You are here

गुजरात के रामराज में दलितों को मूंछ रखने का अधिकार नहीं, अब ब्लेड से हमला, दलितों ने बनाई WHATSAPP DP

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो ।

गुजरात के गांधीनगर गांव में एक दलित किशोर पर ब्लेड से हमला कर दिया है। इसी गांव में इससे पहले दरबार जाति के सवर्णों ने मूँछ रखने को लेकर दो दलितों की पिटाई कर दी है। पिछले एक हफ्ते में इस तरह का ये तीसरा हमला है।

जानकारी के अनुसार तीन अक्टूबर शाम कुछ अज्ञात लोगों ने दलितों पर मूंछ रखने तो लेकर हमला कर दिया। हमले के बाद सानंद और उसके आसपास के करीब 300 दलितों ने अपने व्हाट्सऐप की डिस्प्ले पिक्चर पर मूँछ का लोगो लगाया है जिस पर “मिस्टर दलित” लिखा हुआ है और राजमुकुट का चिह्न बना हुआ है।

दो दिन पहले ही आनंद के बोरसाड़ गांव में एक दलित को कथित तौर पर एक मंदिर में गरबा देखने से नाराज सवर्णों ने पीट-पीट कर मार डाला था।

मंगलवार को गांधीनगर के लिम्बोदरा गांव में शाम को करीब 5.30 बजे घटना हुई। किशोर स्कूल से वापस आ रहा था तभी कुछ लोगों ने उस पर हमला कर दिया। हमले के कुछ देर पहले ही किशोर ने इंडियन एक्सप्रेस से बात की थी और बताया था कि 25 सितंबर को जब 24 वर्षीय दलित युवक पीयूष परमार पर कथित तौर पर सवर्णों द्वारा मूँछ रखने की वजह से हमला हुआ तो वो भी वहां मौजूद था उसे भी मारापीटा गया था।

परमार गांधीनगर की एक निजी बिजली आपूर्ति कंपनी में काम करते हैं। हमले के बाद 27 सितंबर को कलोल पुलिस थाने में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अपराध की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गईं।

29 सितंबर को कुणाल महरेजा नामक दलित युवक पर मूँछ रखने की वजह से हमला हुआ। कुणाल एक निजी टेलीकॉम कंपनी में काम करता है। मंगलवार को घायल हुए 17 वर्षीय किशोर की बहन काजल ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “उसे दर्द हो रहा है।

उसे कई टांके लगे हैं। उस पर ब्लेड से हमला किया गया। हमें नहीं पता हमला करने वाले दो लोग कौन थे। वो घर भागते हुए आया। उसके पीठ से खून बह रहा था। हम तुरंत उसे गांधीनगर के सिविल अस्पताल ले गये।”

कुलपति त्रिपाठी का एक और कारनामा, यौन उत्पीड़न के ‘दोषी’ को बना दिया विश्वविद्यालय अस्पताल का हेड

कमिश्वर की जांच में खुलासा, VC त्रिपाठी के गलत रवैये से भड़का छात्राओं का गुस्सा, दिल्ली तलब

योगी सरकार का डबल गेम, छोटे अधिकारियों पर कार्रवाई का मरहम, BHU के 1200 स्टूडेंट पर FIR दर्ज

फजीहत के बाद जागी योगी सरकार, CO-SO-ACM हटाए गए, अखिलेश बोले BHU में छिन गई बोलने की आजादी

VC त्रिपाठी के राज में अश्लीलता का गढ़ बन गया BHU, पढ़िए एक छात्रा का शर्मसार कर देने वाला पत्र

BHU VC की तानाशाही: लाठीचार्ज के बाद, गर्ल्स हॉस्टल खाली कराकर, छात्राओं को जबरन घर भेजने का फरमान

BHU: ‘तुम रेप कराने के लिए रात में बाहर जाती हो’ क्या ऐसे कुलपति को बर्खास्त नहीं करना चाहिए PM मोदी को ?

Related posts

Share
Share