You are here

लखनऊ से दिल्ली तक पहुंचा शिक्षा मित्रों का गुस्सा, बोले न्याय लिए बिना यहां से हिलेंगे नहीं

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो। 

उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्र इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से समायोजन रद्द किए जाने के बाद हताश, निराश यूपी के शि‍क्षा मित्र आर पार की लड़ाई पर उतर आए हैं। इन शिक्षा मित्रों के विरोध प्रदर्शन की आग अब लखनऊ से होती हुई दिल्ली तक पहुंच गई है।

उत्तर प्रदेश के हजारों शिक्षामित्र दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हैं। ये शिक्षा मित्र यूपी की योगी सरकार से बेहद खफा हैं। शिक्षा मित्रों का कहना है अगर योगी हमारी एक समस्या को हल नहीं कर पा रहे हैं तो उन्हें मंदिर में जाकर घंटा बजाना चाहिए। वहीं शिक्षामित्रों ने अपने धरने को आमरण अनशन में बदलने की चेतावनी भी दी है।

दस हजार रुपये मानदेय से असंतुष्‍ट शिक्षामित्रों का जंतर-मंतर पर 11 सितंबर से चल रहा धरना प्रदर्शन 14 सितंबर तक चलेगा। उन्होंने कहा है कि यदि सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी तो वे इसे अनिश्चितकालीन अनशन में तब्दील करेंगे।

शिक्षामित्रों के धरने को सफल और असरदार बनाने के लिए शिक्षामित्र संघ के नेताओं ने जिले से लेकर गांव तक शिक्षामित्रों से मुलाकात कर उन्हें दिल्ली चलने के लिए कहा था। यूपी के हर जिले में इसकी बाकायदा तैयारी भी की गई थी।

आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र शाही का कहना है कि 50 हजार से अधिक शिक्षामित्र दिल्ली पहुंच चुके हैं। वहीं शिक्षामित्र संघों के बड़े नेता भी दिल्ली पहुंच कर डेरा जमा चुके हैं।

उधर उत्तर प्रदेश सरकार ने आंदोलन कर रहे शिक्षामित्रों पर विभागीय कार्रवाई के लिए कमर कस ली है। शासन ने सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को इस बाबत निर्देश जारी करते हुए सभी शिक्षामित्रों की उपस्थिति का रोजाना का लेखा जोखा मांगा है।

आपको बता दें, शिक्षामित्रों का समायोजन 25 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट द्वारा रद्द कर दिया गया था। वहीं उन्हें टीईटी पास करने के बाद ही भर्ती में मौका देने की बात फैसले में कही गई थी। लेकिन शिक्षामित्र लगातार इसका विरोध कर रहे हैं।

धार्मिक CM का जंगलराज: कानपुर देहात से गायब हुई बच्चियों का आंख निकला शव इटावा में मिला

JNU के बाद नौजवानों ने दिल्ली विश्वविद्यालय में भी भगवा सोच को नकारा, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पर NSUI का कब्जा

सुबह छेड़छाड़ केस में BJP अध्यक्ष के बेटे की जमानत खारिज हुई, शाम को पीड़िता के IAS पिता का तबादला हो गया

सावधान ! आपके महापुरुष चुराकर, आपको छला जा रहा है, संगठित रहिए …

 

Related posts

Share
Share