You are here

नीतीश के करीबी JDU नेता की बगावत, जो लोग घुटने नहीं टेकते, BJP उन्हे जांच एजेंसियों के जरिए फंसाती है

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू यादव चारा घोटाले के दोषी और पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा बरी क्या हुए सोशल मीडिया पर एक बार फिर दलित-पिछड़ों को मुकदमों में फंसाने की बहस गर्म हो गई।

हैरत की बात कहें या लालू यादव के जननेता होने का सबूत उनके जेल जाने का असर आरजेडी पर नहीं बल्कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड पर जरूर पड़ता दिख रहा है।

नीतीश के करीबी और पूर्व विधान सभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद कर दिया है और आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार ने बीजेपी से मिलकर लालू यादव को जेल भिजवाया है।

चौधरी ने कहा कि लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ बदले की नीयत से कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस खेल में नीतीश कुमार और बीजेपी के लोग शामिल हैं।

बदले की भावना से हुई कार्रवाई- 

चौधरी ने साफ किया कि भले ही ये लोग बदले की कार्रवाई के तहत लालू को जेल भिजवा दें मगर इसका राजनीतिक फायदा लालू यादव और उनकी पार्टी को ही मिलेगा। जेडीयू नेतृत्व की आलोचना करते हुए चौधरी ने कहा कि पार्टी में लोकतांत्रिक मूल्य अब नहीं रहे।

उन्होंने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाएं लागू करने वाले नीतीश कुमार अब पीएम नरेंद्र मोदी की राह चल पड़े हैं और गलत फैसले लेकर राज्य के लोगों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और नीतीश सरकार जनविरोधी हो चुकी है।

बीजेपी जांच एजेंसियों का करती है दुरुपयोग- 

चौधरी ने आरोप लगाया कि जो लोग घुटने नहीं टेकते हैं उन्हें बीजेपी जांच एजेंसियों के जरिए फांसती है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ही 2 जी केस और आदर्श घोटाले में नेताओं को फंसाया था लेकिन नतीजा सबके सामने है।

उन्होंने कहा कि चारा घोटाले में लालू जी ने क्या किया? 900 करोड़ के इस घोटाले में लालू जी की सीधी संलिप्तता कहीं से नहीं है। बावजूद इसके उन्हें तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है क्योंकि वो दलितों-गरीबों की आवाज हैं, उन्होंने सामाजिक न्याय के लिए आवाज बुलंद की है।

BJP सांसद सुब्रमण्‍यम स्‍वामी की अमित शाह को नसीहत, भाजपाई शराब पीना और कोट-पैंट पहनना बंद करें

विधायक जिग्नेश मेवाणी का PM मोदी को चैलेंज, हार्दिक पटेल से चुनाव जीत कर दिखाएं, छोड़ दूंगा राजनीति

मोदी के मंत्री बोले-हम संविधान बदलने आए हैं, लोगों की पहचान धर्म और जाति के आधार पर होनी चाहिए

PM के मित्र अडानी ने 1451.69 करोड़ का टैक्स भरे बिना ही अनिल अंबानी की रिलायंस एनर्जी को खरीदा !

‘गुर्जर संस्कृति शोध संस्थान’ के बैनर तले दहेज-उपहार लेन-देन को महिमामंडित ना करने का आह्वान

BJP सांसद सुब्रमण्‍यम स्‍वामी बोले, दबाव बनाकर GDP के आंकड़े बदलवाती है मोदी सरकार, फर्जी हैं सब

Related posts

Share
Share