You are here

राष्ट्रपति चुनाव: रामनाथ कोविंद के प्रस्तावक में यूपी का जलवा विधायक करन सिंह पटेल शामिल

नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो

राष्ट्रपति चुनाव में उत्तर प्रदेश के विधायक का मत देश के किसी भी विधायक के मत से ज्यादा होता है. इसलिए राष्ट्रपति चुनाव में उत्तर प्रदेश के विधायकों का जलवा हमेशा रहता है लेकिन इस बार राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात के ही मूल निवासी हैं. इसलिए इस बार प्रदेश के विधायको ं को कुछ ज्यादा तवज्जो दी जा रही है.

बिंदकी से विधायक हैं करन सिंह पटेल- 

कानुपर के नजदीकी जिले फतेहपुर के निवासी और बिंदकी विधानसभा से बीजेपी विधायक करन सिंह पटेल को राष्ट्रपति चुनाव के लिए प्रस्तावकों की सूची में शामिल किया गया है. करन सिंह पटेल इससे पहले बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष भी रहे हैं और कुर्मी समाज में अच्छ पकड़ रखने वाले विधायकों में शामिल हैं.

यूपी से कुल 50 विधायक हैं प्रस्तावक- 

रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाये जाने पर भाजपा ने कोविंद के प्रस्तावकों की सूची में यूपी के 50 विधायकों का नाम शामिल किया है.

भाजपा ने जिन विधायकों का नाम प्रस्तावकों की सूची में शामिल किया है उनमें तीन मंत्री भी हैं-  नगर विकास और संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के अलावा विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल, पंकज सिंह, विमला सोलंकी, देवेन्द्र लोधी, संजीव राजा, नंद किशोर गुर्जर, अजीत पाल त्यागी, सुनील शर्मा, सत्यप्रकाश अग्रवाल, सौमेन्द्र तोमर, बृजेश सिंह, देवेन्द्र निम, प्रदीप चौधरी, तेजेन्द्र निर्वाल, उमेश मलिक, कपिलदेव अग्रवाल.

इसे भी पढ़ें-निजीकरण से खत्म हो रहीं आरक्षित वर्ग की नौकरी से नाराज छात्रों का बिहार में उग्र प्रदर्शन

अवतार सिंह भड़ाना, सुशांत सिंह, अशोक राणा, ओम कुमार, कमलेश सैनी, लोकेन्द्र चौहान, रितेश गुप्ता, राजीव तरारा, महेन्द्र खड्गवंशी, संगीत सोम, दिनेश खटिक, सत्यवीर त्यागी, विजयपाल अघाती, धीरेन्द्र सिंह, कारिंदा सिंह, पूरन प्रकाश, रामप्रताप चौहान, योगेन्द्र उपाध्याय, विपिन वर्मा डेविड, महेश गुप्ता, राजीव सिंह बब्बू, छत्रपाल गंगवार, डॉ. अरुण सक्सेना, वीर विक्रम सिंह, रोशन लाल वर्मा, करण सिंह पटेल, रवि सोनकर, सौरभ श्रीवास्तव, रवि सोनकर, संजय यादव और आनन्द स्वरूप शुक्ला का नाम शामिल किया गया है।

विधायकों के हस्ताक्षर प्रक्रिया शुरू- 

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने समन्वयक की भूमिका निभाते हुए प्रस्तावक के लिए विधायकों के हस्ताक्षर प्रक्रिया शुरू कर दी है। भाजपा ने विधायकों की सूची तैयार करते समय सामाजिक समीकरण साधने पर जोर दिया है। प्रस्तावकों की सूची में ज्यादातर पश्चिम और ब्रज क्षेत्र के विधायक शामिल किए गए हैं लेकिन, उनमें सभी जातियों का ख्याल रखा गया है। सवर्ण, पिछड़े और दलित विधायक भी सूची में शामिल किए गए हैं। सहारनपुर के जातीय संघर्ष को देखते हुए वहां के विधायकों को भी तरजीह दी गई है। यह सभी वर्गों के बीच सामंजस्य बनाने की पहल है। दरअसल, भाजपा कोविंद की उम्मीदवारी से अपने दलित एजेंडे को धार देने में लगी है।

इसे भी पढ़ें- 15 दिनों में 26 किसानों ने की आत्महत्या, ग्रामीण विकास मंत्री बेच रहे हैं ट्यूब लाइट के टिकट

Related posts

Share
Share