You are here

गौ हत्या के शक में गौगुंडों ने उस्मान के घर बोला हमला लगा दी आग, पत्थरबाजी में 50 पुलिसकर्मी घायल

नई दिल्ली/ रांची। नेशनल जनमत ब्यूरो।

केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद गाय के नाम पर होने वाली हिंसा की बाढ़ सी आ गई है। अब गौरक्षा का दावा करने वाले लोग सरेआम कानून हाथ में लेकर गाय के नाम पर गुंडागर्दी कर रहे हैं। अभी कुछ दिन पहले ही हरियाणा के बल्लभगढ़ में कुछ अराजक तत्वों ने ईद की खरीदारी करने के लिए दिल्ली गए तीन भाईयों पर को बीफ ले जाने के आरोप में हमला कर दिया जिसमें एक भाई की मौत हो गई. अब झारखंड से मामला सामने आया है.

घर के बाहर मिली गाय तो भीड़ ने कर दिया उस्मान अंसारी के घर पर हमला- 

अब झारखंड के गिरीडीह जिले में मंगलवार को एक मुस्लिम शख्स के घर के बाहर मृत गाय मिलने के बाद पिटाई का मामला सामने आया है. पुलिस के मुताबिक गांव में उस्मान अंसारी के घर के बाहर गाय का शरीर मिलने पर भीड़ ने उसके साथ मारपीट की। यहीं नहीं उन लोगों ने उसके घर के बाहरी हिस्से में आग लगा दी। रांची से 200 किलोमीटर दूर देवरी के बेरिया हतीतांद में हुई घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची. तब तक भीड़ ने अंसारी की पिटाई कर दी और उसके घर में आग लगा दी।

इसे भी पढ़ें-योगीसेना की गुंडई. रेप के आरोपी हिन्दु युवा वाहिनी के लोगों का थाने में तांडव दरोगा की वर्दी फाड़ी

पुलिस की फायरिंग में कृष्णा पंडित घायल- 

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता और एडीजी (ऑपरेशंस) आर के मल्लिक ने कहा, “हमारे जवान और अधिकारी भीड़ के सामने पहुंचे और तुरंत अंसारी तथा उसके परिवार को बचाया।” उन्होंने बताया कि जब पुलिस अंसारी को लेकर अस्पताल जा रही थी, तब भी भीड़ ने उनका रास्ता रोकने की कोशिश की।

इस दौरान भारी पत्थरबाजी हुई और पुलिसकर्मियों को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। पुलिस अधिकारी के मुताबिक भीड़ को हटाने के लिए पुलिस की ओर से की गई फायरिंग में कृष्णा पंडित नाम का एक शख्स घायल हो गया है। वहीं, करीब 50 पुलिसकर्मी भीड़ द्वारा किए पथराव में घायल हुए हैं।

इसे भी पढ़ें…स्वंयभू राष्ट्रवादी zee news मालिक सुभाष चंद्रा के बेटे ने देश को लगा दिया 11 हजार करोड़ रूपए का चुना

घटना स्थल पर पुलिस तैनात- 

उन्होंने बताया कि अंसारी और पंड़ित दोनों को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई। बेहतर उपचार के लिए दोनों को धनबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने बताया कि भीड़ ने बहुत उग्र तेवर अपना रखे थे। स्थिति अब नियंत्रण में है। मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों समेत 200 से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों को घटनास्थल पर तैनात किया गया है।

इससे पहले बंगाल में गाय चोरी के आरोप में भीड़ ने तीन मुसलमानों को पीट- पीट कर मार डाला था- 

हाल ही में पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर जिले में गौ-तस्कर होने के शक में तीन लोगों की पीट-पीटकर जान ले ली गई थी। भीड़ द्वारा मारे गए लोगों पर इलाके से गाय चोरी करने का आरोप था। घटना के बाद पुलिस से तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया है। जिन लोगों की मौत हुई उनके नाम नसीरुल हक (30 साल), मोहम्मद समीरुद्दीन (32 साल) और मोहम्मद नासिर (33 साल) थे।

जानकारी के मुताबिक, लगभग 10 लोगों का एक ग्रुप गुरुवार की रात को गांव में घुसा। वे लोग गाड़ी में आए थे। कथित तौर पर उन लोगों ने दो घरों से गायों को उठा लिया था और जैसे ही वे तीसरे घर की तरफ बढ़े तब ही किसी ने शोर मचाकर सबको सतर्क कर दिया। इसपर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए। दस में से बाकी लोग तो भाग गए लेकिन तीन पकड़ में आ गए जिनको लोगों ने पकड़कर जमकर पीटा।

इसे भी पढ़ें…फकीर पीएम झारखंड के दौरे पर खा गए 44 लाख का खाना , 75 मिनट के दौरे पर 9 करोड़ रूपए खर्च

आपको बता दें कि जबसे मोदी सरकार केन्द्र की सत्ता में आई है, तबसे गाय के नाम पर की जाने वाली हिंसा में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले 8 सालों में गाय के नाम पर की जाने वाली हिंसा में 97 फीसदी मामले मोदी सरकार के ही दौरान हुए हैं।

Related posts

Share
Share