You are here

हार्दिक के संघर्ष को सरदारवादियों का क्रांतिकारी समर्थन, 31 को इलाहाबाद में खून से तौलेंगे युवा

लखनऊ/नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

अहंकार से भर चुकी सरकार के खिलाफ विद्रोह का बिगुल फूंकने वाले किसान पुत्र हार्दिक पटेल आज देश भर के युवाओं के लिए संघर्ष का प्रतीक बन चुके हैं। हार्दिक की इस व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई में सहभागी बनने के लिए हर किसान-कमेरा नौजवान उत्साहित है।

ऐसे में अर्जक संघ के संस्थापक महामना रामस्वरूप वर्मा, पेरियार ललई सिंह यादव, किसान नेता चौधरी चरण सिंह जैसे महापुरुषों की धरती उत्तर प्रदेश से सरदारवादी विचारधारा यानि किसान हित को सर्वोपरी मानने वाली विचारधारा के लोगों ने क्रांति का आगाज किया है।

लखनऊ में आयोजित प्रेसवार्ता में सरदारवादी विचारधारा सम्मेलन के आयोजकों ने कहा कि गुजरात की जीत हार से परे हमें अपने नौजवान साथी पर गर्व है। हम हार्दिक के संघर्ष को सलाम करते हैं, 31 दिसंबर को इलाहाबाद में आयोजित सरदारवादी विचारधारा सम्मेलन में उनको खून से तौलकर उत्तर प्रदेश के युवा उनका सम्मान करेंगे।

‘सरदारवादी विचारधारा’ सम्मलेन के संयोजक डॉ. आर एस सिंह पटेल ने लखनऊ में शुक्रवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि वर्तमान सरकारें सरदार पटेल का नाम लेकर राजनीति तो करती हैं, लेकिन योजनाएं सिर्फ पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर शुरू करते हैं।

देश व प्रदेश का किसान कमेरा समाज उपेक्षित एवं वंचित है। अब तक की जो भी सरकारें आईं पूंजीपतियों के लिए ही काम किया। दिन प्रति दिन किसानों के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। किसान आत्महत्या करने पर मजबूर है सरकारें धार्मिक अनुष्ठानों में व्यस्त है।

आज देश व प्रदेश में पिछड़े वर्ग व दलित वर्ग के नाम पर बने विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठन सरकारों के पिछलग्गू बनकर अपने लोगों का शोषण होते मूकदर्शक की तरह देख रहे हैं।

खेती-किसानी को उद्योग का दर्जा देना होगा- 

डॉ. पटेल ने कहा कि सरदार पटेल ने कहा था कि भारत को उत्पादक देश बनाकर खेती-किसानी को उद्योग का दर्जा दिया जाना चाहिए। लेकिन सामंती सोच के लोगों की वजह से ये मुमकिन नहीं हो पाया।

इसलिए किसान -कमेरा समाज के दर्द को लेकर सरदारवादी विचारधारा के बैनर तले 31 दिसंबर सुबह 11 बजे सरदार पटेल संस्थान आलोपी बाग इलाहाबाद में आयोजित सरदारवादी किसान सम्मेलन के मंच से हम सरकार के सामने इस मांग को प्रमुखता से उठाएंगे।

खून से तौलेंगे हार्दिक को- 

जगदीश्वर पटेल ने बताया कि इस कार्यक्रम में किसानों के नेता हार्दिक पटेल बतौर मुख्य अतिथि होंगे। उत्तर प्रदेश के युवाओं ने प्रण लिया है कि हार्दिक का जहां पसीना गिरेगा, वहां युवाओं का खून बहेगा।

इसलिए हम युवा अपने खून से हार्दिक को तौल कर सरदार पटेल के सपनो का भारत बनाने हेतु संघर्ष का ऐलान करेंगे। रक्तदान से एकत्रित खून को किसी बल्ड बैंक को भेज दिया जाएगा।

वीरांगना अवंतीबाई लोधी क्रांतिवाहिनी के राष्ट्रीय संयोजक एड. बृजलाल लोधी ने कहा कि सरदार पटेल के सपनों का भारत बनाने और सामंतवादियों का प्रतिकार करने हेतु संकल्पित सरदारवादी विचारधारा को जी जीन से लोधी सामाज सहयोग करेगा।

प्रेस वार्ता में इंजी.सतीश सचान, इन्द्रजीत पटेल, अभिषेक पटेल, गोविन्द पटेल, सुरेश वर्मा, रामसूरत पटेल मौजूद रहे।

गौभक्ति का राग अलापने वाली BJP सरकार के मंत्री बोले, गोवा में गोमांस की न कमी है ना होने दी जाएगी

BJP सरकार का फरमान, सरकारी लेटर पैड पर होगा दीनदयाल उपाध्याय का फोटो, कांग्रेस बोली नियम विरुद्ध

अन्ना हजारे ने साधा PM मोदी पर निशाना, 3 साल में भारत को भ्रष्टाचार में डुबोकर, BJP ने भरी तिजोरी

BJP हारेगी या कांग्रेस ये 18 को पता लगेगा, लेकिन गुजरात में चुनाव आयोग पहले ही हार मान चुका है !

24 साल के युवा ‘पटेल’ ने हिला कर रख दी 22 साल की BJP सरकार, फेसबुक के मालिक ने अमेरिका बुलाया

 

Related posts

Share
Share