You are here

परशुराम को इंजीनियर बताने वाले CM मनोहर पर्रिकर की मीडिया को वैज्ञानिक सोच रखने की नसीहत

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

अपनी मां का गला काटने वाले परशुराम जैसे नृशंस व्यक्ति को प्राचीन भारत का इंजीनियर बताने वाले गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर मीडिया को वैज्ञानिक सोच रखने की नसीहत दे रहे हैं।

इंजीनियरिंग को प्राचीन भारत की कला बताने वाले पर्रिकर ने कहा कि मीडिया के लिए वैज्ञानिक सोच ज़रूरी है जिससे कि खबरों के माध्यम से समाज को अधिक से अधिक लाभ मिल सके.

हाल ही में अपने एक बयान में परशुराम को इंजीनियर करार देते हुए पर्रिकर ने कहा था कि भगवान परशुराम के बारे में माना जाता है कि उन्होंने गोवा का सृजन किया और वह जरूर एक इंजीनियर रहे होंगे.

किसी सामान्य व्यक्ति का पोगापंथी होना कोई बड़ी बात नहीं लेकिन देश के संविधान के हिसाब से किसी मुख्यमंत्री का प्रदेश को अवैज्ञानिकता में झोंक देना सर्वथा गलत है। संविधान उम्मीद करता है कि कोई भी सरकार प्रदेश या देश को वैज्ञानिक सोच के साथ आगे ले जाएगा।

पौराणिक कथाओं का जिक्र किया था पर्रिकर ने- 

पौराणिक कथाओं के अनुसार गोवा के उदय का हवाला देते हुए पर्रिकर ने कहा था, ऐसा कहा जाता है कि भगवान परशुराम ने गोवा का सृजन किया. मेरा मानना है कि परशुराम इंजीनियरों की बिरादरी से ही रहे होंगे, जिन्होंने समुद्र से जमीन निकाल ली.’

इंजीनियर दिवस पर एक कार्यक्रम में पर्रिकर ने कहा था, हजारों साल पहले हमें हस्तिनापुर या पांडवों के महल के बारे में पता था, जिसमें हर तरह की प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल देखा गया. इंजीनियरिंग भारत की बहुत पुरानी कला और कौशल है, जिसे आधुनिक युग में मान्यता दी गई है.’

आधुनिक तकनीक और प्राचीन कला बताकर उसे मिथक और धार्मिक मान्यताओं से जोड़ने वाले पर्रिकर ने अब मीडिया के लिए वैज्ञानिक सोच की वकालत की है.

वे मंगलवार को दोना पावला स्थित राष्ट्रीय समुद्र विज्ञान संस्थान में आयोजित ‘हिंद महासागर: आर्थिक एवं भू रणनीतिक महत्व’ विषय पर आयोजित एक कार्यशाला में बोल रहे थे.

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित इस कार्यशाला में देशभर से 27 मीडियाकर्मी भाग ले रहे हैं. पर्रिकर ने कहा कि वैज्ञानिक खोजों को समाज तक पहुंचाने में मीडिया बहुत बड़ी भूमिका निभा सकता है. मीडियाकर्मियों के लिए वैज्ञानिक सोच बहुत ज़रूरी है जिससे कि समाज को अधिक से अधिक लाभ मिल सके.

उन्होंने कहा, ‘बड़ी धूमधाम से शुरु की गई बुलेट ट्रेन परियोजना अहंकार की कवायद है। क्या प्रधानमंत्री नें ब्रॉड गेज रेलवे को अपग्रेड करके हाईस्पीड ट्रेन के विकल्पों के बारे में सोचा है?’

गुजरात चुनाव: पूर्व PM मनमोहन सिंह बोले कानूनी डकैती थी नोटबंदी, भारत के बजाय चीन को हुआ फायदा

देश भर में प्राइवेट नौकरियों में आरक्षण की मांग करके CM नीतीश कुमार ने खेला बड़ा राजनीतिक दांव

जयंत सिन्हा, BJP MP आर के सिन्हा, अमिताभ बच्चन समेत 714 भारतीयों के ‘कालेधन’ का खुलासा

BJP में आते ही ‘पवित्र’ हो गए शारदा घोटाले के आरोपी तृणमूल कांग्रेस नेता मुकुल रॉय, Y श्रेणी सुरक्षा मिली

नोटबंदी का 1 साल: नाकामी को ‘राष्ट्रवाद’ का सहारा, 50 हजार लोगों से राष्ट्रगान गवाएगी BJP सरकार

जस्टिस मुख्तार अहमद ने चंद्रशेखर की गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित मानते हुए जमानत मंजूर की

 

Related posts

Share
Share