You are here

BJP हारेगी या कांग्रेस ये 18 को पता लगेगा, लेकिन गुजरात में चुनाव आयोग पहले ही हार मान चुका है !

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

गुजरात चुनाव की घोषणा होने से लेकर चुनावी गतिविधियों में आचार संहिता उल्लंघन के मामले तक सोशल मीडिया पर चुनाव आयोग की इतना धज्जियां कभी नहीं उड़ाई गईं जितनी इस बार गुजरात के विधानसभा चुनाव में उड़ीं। अब तो लोग ये भी कहने लगे हैं कि चुनाव कोई भी हारे जीते लेकिन चुनाव आयोग पहले ही हार चुका है।

चुनाव आयोग के एकतरफा रुख को देखते हुए सोशल मीडिया पर लोग उसके संवैधानिक स्वरूप पर सवाल उठा रहे हैं। दरअसल गुरुवार को गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे और आखिरी चरण के लिए मतदान हुआ। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपना वोट डालने पहुंचे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साबरमती के बूथ नंबर 115 से मतदान किया। वोट डालने के बाद प्रधानमंत्री ने कार में सवार होकर कुछ दूरी तक रोड शो भी किया। इस दौरान पीएम ने वहां उमड़ी भीड़ की तरफ हाथ हिलाकर उनका अभिवादन भी स्वीकार किया।

प्रधानमंत्री द्वारा वोटिंग के दिन इस तरह से रोड शो करना चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए लोगों ने सवालिया निशान खड़े किए। कांग्रेस ने तो प्रधानमंत्री के इस रोड शो पर आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

रवीश कुमार ने भी उठाए सवाल- 

सोशल मीडिया पर भी पीएम के इस रोड शो पर लोग अपनी आपत्ति जता रहे हैं औऱ सवाल पूछ रहे हैं कि क्या चुनाव आयोग सो गया है।वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। रवीश कुमार ने फेसबुक पर लिखा कि चुनाव आयोग नतीजों से पहले हार गया है।

रवीश ने लिखा 18 दिसंबर को बीजेपी और कांग्रेस में से कोई एक हारेगा। मगर गुजरात में एक दूसरा भी है जो नतीजा आने से पहले हार चुका है। उसका नाम है चुनाव आयोग। असतो मा सदगमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय।

आपको बता दें कि 18 दिसंबर को गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आने हैं। उस दिन तय हो जाएगा कि गुजरात में बीजेपी सरकार बनाएगी या फिर 22 साल बाद कांग्रेस सत्ता में वापसी करेगी।

24 साल के युवा ‘पटेल’ ने हिला कर रख दी 22 साल की BJP सरकार, फेसबुक के मालिक ने अमेरिका बुलाया

बड़े-बड़े माफियाओं-आतंकवादियों को कैद में रखने वाले, बीआर वर्मा बने DIG जेल, पढ़िए खास बातचीत

गुजरात चुनाव पर योगेन्द्र यादव का विश्लेषण, ‘मोदी इफैक्ट’ खत्म कांग्रेस बना रही है बहुमत की सरकार

अंधविश्वास के खिलाफ मधेपुरा के भदौल गांव का साहसिक कदम, अब न होगा मृत्युभोज न धार्मिक कर्मकांड

गर्व है: वन डे में तीन-तीन दोहरा शतक बनाने वाले दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज बने रोहित शर्मा

BJP नेता का कब्जा हटवाने पहुंचे IAS अफसर से मोदी की सांसद बोली, ‘तुम्हारा जीना मुश्किल कर दूंगी’

 

 

 

Related posts

Share
Share