You are here

घबराई शिवराज सरकार ने मंदसौर नहीं पहुंचने दिया हार्दिक पटेल-अखिलेश कटियार को

भोपाल। नेशनल जनमत ब्यूरो।

मध्य प्रदेश के मंदसौर में पुलिस की फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करने जा रहे पटेल नवनिर्माण सेना प्रमुख, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, जेडीयू व पटेल नवनिर्माण सेना के महासचिव अखिलेश कटियार और उनके तीन साथियों को नीमच जिले के नयागांव टोल प्लाजा पर गिरफ्तार कर लिया.

हार्दिक ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान पााटीदारों के आक्रोश से डरे हुए हैं, इसलिए लोकतंत्र का दमन करने पर उतारु हैं. हालांकि, कुछ देर बाद उन्हें निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया. रिहाई के बाद पुलिस दोनोंं को अन्य साथियों के साथ राजस्थान की सीमा के भीतर छोड़ आई.

इसे भी पढ़ें-मामूली विवाद में संजीव सिंह ने शुभम पटेल को मारी गोली, गुस्साए ग्रामीणों न घर पर बोला हमला

नीमच के पुलिस अधीक्षक टी.के विद्यार्थी ने आईएएनएस को बताया, “हार्दिक पटेल को नीमच आने की अनुमति नहीं दी गई थी। इसलिए उन्हें मध्य प्रदेश-राजस्थान की सीमा पर नयागांव टोल प्लाजा पर रोका गया। उनके काफिले में शामिल 20 गाड़ियों में लगभग 150 लोग सवार थे. पटेल और उनके चार साथियों को हिरासत में ले लिया गया, जबकि अन्य को पुलिस ने खदेड़ दिया.

विद्यार्थी के मुताबिक, “इसके बाद पटेल अखिलेश सहित चारों को धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया और बाद में निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया. पुलिसबल पटेल और उनके साथियों को राजस्थान की सीमा के भीतर छोड़कर आई.

इसे भी पढ़ें- नीतीश की चुनौती हम बिहार में चुनाव के लिए तैयार दम है तो यूपी मे भी चुनाव करा लें भाजपा

पाटीदार नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय महासचिव अखिलेश कटियार ने  गिरफ्तारी के बाद नेशनल जनमत को भेजे मैसेज में सरकार को जवाब दिया कि-  तुम जितना दामनजोर करोगे हमारी आवाज उतनी ही बुलंद होती चली जाएगी.

इसे भी पढ़ें- हार्दिक के मंदसौर जाने की घोषणा से शिवराज सरकार की सांस थमी, रात में ही बॉर्डर किया सील

Related posts

Share
Share