You are here

परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह का बहनों को तोहफा, रक्षाबंधन पर रोडवेज की AC बसोंं में मुफ्त सफर

लखनऊ। नेशनल जनमत ब्यूरो 

उत्तर प्रदेश में परिवहन विभाग के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वतंत्रदेव सिंह ने रक्षाबंधन के मौके पर अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने जा रहीं महिलाओं को मुफ्त में परिवहन निगम की सभी बसों में यात्रा की सुविधा देने का फैसला किया है.

यह सुविधा 24 घंटे यानि छह अगस्त की रात से लेकर सात अगस्त की रात तक महिलाओं को यह सुविधा मिलेगी.

इसे भी पढ़ें-गर्व से कहो हम हिन्दू हैं”, मैं RSS से पूछता हूं पिछड़े किस बात पर हिन्दू होने का गर्व करें ?

सीएम ने की घोषणा-  

गुरुवार को उत्तर प्रदेश परिवहन के अलग-अलग बस डिपो, वाई-फाई समेत दूसरी सेवाओं का लोकार्पण करने के दौरान सीएम योगी ने यह घोषणा की. गुरुवार को सीएम योगी ने राज्य परिवहन के 7 बस डिपो का लोकार्पण और 3 बस डिपो का शिलान्यास किया. इसके साथ ही सीएम योगी ने यूपी के 66 जनपदों के 75 बस स्टेशनों पर wi-fi और 10 वॉटर एटीएम का शुभारंभ भी किया.

इस मौके पर स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि 22 करोड़ जनता की सेवा के लिए परिवहन निगम हमेशा तैयार है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश परिवहन को आत्मनिर्भर और यात्रियों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए हम लगातार कोशिश कर रहे हैं.

सीएम योगी ने कहा, ”एक समय लग रहा था कि परिवहन का निजीकरण हो जाएगा, लेकिन नई सरकार बनने के बाद सराहनीय काम किया गया है.”

इसे भी पढ़ें-इलाहाबाद वि.वि. के VC ने PM को लिखा पत्र, मेरे पहले के कुलपतियों ने 250 करोड़ का भ्रष्टाचार किया है

जिन्होंने पहले से बुकिंग कराई है उनका पैसा वापस होगा- 

रक्षाबंधन के दिन यात्रा के लिए जिन महिलाओं ने परिवहन निगम की बसों में एडवांस बुकिंग करा रखी है, यात्रा के बाद काउंटरों से उनके टिकट का पैसा वापस करने की भी व्यवस्था की जा रही है।

एसी बसों में भी नहीं खरीदना पड़ेगा टिकट- 

परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह ने बताया इस बीच निगम की साधारण किराए वाली बसों के साथ ही स्कैनिया और वॉल्वो जैसी अनुबंधित बसों में भी महिलाओं को टिकट नहीं खरीदना पड़ेगा।

परिवहन विभाग के अनुसार परिवहन निगम की करीब 12,500 बसों में प्रतिदिन औसतन 15 लाख लोग यात्रा करते हैं, जिसमें लगभग एक तिहाई संख्या महिलाओं की रहती है. यानी निगम करीब पांच लाख महिलाओं को यह सुविधा देगा।

इसे भी पढ़ें-खादी और खाकी के बीच जंग, BJP सांसद पुत्र ने SI पर तो SI ने सांसद पुत्र के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

निगम की बसों में यात्री औसतन 79 किलोमीटर का सफर करते हैं और साधारण किराया 86 पैसे प्रति किलोमीटर है। इस हिसाब से निगम महिलाओं की मुफ्त यात्रा के लिए करीब साढ़े तीन करोड़ रुपये खर्च करेगा।

Related posts

Share
Share