You are here

बुंदेलखंड के उरई में राष्ट्रमाता जीजाबाई जयंती समारोह 21 को, प्रदेश भर से नारी शक्ति का होगा जुटान

नई दिल्ली, नीरज भाई पटेल (नेशनल जनमत) 

मराठा साम्राज्य की संस्थापक और मनुस्मृति के नियमों को तार-तार करके शिवाजी को बहुजन प्रतिपालक राजा बनाने वाली राष्ट्रमाता जीजाबाई जयंती (12 जनवरी) के उपलक्ष्य में बुंदेलखंड के उरई में 21 जनवरी रविवार को विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी महिला शक्ति का जुटान होगा।

लोकमाता जीजाबाई नारी शक्ति एवं कौशल विकास एसोसिएशन उ.प्र. के बैनर तले उरई के रघुवीर धाम गेस्ट हाउस में बुंदेलखंड की जागरूक महिलाओं ने प्रदेश में पहली बार वीर माता जीजाबाई जयंती पर नारी शक्ति की जागरूकता के लिए एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया है।

कार्यक्रम के आयोजकों में शामिल जालौन जिले में सीडीपीओ के पद पर तैनात सामाजिक कार्यकर्ता वंदना वर्मा ने ‘नेशनल जनमत’ से बातचीत मे बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य घूंघट में फंसी बुंदेलखंड की महिलाओं को घूंघट से निकालकर सामाजिक कार्यों के प्रति प्रोत्साहित करने का है।

शिवाजी को स्वराज का पाठ पढ़ाकर वीर योद्धा बनाने वाली माता जीजाबाई ने जिस तरह से देश के लिए एक शेर तैयार किया था वैसे ही महिलाओं की जागरूकता से घरों-घरों से ऐसे ही लायक बेटे और लायक बेटियां निकलेंगे।

विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी महिला शक्ति मौजूद रहेंगी- 

कार्यक्रम में राजनैतिक, सामाजिक व अधिकारी वर्ग से पूरे प्रदेश से कई जागरूक व प्रतिष्ठित महिलाएं शामिल होकर महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करेंगी।

जालौन-गरौठा-ललितपुर क्षेत्र की विधान परिषद सदस्य रमा निरंजन, जिला पंचायत अध्यक्ष जालौन सुमन निरंजन, जिला पंचायत अध्यक्ष कौशांबी अनामिका पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रावस्ती साक्षी वर्मा, भिनगा की तेजतर्रार विधायकों में शुमार रहीं इंद्राणी वर्मा राजनीतिक व सामाजिक क्षेत्र में महिलाओं को जागरूक करेंगी।

इसके सात ही संयुक्त निदेशक चिकित्सा झांसी मंडल रेखारानी, संयुक्त निदेशक शिक्षा विभाग (इलाहाबाद निदेशालय) प्रभावती वर्मा, अपर जिलाधिकारी अमेठी रश्मि सिंह, एसडीएम कानपुर देहात अंजू वर्मा, पूर्व प्रधानाचार्य जीजीआईसी शशिकला सिंह, असि, कमिश्नर सेल्स टैक्स श्रद्धा सिंंह, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के अधिकारों के लिए लड़ने वाली प्रदेश अध्यक्ष किरण वर्मा समेत तमाम सामाजिक क्षेत्र की हस्तियां मौजूद रहेंगी।

जिला विकास अधिकारी श्रीमती मिथलेश सचान का तैनाती जिला होने कारण उनको कार्यक्रम का स्वाग्ताध्यक्ष बनाया गया है। संचालन की जिम्मेदारी बुंदेलखंड वि.वि. की प्रोफेसर रेखा वर्मा और “नेशनल जनमत” के संपादक नीरज भाई पटेल संभालेंगे।

उद्देश्य- 

1- महिलाओं को घूंघट से निकालकर समाज के कार्यों में सक्रिय करना।

2- शादी से पहले लड़कियों की उच्च शिक्षा पर जोर देना।

3- दहेज में ताकत लगाने की बजाए लड़कियों की शिक्षा में ताकत लगाना।

4- घटते लिंगानुपात के प्रति महिलाओं और पुरुषों को बेटी पैदा करने के प्रति जागरूक करना।

5- घर मे लड़के और लड़कियों की परवरिश में कोई भेद ना करना।

कार्यक्रम आयोजक –

माधुरी निरंजन (वरिष्ठ समाजसेवी), सीडीपीओ गीता वर्मा, डॉ. रानी निरंजन, ऊषा निरंजन, डॉ. मोनिका कटियार, डॉ. सुधा गंगवार, डॉ. रक्षिता निरंजन, डॉ. जूही सिंह, डॉ. सविता पटेल, डॉ. अभिलाषा निरंजन, डॉ. नैंसी पटेल, पूनम निरंजन (प्रवक्ता जीआईसी), अनुराधा निरंजन (प्रवक्ता जीआईसी) संगीता कटियार जिलाध्यक्ष आंगनबाड़ी संघ का कार्यक्रम में विशेष सहयोग है।

मनुस्मृति के नियमों को तार-तार करके शिवाजी को बहुजन प्रतिपालक राजा बनाने वाली राष्ट्रमाता जीजाबाई

कभी स्कूटर पर साथ घूमते थे दोनों, CM बनते ही संबंध बिगड़े तो मोदी ने तोगड़िया को साइड लाइन कर दिया

VHP नेता प्रवीण तोगड़िया के गायब होने पर सस्पेंस, BJP बोली उठा ले गई राजस्थान पुलिस, अस्तपाल पहुंचे

समझिए पूरा मामला, जिसकी वजह से चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा ने लोकतंत्र को ताक पर रख दिया !

अब SC-HC के कई पूर्व जस्टिस ने लगाए आरोप, CJI दीपक मिश्रा अहम मामले अपने चहेते जजों को देते हैं

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा केनरम पड़े तेवर, रविवार को सवाल उठाने वाले जजों से मिल सकते हैं !

 

Related posts

Share
Share