You are here

कानपुर पहुंचे CM आदित्यनाथ के दौरे वाला रूट चमका, बाकी शहर की सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे

नई दिल्ली/कानपुर। नेशनल जनमत ब्यूरो।  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज कानपुर में हैं। कानपुर दौरे के चलते उनके काफिले के गुजरने वाले रूट की सड़कों को चमकाने में प्रशासन ने कोई कसर नहीं छोड़ी है। जबकि दूसरी तरफ कानपुर शहर की अधिकांश सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे हैं।

इस बारे में नेशनल जनमत की टीम ने कानपुर वासियों से प्रतिक्रिया ली तो उनका कहना है कि बीजेपी अब दिखावे की पार्टी हो गई है। विकास का जुमला भी दिखावे के लिए है जिसे सीएम साहब देखकर लौट जाएंगे।

सीएम योगी के रूट चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय (सीएसए) से लेकर मोतीझील और सीएसए से लेकर दीनदयाल सनातन धर्म विद्यालय, नवाबगंज तक की सड़कें चमाचम कर दी गईं हैं।

उधर करोड़ों रुपये की लागत से गड्ढा मुक्त हुई सड़कों की हालत खस्ताहाल है। बारिश के बाद कानपुर शहर में इन गड्ढा मुक्त हुई सड़कों पर हर तरफ गड्ढे ही गड्ढे नजर आते हैं। इन सड़कों पर वाहन की बात छोड़ो पैदल चलना भी दूभर है।

शहरों की सड़कों के निर्माण, सुधार और रखरखाव की जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग यानी पीडब्ल्यूडी और नगर निगम की होती है। प्रदेश सरकार के आदेश के बाद इन विभागों ने सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का अभियान चलाया।

बारिश के बाद शहर की सभी सड़कें पुरानी हालत में पहुंच गईं। अधिकारी बजट न होने की बात कहते हैं। उनका कहना है कि गड्ढा मुक्त अभियान का अभी मात्र 20 फीसदी पैसा मिला है। लेकिन सबसे बड़ी हैरान कर देनी वाली बात यह कि इन अधिकारियों के पास सीएम रूट चमकाने के लिए पैसा कहां से आया?

कानपुर में पनकी, रामादेवी चौराहा, गुजैनी, ऐसे इलाके हैं जहां की सड़कें जर्जर हैं। इनके अलावा मोतीझील से चुन्नीगंज और माल रोड तक सड़क का बुरा हाल है। वीआईपी रोड पर गड्ढे, कई जगह बजरी फैली जिससे आने जाने में काफी दिक्कत होती है।

वहीं सचान गेस्ट हाउस से लेकर गोविंदपुरी पुल तक गड्ढे ही गड्ढे हैं। दीप सिनेमा रोड और किदवई नगर में जल निगम के गड्ढा खोदने के बाद लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है।

लाजपत नगर रोड, गुमटी बाजार रोड, अस्सी फिट रोड, संगीत टाकीज रोड, रावतपुर चौराहा, झकरकटी से यशोदा नगर रोड सहित कानपुर की अधिकतर सड़कों की हालत खराब है।

(कानपुर से अमित कटियार की रिपोर्ट)

गौरी लंकेश सिर्फ एक पत्रकार नहीं विचारक थीं, हत्या के विरोध में देश भर में प्रदर्शन, CBI जांच की मांग

संघी एजेंडा: OBC/SC/ST के खिलाफ साजिश,आरक्षण खात्मे से सरकारी नौकरी खत्म, नोटबंदी से प्राइवेट नौकरी खत्म

 जुमला साबित हुआ PM का भ्रष्टाचार मुक्ति का वादा, MP में करप्शन के खुलासे पर IAS दंपति का तबादला

आधा दर्जन केस वाले सांसद को PM ने बनाया केन्द्रीय मंत्री, लोग बोले ‘साफ छवि’ भी मोदी जी का जुमला है

फर्रुखाबाद: बच्चों की मौत मामले में DM-CM आमने सामने, DM ने योगी सरकार के खिलाफ दर्ज कराई FIR

BJP-RSS को धर्म से नहीं जाति से पकड़िए, RSS को हिन्दुवादी कहने से उसका जातिवादी चरित्र छुप जाता है

Related posts

Share
Share