You are here

अब IIT मद्रास में बीफ के नाम पर एबीवीपी की गुंडई, बुरी तरह घायल सूरज के समर्थन में प्रदर्शन

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

मद्रास आइआइटी में खान पान को मुद्दा बनाकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के लोगो द्वारा किए गए जानलेवा हमलें में पीएचडी स्कॉलर सूरज बुरी तरह से घायल हो गए. अब आरोपियों की गिरफ्तारी और अंबेडकर पेरियार स्टडी सर्किल से जुड़े छात्र सूरज को न्याय दिलाने के लिए चारों तरफ से आवाज उठने लगी है.

इसे भी पढ़ें-अगर आप जुल्म के खिलाफ हैं तो पढ़िए वीरांगना फूलन देवी निषाद पर लिखी ये कविता

आइआइटी मद्रास में बीफ खाने के नाम पर एबीवीपी और हिन्दूवादी संगठनों से जुड़े छात्रों का निशाना बने एयरोस्पेस डिपार्टमेंट के पीएचडी रिसर्च स्कॉलर सूरज आर ने मनीष समेत अन्य आरोपी छात्रों पर कार्रवाई की मांग की है. पुलिस को दिए बयान में सूरज ने बताया कि उनके पिता का नाम राजागोपालन है. और वो केरल के मल्लापुरम के रहने वाले हैं.

ये भी पढ़िए- योगीराज में कानून व्यवस्था खतम.अब डीआईजी के लड़के को गोली मारी

क्या था पूरा मामला-

पीड़ित स्कॉलर सूरज ने बताया कि वो 30 मई 2017 को दोपहर करीब 2 बजे हिमालय मेस में लंच कर रहा था तभी ओशियन इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के मनीष कुमार सिंह, रसायन विभाग के अखिल प्रताप सिंह समेत 6 छात्र मेरे पास आए और मेरी टेबल पर बगल में बैठ गए. मैंने मनीष से पूछा कि वह मेरा व्यक्तिगत विवरण क्यों पूछ रहा है तो उसने जवाब दिया किया कोई खास वजह नहीं है. इसके बाद वह मुझसे बीफ खाने के बारे में सवाल करने लगा. जब मैंने हां में जवाब दिया तो वह मुझपर गुस्साया और जैन मेस आने को कहा. मैं उसके सवालों का कुछ जवाब देना ही चाह राह था कि उसने मेरे सिर के पिछले हिस्से पर जोरदार तरीके से मारा.

जैसे ही मनीष ने मुझपर हमला किया वैसे ही अखिल प्रताप सिंह और अन्य पांच छात्र मेरी तरफ आए और मुझे चारों तरफ से घेर लिया। मनीष मेरे बालों को पकड़ कर मेरे सिर को नीचे झुका रखा था और बाकी छात्र मेरे चेहरे पर लगातार मुक्का मार रहे थें. इस हमले से मेरे चेहरे पर काफी चोट आई है और कई जगह की हड्डियां टूट गई है। फिलहाल मैं अपोलो वेनाग्राम में इलाज करा रहा हूं। एक सप्ताह के बाद ही मेरे चेहरे के सूजन, नाक से निकलने वाले खून और आंख की रौशनी की प्राप्ति के बारे में कुछ जानकारी मिल सकती है.

ये भी पढ़िए- अच्छा तो शर्मा जी को गाय के ऑक्सीजन वाला गौ ज्ञान आज तक की मैडम से मिला है

अभी तक नहीं हुई आरोपी की गिरफ्तारी-

पुलिस ने मेरा बयान भी ले लिया है. लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी का इंतजार है. सबसे ज्यादा चिंता का विषय ये है कि संस्थान में मनीष पहले से ही एक मुजरिम के तौर पर जाना जाता रहा है और कई छात्रों को जान से मारने की भी धमकी दे चुका है। इस हमले से पता चलता है कि यह योजनाबद्ध था और इस हमले के लिए मनीष ने फेसबुक पर धमकी भी दिया था। पीड़ित स्कॉलर सूरज ने गुहार लगाई है कि जितना जल्द हो सके इस मामले में कार्रवाई की जाए क्योंकि मेरी जान को खतरा बना हुआ है। मुझपर हमला करने के बाद मनीष संस्थान के अस्पातल में और कहा कि ये तो महज शुरूआत है.

इसे भी पढ़ें- जानिए मोरनी को आंसू से गर्भवती करने वाले शर्मा जी कैसे बन गए हाईकोर्ट में जज

इस बीच चारों तरफ से पीड़ित स्कॉलर सूरज के समर्थन में, खान पान को लेकर हुए हमले को अमानवीय करार देते हुए विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं. आइआइटी मद्रास के निदेशक ने कड़े शब्दों में डीन को पत्र लिखा है. संस्थान के छात्रों ने भी आइआइटी प्रबंधन को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है.

Related posts

Share
Share