You are here

DU में सामाजिक न्याय के लिए संघर्षरत प्रोफेसर के खिलाफ, BJP समर्थित टीचर फ्रंट ने दर्ज कराई FIR

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

सामाजिक न्याय के लिए संघर्षरत सिपाहियों को हमेशा इस बात की सावधानी बरतनी चाहिए कि जिन ताकतों के खिलाफ वो लड़ाई लड़ रहे हैं। वो मजबूत हैं और उसकी मानसिकता के लोग सिस्टम में हर जगह मौजूद हैं।

ऐसे में दलितों-पिछड़ों की हिस्सेदारी की आवाज उठाने वालों को इस बात के लिए सजग रहना चाहिए कि जन्मजात श्रेष्ठता का चोला ओढ़े लोग कभी भी आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसा ही एक मामला दिल्ली विश्वविद्यालय में सामने आया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के दयाल सिंह कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर केदार मंडल पेरो से अक्षम होने के बाद भी सामाजिक गैरबराबरी के खिलाफ बिगुल फूंके रहते हैं, चाहे आरक्षण का मसला हो या डीयू में शिक्षकों की भर्ती का मामला। केदार मंडल अक्षमता को भूलकर हाथों के सहारे चलकर हर जगह प्रदर्शन और संघर्ष में साथ नजर आते हैं।

इस बात का बदला निकालने के लिए भगवा मानसिकता के लोगों ने उनकी एक फेसबुक पोस्ट का सहारा लिया और उनके खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का मुकदमा दर्ज करवा दिया।

दरअसल प्रो. मंडल ने हिंदुओं की देवी दुर्गा पर एक पोस्ट अपनी फेसबुक वॉल पर लिखी थी। बस फिर क्या था पोस्ट पढ़ते ही विरोदी शिक्षकों की भावनाएं आहत हो गईं।

बस फिर क्या था असिस्टेंट प्रोफेसर के खिलाफ बीजेपी के समर्थित नेशनल डेमोक्रेटिक टीचर फ्रंट के शिक्षकों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी। अध्यापकों का कहना है कि उनकी इस पोस्ट से धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंची है।

वहीं इस पूरे मामले पर असिस्टेंट प्रोफेसर केदार कुमार मंडल ने ‘नेशनल जनमत’ से बातचीत में कहा, अगर उनकी फेसबुक पर की गई टिप्पणी से किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो इसके लिए वह माफी मांगते हैं।

केदार कुमार मंडल ने कहा, इस संबंध में उन्होंने दिल्ली पुलिस को लिखित माफीनामा भी दे दिया है। उनका मकसद किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाना नहीं था। श्री मंडल ने कहा कि माफीनामे के बाद भी उनकी सक्रियता से से जलन रखने वाले कुछ लोग उनके पीछे पड़े हुए हैं।

शुक्रवार को डाली थी पोस्ट- 

असिस्टेंट प्रोफेसर ने बीते शुक्रवार को आठ बजे के आसपास अपनी फेसबुक पोस्ट अपडेट की थी। विवाद बढ़ता देख उन्होंने उस पोस्ट को फेसबुक पेज से हटा भी दिया था।

इसके बाद भी दयाल सिंह कॉलेज के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने असिस्टेंट प्रोफेसर को सस्पेंड किए जाने की मांग की है।

पुलिस के मुताबिक, केदार कुमार मंडल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए और 295 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है।

BHU VC की तानाशाही: लाठीचार्ज के बाद, गर्ल्स हॉस्टल खाली कराकर, छात्राओं को जबरन घर भेजने का फरमान

BHU: ‘तुम रेप कराने के लिए रात में बाहर जाती हो’ क्या ऐसे कुलपति को बर्खास्त नहीं करना चाहिए PM मोदी को ?

PM की काशी: VC के निर्देश पर देर रात BHU में पुलिस घुसने से बवाल, न्याय मांग रहीं छात्राओं पर बरसाई लाठियां

पटेल-दलित आंदोलन का दिखने लगा असर, गुजरात चुनाव से पहले BJP नेता ने थामा कांग्रेस का हाथ

नोएडा से अगवा कर लड़की से चलती कार में सामूहिक बलात्कार, दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास फेंका

भगवाराज: गरबा में आने वालों को गौमूत्र से शुद्धिकरण और लाल तिलक लगाए बिना नहीं मिली एंट्री

Related posts

Share
Share