You are here

24 साल के युवा ‘पटेल’ ने हिला कर रख दी 22 साल की BJP सरकार, फेसबुक के मालिक ने अमेरिका बुलाया

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

चुनाव ना लड़ रहे 24 साल के हार्दिक पटेल ने 22 साल पुरानी बीजेपी सरकार के चुनावी समर में उतरे धुरंधरों के छक्के छुड़ा दिए हैं। सोशल मीडिया के मायाजाल से मनमाकिफ मुद्दों को भुनाने में कामयाब रही बीजेपी के स्टारक प्रचारक पीएम मोदी को हार्दिक के सोशल मीडिया कैम्पेन ने काफी पीछे छोड़ दिया है।

गुजराती भाषा के एक अखबार में प्रकाशित खबर के अनुसार जुकरबर्ग ने 24 वर्षीय पटेल को सिलिकॉन वैली आमंत्रित किया है। ‘कपड़ा और हीरा हब सूरत में हार्दिक पटेल की रैली को 37,000 से अधिक ऑनलाइन दर्शकों को फेसबुक लाइव के जरिए देखा।

वहीं अहमदाबाद में हार्दिक की रैली को 53 k यानि 53000 लोगों ने लाइव देखा। जबकि पीएम मोदी को फेसबुक लाइव के जरिए सुनने का रिकॉर्ड सिर्फ 14000 लोगों का है।

इसके बाद खबर ये है कि बिना किसी राजनीतिक पद की ताकत के भी सोशल मीडिया में हार्दिक की जबरदस्त लोकप्रियता देखते हुए हार्दिक पटेल को फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग ने अमेरिका बुलाया है।

’27 नवंबर को फेसबुक पर हार्दिक पटेल के सूरत भाषण को 6 लाख से ज्यादा लाइक्स मिले। 5000 से अधिक प्रशंसकों ने अपनी वॉल पर शेयर किया।’ पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) के नेताओं का दावा है कि साढ़े लाख से ज्यादा हार्दिक के फॉलोवर्स सोशल मीडिया हैं।

हार्दिक के आधिकारिक फेसबुक पेज पर 8 लाख से ज्यादा लाइक्स हैं, हार्दिक की रैलियों के प्रति दिवानगी का आलम ये है कि उनकी अंतिम दस रैलियों को फेसबुक पर 4 मिलियन से अधिक लाइक्स मिले हैं।

हार-जीत से दूर हार्दिक पटेल युवाओं को रोल मॉडल- 

एक जानकारी के मुताबिक पाटीदार आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल ने थोड़े दिन पहले सूरत में एक रैली की थी, उसमें लाखों लोग मौजूद थे, लेकिन किसी भी मीडिया हाउस ने इस रैली को ज्यादा अहमियत नहीं दी।

उनका मानना है कि भाजपा को राहुल से ज्यादा हार्दिक का डर सता रहा था क्योंकि यदि उनकी रैली में ज्यादा संख्या दिखाई देती तो इससे भाजपा के लिए मुश्किल पैदा हो सकती थी। इसीलिए भाजपा ने इस रैली से मीडिया को दूर रखने का पूरा खेल रचा।

लेकिन इस खेल में ज्यादा सफलता इसलिए नहीं मिल पाई क्योंकि हार्दिक की सूरत रैली को फेसबुक पर 37 हजार लोगों ने लाइव देखा। इसके बाद तो हार्दिक की हर रैली फेसबुक पर लाइव देखी गई।

रोड शो को नहीं मिली मंजूरी- 

अहमदाबाद पुलिस ने राहुल गांधी, पीएम मोदी और हार्दिक के रोड शो को मंजूरी नहीं दी। ऐसा ट्रैफिक समस्या के चलते किया गया।हकीकत में भाजपा को डर था कि मोदी की रैली में ज्यादा लोग नहीं जुट पाएंगे क्योंकि राहुल और हार्दिक एकसाथ रैली निकालेंगे तो निश्चित ही संख्या ज्यादा होगी।

हालांकि रोक के बावजूद हार्दिक ने रैली निकाली और 52 किलोमीटर के इस रोड शो में 2000 से ज्यादा दुपहिया वाहन शामिल हुए। इस रैली को फेसबुक पर 52 हजार लोगों ने देखा।

बड़े-बड़े माफियाओं-आतंकवादियों को कैद में रखने वाले, बीआर वर्मा बने DIG जेल, पढ़िए खास बातचीत

गुजरात चुनाव पर योगेन्द्र यादव का विश्लेषण, ‘मोदी इफैक्ट’ खत्म कांग्रेस बना रही है बहुमत की सरकार

अंधविश्वास के खिलाफ मधेपुरा के भदौल गांव का साहसिक कदम, अब न होगा मृत्युभोज न धार्मिक कर्मकांड

गर्व है: वन डे में तीन-तीन दोहरा शतक बनाने वाले दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज बने रोहित शर्मा

BJP नेता का कब्जा हटवाने पहुंचे IAS अफसर से मोदी की सांसद बोली, ‘तुम्हारा जीना मुश्किल कर दूंगी’

 

 

Related posts

Share
Share