You are here

CBI छापों के बाद लालू की मोदी-शाह को चेतावनी, फांसी पर चढ़ जाऊंगा पर दोनों का अहंकार जरूर तोडूंगा

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

मोदी सरकार द्वारा राजद अध्यक्ष लालू यादव के खिलाफ पहले इन्कम टैक्स विभाग फिर सीबीआई के इस्तेमाल से राजनीति गर्मा गई है। सीबीआई हमलों के बाद मोदी-शाह पर राजनीतिक अस्त्र के रूप में सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए लालू यादव ने दोनों को कड़े शब्दों में चुनौती दी है। पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को चेतावनी भरे लहजे में कहा कि “मैं फांसी पर चढ़ जाऊंगा पर तुम दोनों का अहंकार जरूर तोडूंगा”।

इसे भी पढ़ें…भोजपुरी फिल्म का पोस्टर फेसबुक पर पोस्ट करके बीजेपी नेता बोली, देखो बंगाल में मुस्लिम क्या कर रहे हैं

जनता दी दवा से करूंगा इलाज- 

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह हमें मिटाना चाहते हैं। लेकिन ऐसे चिल्लर और खटमल का इलाज मैं जनता की दवा से करूंगा। फांसी पर हम लटक जाएंगे, लेकिन इनके अहंकार को जनता की ताकत से मिटाकर रहेंगे।
27 अगस्त को पूरे बिहार की जनता और देशभर के विपक्षी नेता गांधी मैदान में जुटेंगे। उनके बीच हम पूरी बात रखेंगे।

बिहार से भगाया है अब देश से भगाना है- 

प्रेस वार्ता में लालू बोले हमने इनको बिहार से भगाया है। अब देश से भगाने का ऐलान कर चुके हैं। यही कारण है कि झूठे आरोपों से हमें घेरने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन कोर्ट और जनता पर हमें पूरा भरोसा है। हम पर केस किया तो किया बच्चों और बीवी तक को फंसा दिया है। जब का मामला है तब तेजस्वी नाबालिग थे। राबड़ी देवी भी किसी पद पर नहीं थीं।

इसे भी पढ़ें…उधर पीएम मोदी पर हमलावार हुए लालू तो सरकारी तोते सीबीआई को याद आया 11 साल पुराना मामला

एनडीए सरकार के फैसले में मेरा नाम घसीटा जा रहा है- 

लालू यादव ने कहा जिस मामले में हमको घसीटा जा रहा है, वह फैसला अटलजी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में हुआ था। 2003 में होटलों को आईआरसीटीसी को देने का फैसला अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने किया। 2006 में आईआरसीटीसी ने ओपेन टेंडर से रांची, पुरी, हावड़ा और दिल्ली के होटलों को लिया। जिसने बड़ी बोली लगाई उसे टेंडर मिला। अगर कोई गड़बड़ी होती तो उसी समय दूसरे भागीदार केस कर देते। इन होटलों से एक करोड़ 15 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हो रहा है।

इसे भी पढ़ें…रायबरेली में मारे गए हमलावरों को अपराधी कहते ही ब्राह्मण संगठन बने स्वामी प्रसाद मौर्या के दुश्मन

लालू यादव का सीबीआई से सवाल, रावड़ी और तेजस्वी को किसके कहने पर फंसाया- 

लालू यादव का कहना है कि इस मामले में आखिर राबड़ी देवी और तेजस्वी को क्यों फंसाया गया, लालू के मुताबिक तेजस्वी उस वक्त नाबालिग था।उन्होंने कहा कि हमारे पूरे परिवार ने सीबीआई को पूरा सहयोग किया। आगे भी हम हमेशा उपलब्ध हैं। हमें कोई डर नहीं है। कोई गलती नहीं की है। राबड़ी देवी और तेजस्वी से पूछताछ की बात सनसनी फैलाने के लिए कही गई। यहां किसी से कोई पूछताछ नहीं हुई है।

Related posts

Share
Share