You are here

लखनऊ: सरदार पटेल स्टूडेंट सपोर्ट प्रोग्राम के तहत सिविल सेवा में चयनित मेधावियों का सम्मान आज

नई दिल्ली। नीरज भाई पटेल (नेशनल जनमत)

एक व्हाट्स अप ग्रुप को कैसे समाज की ताकत बनाया जाए ये भी एक मिशन से कम नहीं. ऐसा ही एक ग्रुप है जो ना सिर्फ सिविल सेवा की तैयारी रहे छात्रों को उनकी जरूरत का स्टडी मटेरियल उपलब्ध कराता है. बल्कि वर्तमान सिविल सेवा में कार्यरत अधिकारियों से सम्पर्क कर ग्रुप में ही वर्कशॉप भी आयोजित कराता है.

इस ग्रुप का नाम है सरदार पटेल स्टूडेंट सपोर्ट प्रोग्राम. हर बार की तरह इस बार भी इस प्रोग्राम में शामिल कई छात्रों का चयन देश की सबसे बड़ी परीक्षा मानी जाने वाली आईएएस में हुआ है. पिछड़े- दलित एवं आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए चलाए जा रहे इस प्रोग्राम को साल दर साल सफलता मिलती जा रही है।

हाल में ही आए सिविल सेवा परीक्षा में इस ग्रुप से कई छात्र-छात्राओं को चयन सिविल सेवा में हुआ है। ऐसे प्रतिभाशाली छात्रों से तैयारी कर रहे छात्रों को प्रेरणा दिलाने के मकसद से छह मई यानि आज सरदार पटेल स्टूडेंट सपोर्ट प्रोग्राम के तहत मेधावी छात्र-छात्रा सम्मान समारोह आयोजित किया जा रहा है।

 

कार्यक्रम संयोजक अमरेश कुमार पटेल ने बताया कि कार्यक्रम में सिविल सेवा में चयनित छात्र-छात्राओं के सम्मान के साथ ही छात्रों को स्कॉलरशिप मुहैया कराने वाले समाजसेवियों और उनके लिए मेंटर्स की भूमिका निभाने वाले शिक्षकों (अधिकारियों) का सम्मान भी किया जाएगा। इसके अलावा आगे इस सपोर्ट प्रोग्राम को कैसे आगे बढ़ाया जाए इस पर भी चर्चा होगी।

5100 रुपये का सहयोगी लंच- 

कार्यक्रम की तैयारियों में शामिल भारतीय डाक सेवा के अधिकारी राजीव उमराव ने बताया कि इस कार्यक्रम में प्रति व्यक्ति 5100/-रुपये का फंड रेजिंग लंच रखा गया है। ताकि सपोर्ट प्रोग्राम में तैयारी करने वाले ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स को बेहतर तैयारी के लिए स्कॉलरशिप और जरूरी मटैरियल उपलब्ध कराया जा सके।

स्थान– होटल नोवोटेल, गोमती नगर लखनऊ समय – 11 बजे दिन में

यहां पैसा लिया नहीं दिया जाता है-

इस प्रोग्राम में छात्रों से किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाता है बल्कि आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को परीक्षा की तैयारी के लिए सहयोग भी उपलब्ध कराया जाता है. यह कार्यक्रम मुख्य रूप से कई स्वयंसेवकों के द्वारा चलाया जा रहा है.

कोई भी व्यक्ति जिसने की सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण की हो वह इसमें स्वयंसेवक की तरह मेंटर बन सकता है. हां इस कार्य के लिए उसे किसी प्रकार का कोई भुगतान नहीं किया जाता है. क्योंकि ये स्वयं में एक सेवा है.

 

देशभर के छात्र व्हाट्सअप से कर सकते हैं पढ़ाई-

इस कार्यक्रम की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि छात्रों को कहीं भी जाने की कोई आवश्यकता नहीं होती है। कोई भी छात्र केवल व्हाट्सअप ग्रुप के माध्यम से अपने घर में रहकर पढ़ाई कर सकता है। इस प्रोग्राम में भाग लेने के लिए उसे केवल इनके व्हाट्सअप नम्बर 9532748860 पर अपना विवरण भेजना होता है।

ना कोई बैंक खाता ना कोई ऑफिस-

कार्यक्रम की सबसे बड़ी विशेषता है कि इनका कोई बैंक खाता नहीं है। इस बारे में संयोजक अमरेश कुमार का कहना है कि हम सीधे किसी प्रकार के धन का कोई लेन-देन नहीं नहीं करते हैं. इसलिए हमारा कोई बैंक खाता नहीं है.

सीधे सहयोग देने वाले को छात्र का एकाउंट नम्बर दिया जाता है. विश्व में अपनी तरह का शायद यह पहला प्रयोग है जिसमें की कोई संस्था बिना किसी खाते के लोगों को आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराती है.

इस प्रोग्राम में छात्रों का मार्गदर्शन करने वाले आईआरएस ऑफीसर मनोज पटेल कहते हैं – मैंने बेहद ही ग्रामीण परिवेश में रहकर पढ़ाई की है। जब मैं उन छात्रों का मार्गदर्शन करता हूँ तो मुझे लगता है कि मैं अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभा पा रहा हूँ।

योगीराज: अब लखीमपुर में जिला पंचायत सदस्य किरण वर्मा की गोली मारकर हत्या, कुर्मी समाज में आक्रोश

क्या इस बात पर चिंता नहीं करनी चाहिए कि देश के PM जनता को बहकाने के लिए झूठ भी बोल देते हैं?

जेठ पर हमला: अनुप्रिया पटेल के विरोध में आया विश्व हिन्दु परिषद, MLC आशीष पटेल पर लगाए गंभीर आरोप

योगीराज: केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के पति MLC आशीष पटेल के भाई के साथ सरेआम मारपीट व लूट

लखनऊ: आरक्षण खात्मे के विरोध में सामाजिक न्याय सम्मेलन 6 मई को, देश भर से होगा दिग्गजों का जुटान

 

Related posts

Share
Share