You are here

छात्रों के बाद अब JNU के 7 पूर्व प्रोफेसर्स ने कुलपति जगदीश कुमार की कार्यशैली पर उठाए सवाल

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में देशभक्ति जगाने के लिए युद्ध टैंक रखवाने की बात करने वाले कुलपति जगदीश कुमार की कार्यशैली और संघ की मानसिकता को कैम्पस में थोपने को लेकर छात्र-छात्राएं लगातार सवाल उठाते रहे हैं। अब छात्रों की बात को सही ठहराते हुए जेएनयू के पूर्व प्रोफेसरों ने भी कुलपति पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के सात पूर्व प्रोफेसरों ने कुलपति एम जगदीश कुमार पर परिपाटी तोड़ने और मनमाने फैसले लेना का आरोप लगाया है। इसतना ही नहीं प्रोफसर्स ने ये भी कहा कि कुलपति संकाय सदस्यों की आपत्ति को कोई तवज्जो नहीं देते हैं. इससे पहले जेएनयू में आया कोई भी कुलपति विरोध के बाद भी लगातार नियमों के विरुद्ध नहीं गया है.

रोमिला थापर, प्रभात पटनायक, उत्सा पटनायक, जोया हसन, एचएस गिल, दीपक नैयर और अनिल भट्टी ने एक बयान जारी कर कहा है कि स्थापित परिपाटी पर गौर करें तो कुमार के फैसले विरोधाभासी प्रतीत होते हैं.

उन्होंने कहा, अतीत में जेएनयू का संचालन इस प्रकार से नहीं होता था. पहले कुलपति स्थापित प्रक्रिया के अनुसार स्कूल और केंद्र से जुड़े फैसले लेते थे और उनको संकाय सदस्य का समर्थन प्राप्त होता था.

प्रोफेसरों ने कुमार पर संकाय सदस्यों की आपत्ति को नजरंदाज करने का आरोप लगाया. उन्होंने कुलपति पर पांच वरिष्ठ प्रोफेसरों पर तवज्जो देकर एक प्रोफेसर को सामाजिक विज्ञान विद्यालय का डीन बनाकर परिपाटी तोड़ने का आरोप लगाया है.

विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसरों ने कहा कि अतीत में कोई भी कुलपति लगातार नियमों के विरुद्ध नहीं गया है. बयान में प्रोफेसर निवेदिता मेनन के मामले का भी जिक्र है. उन्हें कथित दुर्व्यवहार को लेकर हाल में सेंटर फॉर कंपरेटिव पॉलिटिक्स एंड पॉलिटिकल थ्योरी के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था.

राष्ट्रपति को भी लिखा गया पत्र- 

तीन अक्तूबर को दो जाने-माने शिक्षाविदों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर जेएनयू में सार्थक बहस के माहौल को फिर से कायम करने की मांग की थी.

पत्र के साथ एक याचिका भी दी गई. इस पर हार्वर्ड और कोलंबिया विश्वविद्यालय सहित दुनिया के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों के शिक्षाविदों, कलाकारों और वकील सहित अन्य लोगों के हस्ताक्षर हैं.

जेएनयू शिक्षक संघ और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व और वर्तमान पदाधिकारी कई मुद्दों पर परिपाटी से हटने को लेकर कुलपति के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

जंगलराज: लखनऊ में दिनदहाड़े BA की छात्रा से छेड़छाड़, विरोध करने पर गोली मारी, 4 गिरफ्तार

बदलते मूड का संकेत, BJP शासित राजस्थान में हुए उपचुनावों में कमल पर भारी पड़ा पंजा

2 साल तक महिला से रेप के आरोपी उद्योगपति को, BJP ने बनाया MP प्रत्याशी, सुप्रीम कोर्ट पहुंची पीड़िता

बिहार के विश्वविद्यालय में साक्षात भगवान गणेश देंगे B.Com की परीक्षा ! एडमिट कार्ड हुआ जारी

अपना दल के किसान महासम्मेलनों में बोलीं पल्लवी पटेल, किसान विरोधी PM-CM को सत्ता से दूर करना होगा

बुंदेलखंड कुर्मी समाज के सेनापति शिवशंकर पटेल ने 94 सेनानियों के साथ छतरपुर में ली समाज सेवा की शपथ

योगीराज: न्योता देने से मना करने पर ठाकुरों ने नाई समाज के लोगों को पीटा, पैर तोड़कर जला दिया घर

Related posts

Share
Share