You are here

अपना दल के किसान महासम्मेलनों में बोलीं पल्लवी पटेल, किसान विरोधी PM-CM को सत्ता से दूर करना होगा

नई दिल्ली/मिर्जापुर। नेशनल जनमत ब्यूरो। 

किसान विरोधी केन्द्र सरकार ने ये निर्णय तो ले लिया है कि पेट्रोल-डीजल के दाम हर दिन निर्धारित होंगे और निर्धारित करने का अधिकार भी देश के पूंजीपतियों के हाथों में होगा, लेकिन देश के अन्नदाता को उसकी फसल का उचित दाम देने के बदले बीजेपी की सरकारें उनको लाठियां दे रही हैं। ऐसी किसान विरोधी सरकार को देश से और प्रदेश से उखाड़ फेंकना होगा।

उक्त बातें अपना दल की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पल्लवी पटेल ने बतौर मुख्य अतिथि किसान महासम्मेलन को संबोधित करते हुए कहीं। 8 सितम्बर को रायबरेली से शुरू हुए अपना दल के किसान महासम्मेलन के अंतिम पड़ाव में पल्लवी पटेल मिर्जापुर की मड़िहान विधानसभा के कलवारी रामलीला मैदान में किसानों के अधिकार की लड़ाई लड़ने पहुंची थीं।

इस दौरान उमड़ी भीड़ से उत्साहित पल्लवी पटेल ने कहा कि मिर्ज़ापुर धान का कुंड है। यहां का किसान धान उत्पादन करके देश के एक बड़े हिस्से तक चावल पहुंचाता है। यहां का किसान उदास है क्योंकि किसान की फसल सूख रही है।

मिर्जापुर को पानी देने के लिए सोन लिफ्ट है, सोन पम्प से पानी दिया जा सकता है लेकिन सरकार सिर्फ 2 पम्पों से पानी दे रही है। जब कि सोन लिफ्ट में 6 पम्प उपलब्ध हैं। बीजेपी सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है। जाहिर है कि केंद्र और प्रदेश सरकार किसान विरोधी है।

इस दौरान विशिष्ट अतिथि राष्ट्रीय महासचिव प्रेम चंद्र मौर्य, राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य प्रो० गंगा राम यादव, राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य आर बी सिंह पटेल, प्रदेश अध्यक्ष छोटे लाल मौर्य, प्रदेश संगठन प्रमुख आनंदहीरा राम पटेल के पहुंचने पर पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा जोरदार स्वागत किया गया।

किसान महासम्मेलन में मांग- 

श्रीमती पटेल ने बताया कि प्रदेश के समस्त जनपदों में किसान सम्मलेन का आयोजन किया गया है, जिसमें निम्न मांगे प्रमुखता से उठाई गई हैं-

भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृषि आयोग का गठन

कृषि को उद्योग का दर्जा

फसल बीमा लागू करना

स्वमीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करना

किसानों को लागत मूल्य में 50% मुनाफा जोड़कर समर्थन मूल्य घोषित करना

मतदाता पेंशन लागू करना

आपस में नदियों को जोड़ने वाली परियोजनाओं को शुरू करना

किसानों की सम्पूर्ण कर्ज माफी

कृषि संबंधित उपकरणों को लागत मूल्य पर उपलब्घ कराने

किसानों को खाद, बीज, बिजली लागत मूल्य पर एवं कृषि आधारित उद्योगों की स्थापना करने वाली योजनाओं को लागू कराने हेतु अपना दल संकल्पित है।

किसानों को अपनी फसल का मूल्य तय करने का अधिकार मिले- 

प्रदेश भर के किसान महासम्मेलनों में मिली सफलता से उत्साहित दिख रहीं पल्लवी पटेल ने किसानों से अपने अधिकारों के लिए संघर्ष का अाह्वान किया। पल्लवी पटेल ने आगे कहा कि किसानों का अधिकार मिलना चाहिए अपनी फसल के मूल्य को तय करने का। जैसे एक माचिस बनाने वाला अपनी माचिस की कीमत खुद तय करता है। उसी प्रकार सभी किसानों को अपने फसल का कीमत तय करने का अधिकार मिलेगा तभी किसान खुशहाल बनेगा।

इन्होंने कहा किसानों ने जब भी अपने अधिकार के लिए आंदोलन किया तो सरकार ने आंदोलन को कुचलने का काम किया, पुलिस के डंडे का इस्तेमाल करके किसानों के ऊपर गोली चलवाई गई। सरकार की नीतियों से प्रति वर्ष हजारों किसान आत्महत्या के लिए मजबूर हुए।

सम्मेलन को मिर्जापुर जिलाध्यक्ष रमाशंकर पटेल, मंडल अध्यक्ष सुरेश पटेल, अपना दल युवा मंच के मंडल अध्यक्ष मिथिलेश पटेल, मड़िहान विधान सभा अध्यक्ष आशीष पटेल, जिला कोषाध्यक्ष स्वागतम पटेल, महिला नेता सरोज पटेल, मंडल अध्यक्ष किसान मंच श्याम बहादुर पटेल, सोनभद्र जिलाध्यक्ष सी.डी.सिंह पटेल, सोनभद्र युवा मंच जिलाध्यक्ष सन्तोष पटेल सहित अन्य अपना दल के किसान नेताओं ने सम्बोधित किया।

सोनभद्र पहुंची पल्लवी पटेल- 

मिर्जापुर के बाद पल्लवी पटेल सोनभद्र की घोरावल एवं राबर्ट्सगंज विधानसभा में किसान सम्मेलन को सम्बोधित करने पहुंची। यहां पल्लवी पटेल ने कहा कि एक तरफ उद्योगपतियों का अरबों रु0 सरकार माफ़ कर बैंकों की हालत खराब किए हैं तो दूसरी तरफ किसानों को ऋण माफ़ी के नाम पर 2,8,15,38,76,113 रु0 के चेक देकर मीडिया में ढ़िढोरा पीटकर किसानों का मजाक उड़ाया जा रहा है। जिसे अपना दल कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।

बुंदेलखंड कुर्मी समाज के सेनापति शिवशंकर पटेल ने 94 सेनानियों के साथ छतरपुर में ली समाज सेवा की शपथ

दरिंदगी: दिल्ली में स्कूल के टॉयलेट में क्लास 1 की बच्ची से कर्मचारी ने किया बलात्कार

योगीराज: न्योता देने से मना करने पर ठाकुरों ने नाई समाज के लोगों को पीटा, पैर तोड़कर जला दिया घर

यशवंत सिन्हा ने किया PM मोदी पर पलटवार, शल्य नहीं, भीष्म हूं, अर्थव्यवस्था का चीरहरण नहीं होने दूंगा

16 महीने की BJP सरकार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, पार्टी सांसद बोले रिश्वत लेते हैं हमारे मंत्री

र्दनाक: BHU के अस्पताल में प्रतिबंधित गैस से बेहोश होते थे मरीज, BJP विधायक की कंपनी से आती थी गैस

BJP के भीतर से ही विरोध के स्वर, यशवंत सिन्हा के बाद अरुण शौरी बोले, नोटबंदी-GST भ्रष्टाचार की योजना

Related posts

Share
Share