You are here

उपेक्षा से नाराज कुर्मी महासभा का BJP को करारा जवाब, सपा प्रत्याशी नागेन्द्र सिंह पटेल को समर्थन का ऐलान

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

भारत-पाकिस्तान, भारत-चीन, चाइनीज झालर, भारत माता की जय, बंदेमातरम, हिन्दु-मुस्लिम, मंदिर-मस्जिद जैसे मुद्दों में उलझाकर व धर्म की चासनी मेें लपेटकर लोकसभा पिछड़े वर्ग का वोट हड़प लेने वाली भारतीय जनता पार्टी को फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में अखिल भारतीय कुर्मि क्षत्रिय महासभा ने करारा जवाब दिया है।

अखिल भारतीय कुर्मी क्षत्रिय महासभा इलाहाबाद इकाई ने 4 मार्च को बगई कला (बदनामा) सहसों इलाहाबाद में कुर्मी महासभा के जिलाध्यक्ष ऋषिराम पटेल की अध्यक्षता में एक बैठक की। जिसमें छद्म मुद्दों में फंसने की बजाए वास्तविक मुद्दों के आधार पर व समाज में हिस्सेदारी देने वालों को वोट देने की अपील की गई।

अारक्षण विरोधी नीतियों का विरोध- 

बैठक के दौरान वक्ताओं ने भाजपा की आरक्षण विरोधी नीतियों, तकनीकी संस्थाओं का निजीकरण, शिक्षण संस्थाओं में बेतहाशा शुल्क वृद्धि , विश्व विद्यालयों में आरक्षण कटौती, बैक लॉग की भर्ती न करने, किसानों की कर्ज माफी का झूठा अाश्वासन, बिजली का बिल दोगुना करना, खाद एवं बीज पर छूट ना देने जैसे मुद्दों पर नाराजगी जाहिर की।

इसके अलावा लोगों की अभिव्यक्ति छीनकर तानाशाही करने हेतु यूपी कोका कानून लागू करना, बैंको में हो रहे गम्भीर भ्रष्टाचार, बढ़ती बेरोजगारी एवं कुर्मी समाज की निरन्तर हो रही उपेक्षा को लेकर महासभा ने बीजेपी सरकार की कड़े शब्दों में निंदा की।

वक्ताओं ने कहा भारतीय जनता पार्टी द्वारा कुर्मी समाज का वोट लेने के बाद उन्हें असहाय छोड़ दिया गया, जिसके कारण दबंगो द्वारा समाज के कई लोगों की हत्याएं हुई। इन हत्याओं के बाद पुलिस प्रशासन का मुद्दा निराशाजनक रहा।

सपा प्रत्याशी को सशर्त समर्थन दिया- 

बैठक में समाजवादी पार्टी के पिछले कार्यकाल के प्रति लोगो ने गहरी नाराजगी जताई। समाज का मानना था कि सरकार रहते हुए कुर्मी समाज की घोर उपेक्षा हुई। लेकिन मौजूदा सरकार ने तो समाज को दरकिनार ही कर दिया।

इसलिए फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी नागेन्द्र सिंह पटेल को इस शर्त पर समर्थन देने का निर्णय लिया गया कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिस प्रकार नरेश उत्तम पटेल को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है उसी तरह आगे भी कुर्मी समाज को उनकी संख्या के आधार पर संगठन तथा शासन सत्ता में भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।

बैठक के संयोजक कुर्मी महासभा के प्रांतीय संगठन सचिव राजेन्द्र पटेल व संचालन डॉ0 हरिश्चन्द्र पटेल ने किया।

बैठक में डॉ0 अमर सिंह पटेल, अजीत पटेल, कंचन पटेल , अजय पटेल, कमल पटेल, राजकुमार, वीरेंद्र पटेल ,संजय पटेल , अमर सिंह , अशोक कुमार, महेंद्र पटेल, रामराज पटेल, शिवजीत पटेल, शरद पटेल, अनूप पटेल , जय सिंह, राम सिंह, मुकेश पटेल, राम सेवक पटेल , प्रेमचन्द्र पटेल, अभिमन्यु पटेल , नीरज पटेल, डीआर सिंह, कुलदीप पटेल , गंगाराम पटेल , रामसिया पटेल, राज बहादुर, दिनेश कुमार पटेल, गुलाब सिंह , लालमणि पटेल , देवराज पटेल, राम लखन पटेल , हरिश्चन्द्र पटेल एवम राम बहादुर पटेल सहित भारी संख्या में समाज के लोग उपस्थित रहे।

8 साल की बच्ची के रेप के आरोपियों को BJP मंत्रियों का साथ, बोले पुलिस ने गिरफ्तार किया तो आंदोलन करेंगे

पिछड़े वर्ग का तीसरा बौद्धिक सम्मेलन 18 मार्च को लखनऊ में, देश भर से जुटेंगे सामाजिक चिंतक

जिंदगी बचाने के लिए छतरपुर की कांस्टेबल रीना पटेल को मिलेगा राष्ट्रपति सम्मान उत्तम जीवन रक्षा पदक

OBC के बाद, SC-ST छात्रों को आर्थिक मदद बंद, मोदी सरकार दलित-पिछड़ों को उच्च शिक्षा से रोकना चाहती है

 

Related posts

Share
Share