You are here

मायावती ने दिए अखिलेश के साथ जाने के संकेत, सामाजिक न्याय के नाम पर विपक्षी एकता की अपील

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो 

बसपा अध्यक्ष मायावती ने बदली राजनीतिक परिस्थितियोे के हिसाब से अपनी चिरप्रतिद्वंदी रही समाजवादी पार्टी यानि अखिलेश यादव के साथ जाने के भी संकेत दिए हैं। इसे प्रदेश में महागठबंधन की कोशिशों से जोड़कर देखा जा रहा है।

बहुजन समाज पार्टी ने मिशन 2019 के लिए विपक्ष को एकजुट रहने की अपील की है। विपक्षी एकता के लिए सोनिया गांधी से लेकर ममता बनर्जी की तमाम कवायदों के बाद अब यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की पार्टी बीएसपी ने पहल की है।

रविवार देर शाम बहुजन समाज पार्टी के ट्विटर हैंडल से एक पोस्टर ट्वीट करके विपक्षी दलों को एक साथ लाने की कोशिश की गई। बीएसपी के इस पोस्टर में पहली बार मायावती के साथ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव नजर आए।

बहुजन समाज पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से रविवार को एक पोस्टर जारी किया गया। इस पोस्टर में बीएसपी सुप्रीमो मायावती के साथ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, आरजेडी नेता लालू प्रसाद यादव, तेजस्वी यादव, जेडीयू के बागी शरद यादव और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तो हैं, लेकिन राहुल गांधी नहीं हैं।

यह पोस्टर पटना में लालू यादव द्वारा 27 अगस्त को प्रस्तावित विपक्ष की रैली से पहले आया है और इसे साझे विपक्ष की नई तस्वीर के तौर पर देखा जा रहा है। इस पोस्टर में लिखा है, ”सामाजिक न्याय के समर्थन में विपक्ष एक हो।”

बसपा के पूर्व प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने इसे रिट्वीट करते हुए लिखा है- बहनजी के नेतृत्व में विपक्ष समतामूलक समाज की दिशा में आगे। हालांकि यूपी बीएसपी के अध्यक्ष राम अचल राजभर ने इसे बीएसपी का ऑफिशल अकाउंट होने से इनकार किया है।

Related posts

Share
Share