You are here

सो रही मोदी सरकार को जगाने देश भर से दिल्ली पहुंचीं महिला किसान, फसल के उचित मूल्य की मांग

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार के लिए ‘मर जवान, मर किसान’ का तंज कसने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के राज में किसान सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने पर मजबूर हैंं।

सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर भी सवाल उठ चुके हैं कि सत्ता में आने के बाद पीएम को अपने आवास से चंद कदम दूरी पर जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की तकलीफ सुनने का वक्त नहीं है लेकिन उसी दौरान अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा से मिलने का समय जरूर मिल गया।

महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश में किसानों के प्रदर्शन के बाद भी किसानों को अपनी ही फसल का उचित दाम नहीं मिल पा रहा है। बुधवार को महिला किसान भी सो रही सरकार से अपनी फसल का सही मूल्य मांगने दिल्ली पहुंच गईं।

अपने हकों, अधिकारों की मांगों को लेकर अब महिला किसान भी आवाज उठाने लगी हैं। फसल की न्यूनतम समर्थन मूल्य में किसानों की लागत मूल्य को समुचित रूप से शामिल करने की मांग को लेकर बुधवार को देश के विभिन्न हिस्सों से आईं महिला किसान दिल्ली स्थित कृषि कीमत एवं मूल्य आयोग की चौखट पर पहुंच गईं।

ये महिला किसान आयोग के सचिव प्रो.विजय पाल शर्मा से जानना चाहती थीं कि ऐसी हालत में उनका परिवार कैसे चलेगा। दक्षिण हरियाणा के रेवाड़ी की महिला किसान राजबाला यादव का कहा कि किसान में परिवारों को भोजन, कपड़ा, बच्चों को शिक्षा, स्वास्थ्य आदि पर खर्च वहन करना पड़ता है।

किसान साल भर की कठित परिश्रम से जो फसल उपजाते हैं, उसका कीमत बाजार से काफी कम होता है, जिसकी वजह से उसे लागत मूल्य भी प्राप्त नहीं हो पाता है। उन्होंने मांग की कि उत्पादन लागत के मुकाबले कम से कम 50 परसेंट लाभ का मार्जिन होना चाहिए और सभी किसानों के लिए कानूनी अधिकार सुनिश्चित करवाएं।

रेवाड़ी स्वराज अभियान की कुसुम यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी अपने चुनाव अभियान के दौरान लागत का न्यूनतम 50 परसेंट अधिक मूल्य का वादा भारतीय जनता पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में भी शामिल था। लेकिन अब तक इसे लागू नहीं किया गया।

BJP समर्थित मुफ्ती सरकार ने हत्‍या, आगजनी, दंगों के आरोपी को सौंप दी, जम्मू-कश्मीर खेल टीम की कमान

VIP कल्चर खत्म ? CM रमन सिंह की बहू के लिए खाली करा दिया सरकारी अस्पताल का पूरा फ्लोर

BJP नेता की मुस्लिम वोटर्स को धमकी, मेरी पत्नी को नहीं दिया वोट, तो सपा भी बचाने नहीं आएगी

झारखंड के बाद UP के ‘रामराज’ में भी बिना आधार नहीं मिला राशन, बीमार महिला की भूख से मौत

योगी सरकार का फरमान अब UP बोर्ड परीक्षा में भी आधार कार्ड अनिवार्य, नहीं लाने वालों की ‘नो एंट्री’

 

Related posts

Share
Share