You are here

योगी सरकार का फरमान, मदरसों में 15 अगस्त की वीडियोग्राफी करवाएं, मुस्लिम बोले कब तक देंगे सबूत?

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

स्वतंत्रता दिवस को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का एक फरमान चर्चा में है. दरअसल राज्य में मदरसा शिक्षा परिषद की ओर से प्रदेश के सभी मदरसों को पत्र जारी कर स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लाह से मनाने के निर्देश दिए गए हैं.

इस निर्देश में कहा गया है कि 15 अगस्‍त पर सुबह आठ बजे झंडारोहण एवं राष्ट्रगान होगा. सुबह आठ बजकर 10 मिनट पर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी. इसके अलावा पत्र में सबसे नीचे अलग से लिखा गया है कि ऊपर बताए गए सभी कार्यक्रमों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करा लें.

इस आदेश पर मुस्लिम संगठनों का साफ कहना है कि वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी क्यों? आखिर हमसे बार-बार सबूत क्यों मांगा जाता है देशभक्ति का?

हालांकि निर्देश के अनुसार ऐसा इसलिए कहा गया है ताकि उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले मदरसे के कार्यक्रम को भविष्य में प्रोत्साहित किया जा सके और आगे वर्षों में इसके आयोजन को बढ़ावा दिया जाए.

योगी सरकार के इस फैसले पर कई मुस्लिम संगठनों ने सवाल उठाया है कि क्या सरकार उन्हें शक की नजर से देखती है. इस पूरे मामले पर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मोहसिन रज़ा का कहना है कि यूपी मदरसा शिक्षा परिषद की ओर से यह अच्छी पहल है, 15 अगस्त को मदरसों में तिरंगा फहराया जाना चाहिए, राष्ट्रगान होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि सरकार तमाम वीडियो की समीक्षा करेगी और बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को बढ़ावा देने का साथ सम्मानित करेगी. हमारी सरकार सबका साथ सबका विकास पर भरोसा करती है.

वहीं वरिष्ठ भाजपा नेता और राज्य सभा सांसद विनय कटियार ने कहा कि स्कूल/मदरसों ने राष्ट्रगान अनिवार्य होना चाहिए और राष्ट्र ध्वज फहराया जाना चाहिए. जो लोग ऐसा करने के लिए सहमत नहीं होते हैं उन्हें ‘देशद्रोही’ कैटेगरी में रखना चाहिए.

Related posts

Share
Share