You are here

योगा डे के नाम पर 34 करोड़ खर्च करती है मोदी सरकार, वहीं योगा चैंपियंस को जमीन पर बितानी पड़ती है रात

नई दिल्ली/ गुरुग्राम, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

योगा-योगा का हल्ला मचाने वाली सरकार योगा डे की मार्केटिंग के नाम पर 34 करोड़ रुपये रुपये का खर्च तो कर सकती है। लेकिन योगा चैंपियंस को खाना खिलाने के लिए सरकार के पास पैसे ही नहीं। मामला बीजेपी शासित हरियाणा का है जहां अंडर 14 योगा चैंपियंस को एक पराठा खाकर जमीन पर सोना पड़ा।

स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक गुडगांव की अंडर 14 योगा टीम के छह खिलाड़ियों को रेवाड़ी में आयोजित स्टेट लेवल स्कूल चैंपियनशिप के दौरान पूरे दिन में एक आलू पराठा खाने को दिया गया और रात में वे जमीन पर ही सोए।

इस प्रतियोगिता में शामिल होने के बाद निराश छात्रों का कहना है कि आप खुद देख लीजिए सरकारें किस तरह योगा डे के नाम पर नौटंकी करती हैं। केंद्र की बीजेपी सरकार भले ही अंतर्राष्ट्रीय लेवल पर योग को प्रमोट करती रही है लेकिन राज्य की बीजेपी सरकार के पास इतना भी पैसा नहीं है कि वह इन खिलाड़ियों के रहने और खाने का सही तरीके से इंतजाम कर सके।

आरटीआई से मिला जानकारी- 

एक आरटीआई की रिपोर्ट के अनुसार साल 2015 और 2016 में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सरकार ने 34.5 करोड़ रुपए खर्चा किया था। वहीं इस पर हरियाणा सरकार ने भी लाखों रुपए खर्च किए थे। हरियाणा के इन छात्रों ने इस चैंपियनशिप को जीतने के लिए कड़ी मेहनत की और अपना लक्ष्य हासिल किया। ।

इन छह छात्रों में से अब तीन छात्रों को राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए राज्य का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया है। इसकी पुष्टि इन छात्रों की योगा ट्रेनर पूनम बिमरा ने की। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार बिमरा के असिस्टेंट अजीत सोलंकी ने कहा कि इन छात्रों को बेसिक सुविधा न मिल पाने के कारण काफी परेशानी झेलनी पड़ती है।

इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले कई छात्रों का आरोप है कि उन्हें इवेंट में पूर्ण रुप से अच्छा खाना नहीं दिया गया। वहीं जिस स्कूल के ये छात्र हैं, उस स्कूल प्रशासन ने खुद पर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है।

मोदीराज में रिटायरमेंट के बाद क्यों बोलते हैं लोग, अब SBI चेयरपर्सन बोलीं नोटबंदी ‘अधूरा’ फैसला था

चुनाव आयुक्त जैसा पद लेने के बाद भी अचल कुमार ज्योति गुजरात सरकार के बंगले में क्यों बने रहे ?

आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर को NGT ने दिया जोर का झटका, कलकत्ता स्थित इमारत गिराने के निर्देश

UP में बेसिक शिक्षा के 15 अध्यापक बर्खास्त, 2 शिक्षक दो जिलों से ले रहे थे वेतन, FIR दर्ज करने के निर्देश

हार्दिक पटेल की कांग्रेस को चेतावनी, 3 नवंबर तक साफ करें पाटीदार को आरक्षण कैसे देंगे ?

पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, SEX CD के आरोपी BJP मंत्री का इस्तीफा मांगा

 

Related posts

Share
Share