों के मतदान केंद्रों की ईवीएम में खराबी आ रही है और यदि ईवीएम मशीनें काम नहीं कर रही हैं तो उन्हें तुरंत बदला जाए।

गोहिल ने कहा, “मुझे दलित मतदाताओं के खिलाफ भाजपा के षडयंत्र का संदेह है लेकिन हम आश्वत हैं कि इसके बावजूद कांग्रेस इस बार सभी छह सीटों पर जीत दर्ज करेगी।”

गुजरात: इस फायरब्रांड पटेल नेता पर दांव लगा सकते हैं राहुल गांधी, मोदी लहर में भी बने थे कांग्रेस से विधायक

धार्मिक कट्टरता के खिलाफ सड़क पर उतरने का वक़्त है, जो अब भी घरों में दुबके हैं, वे सबसे बड़े मुज़रिम हैं

दलित ने मुसलमां को जिंदा जलाया… कट्टरता के रहबरों को खाद-पानी दिलाया… अनूप पटेल की कविता

मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों से नाराज, BJP के मराठा सांसद नाना पटोले ने थमाया इस्तीफा

 RTI में चौंकाने वाला खुलासा, भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव भारत सरकार की नजर में शहीद नहीं ‘आतंकी’ हैं

 

Related posts

Share
Share