You are here

सूरत में हार्दिक के सामने लाखों युवाओं ने ली शपथ, सरदार लड़े थे गोरों से, हम लड़ेंगे BJP के चोरों से

नई दिल्ली/सूरत, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

24 साल के शख्स हार्दिक पटेल के करिश्माई व्यक्तित्व का जादू ही है कि पादीदारों को अपना वोट बैंक समझने वाली 22 साल पुरानी बीजेपी सरकार को आज गुजरात में पाटीदारों के एक-एक वोट के लिए गलियों-गलियों की खाक छाननी पड़ रही है।

खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत आधे से ज्यादा केन्द्रीय मंत्रिमंडल और अलग-अलग बीजेपी शासित प्रदेश के मुख्यमंत्री और मंत्री गुजरात में रुठों को मनाने में लगे हैं।

‘गोदी’ मीडिया भले ही गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को आगे दिखाए लेकिन ‘नेशनल जनमत’ के संपादक नीरज भाई पटेल ने सौराष्ट्र क्षेत्र के पादीदारों से बातचीत में पाया कि बीजेपी के लिए इस बार राह आसान नहींं।

टाइल्स की फैक्ट्रियों के लिए पहचाने जाने वाले उत्तरी गुजरात के शहर मोरबी के व्यवसायी गोपाल भाई पटेल बताते हैं कि पाटीदार बाहुल्य गांवों में बीजेपी के प्रति पादीदारों मेें जबरदस्त आक्रोश है।

शहरी इलाको में पाटीदार बाहुल्य आवासीय सोसायटियों में भी मेन गेट पर बीजेपी के खिलाफ बैनर लगा दिए गए हैं। जिनमे लिखा है कि “इस सोसायटी में धारा 144 लगी हुई है। मेहरबानी करके कोई कमल वाला (बीजेपी) इस सोसायटी में वोटो की भीख मांगने के लिए प्रवेश न करें”

पादीदार युवाओं के नारों ने बढ़ाई मुश्किल- 

वहीं दूसरी तरफ पाटीदारो द्वारा दिए गए नए नारे से बीजेपी की फजीहत बढ़ गयी है। गुजरात के कई इलाको में पाटीदारो द्वारा लगाए गए बैनरो में “सरदार लड़े थे गोरों से, हम लड़ रहे चोरो से,” वही बीजेपी की फजीहत वाला एक और दूसरा नारा “सरदार ने भगाया गोरों को, हम भगाएंगे चोरों को” लिखा गया है।

सूरत, बडोदरा, अहमदाबाद समेत पूरे गुजरात में हार्दिक की रैलियों में लगाए जा रहे इन नारों से बीजेपी प्रत्याशियों की सांसे सूख गई हैं। सूरत में लाखों की संख्या में मौजूद युवाओं ने बकायदा कसम खाई की बीजेपी के घमंड को 200 फुट जमीन में गाड़ के ही दम लेंगे।

कभी बीजेपी का परम्परागत वोट बैंक माने जाने वाले पाटीदार समुदाय के लोगों में इस बार बीजेपी को लेकर इस कदर विरोध है कि वे बीजेपी के प्रचार वाहनों पर अंडे और टमाटर फेंक रहे हैं।

इतना ही नहीं सूरत और आसपास के इलाको में तो बीजेपी का प्रचार करने निकले लोगों को देखते ही पाटीदार आरक्षण आंदोलन से जुड़े कार्यकर्त्ता एकत्रित होकर बीजेपी के खिलाफ नारे लगाते हैं और हूटिंग करते हैं।

बीजेपी कार्यकर्ताओं से भिड़े पाटीदार- 

सूरत में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता जब अपने जनसंपर्क अभियान पर निकले तो पाटीदार के लोग उनसे भिड़ गए। पाटीदारों ने बीजेपी के विरोध में जमकर नारेबाजी की। इन नारों में ‘जय सरदार जय पाटीदार’, और ‘सरदार लड़े थे गोरों से हम लड़ेंगे चोरों से’ जैसे नारे शामिल हैं।

पाटीदारो और बीजेपी के बीच उस समय गहरी खाई पैदा हो गई जब पाटीदारों ने आरक्षण की मांग को लेकर गुजरात में आंदोलन शुरू किया। इस दौरान हुई हिंसा में सरकारी सम्पत्ति के नुकसान का आरोप लगाते हुए सरकार की तरफ से पाटीदारो के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल सहित करीब दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ मामले दर्ज किये गए।

इतना ही नहीं पुलिस की कार्रवाई के दौरान कई पाटीदार युवाओं की जान भी चली गई थी और पादीदारों के घरों में घुसकर छापेमारी के नाम पर उनकी संपत्ति को भी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए तोड़-फोड़ दिया था।

शरद यादव-अली अनवर की सांसदी खत्म करके, मोदी-नीतीश ने लोकतंत्र का गला घोंटा है

लखनऊ में ‘सरदारवादियों’ ने भरी हुंकार, 31 दिसंबर को इलाहाबाद में होगा सरदार वंशजों का महाजुटान

राहुल गांधी के अध्‍यक्ष बनते ही युवा नेताओं को मिल सकती है तरजीह, यूपी में भी दिखेंगे नये चेहरे

म.प्र. पुलिस की गुंडई के शिकार हुए मरणासन्न मनीष पटेल की मां की अपील, ‘प्लीज मेरे बेटे को बचा लो’

आजम खान का मजाक उड़ाने वाली BJP के विधायक जी की भैंसे ढूंढ़ने में जुटी UP पुलिस, लोग बोले CBI लगा दो

शिवराज का जंगलराज: रीवा पुलिस की गुंडई का शिकार इंजी. मनीष पटेल जिंदगी-मौत के बीच कर रहा संघर्ष, तनाव

 

 

 

 

Related posts

Share
Share