You are here

सहारनपुर हिंसा के विरोध में छात्र संगठनों का संयुक्त विधानसभा मार्च 31 को

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

सहारनपुर जातीय संघर्ष को लेकर सत्ता पक्ष का जो रवैया है वो तो है ही विपक्ष भी बंद कमरों में मीटिंग करके कड़ी निंदा करके बात खत्म कर दे रहा है. ऐसे में देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों से जुड़े जागरूक छात्रों ने ज्वाइंट एक्शन कमेटी का गठन किया है. सहारनपुर हिंसा और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के विरोध में ये ज्वाइंट एक्शन कमेटी 31 मई को लखनऊ विधानसभा तक मार्च निकालेगी.

दिल्ली, पटना, इलाहाबाद, लखनऊ से पहुंचेंगे छात्र-

इस कमेटी में मुख्यरूप से जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्वविद्यालय, इलाहाबाद विश्वविद्यालय और पटना विश्वविद्यालय से जुड़े छात्र रहेंगे. यूनाईटेड ओबीसी फोरम के नेता दिलीप यादव ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि देश के सभी जनवादी छात्र संगठन सहारनपुर जातीय हिंसा के विरोध में बनने वाली ज्वाइंट एक्शन कमेटी का हिस्सा होंगे.

कविता पढ़ें- सहारनपुर जातीय दंगों पर लिखी ये कविता आपके रोंगटे खड़े करे देगी

समाजवादी छात्रसभा से जुड़े एक नेता का कहना है कि सहारनपुर में हुए जातीय दंगों के खिलाफ बनने वाली इस ज्वाइंट एक्शन कमेटी को पूरे देश का समर्थन मिल रहा है. बड़ी संख्या में छात्रों ने लखनऊ मार्च में शामिल होने की बात कही है. इस मामले में हम लोग हैदराबाद यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु यूनिवर्सिटी और बंगाल यूनिवर्सिटी के छात्रों से सम्पर्क में हैं.

जरूर पढ़ें-योगीराज में ठाकुर-ब्राह्मणों का थानों पर कब्जा, दलित पिछड़ों का झुनझुना

आपको बता दे कि जबसे यूपी मे योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली भाजपा की सरकार बनी है, तबसे सारे यूपी में जातीय दंगे और हत्या, बलात्कार, लूट,बलवा, फसाद बढ़ते जा रहे हैं. सहारनपुर जातीय दंगों में भी अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है. इन दंगों में योगी सरकार पर दलितों के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण कार्रवाई करने का आरोप लग रहा है.

जरूर पढ़ें- सांसद द्विवेदी जी बोले, बीजेपी के खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों पर कार्रवाई होगी

Related posts

Share
Share