You are here

मोदी सरकार दे रही बूचड़खानों को सब्सिडी, गंगा, यमुना में बह रहा खून

नई दिल्ली, नेशनल जनमत ब्यूरो।

एनजीटी यानि नेशनल ग्रीन ट्रब्यूनल ने दिल्ली सरकार व दिल्ली नगर निगम को आदेश देते हुए कहा है कि ये नगर निगम सुनिश्चित करें कि बूचड़खानों से निकलने वाला खून सीधे  यमुना  में नहीं जाना चाहिए.

धार्मिक संगठनों की शिकायत पर दिया था एनजीटी ने आदेश

आपको बता दे कि एनजीटी ने सितम्बर 2015 को ही कुछ धार्मिक संगठनों की शिकायत पर ये आदेश दिल्ली के विभिन्न निकायों को दे दिया था पर दिल्ली के किसी भी निकाय ने बूचड़खानों का खून यमुना में न जाए , इस आदेश की परवाह नहीं की. मजबूर होकर एनजीटी ने एक बार फिर अपने आदेश की याद दिल्ली के संवंधित निकायों को दिलाई है.

मोदी सरकार देती है नए  बूचड़खाने खोलने पर 15 करोड़ रूपए की भारी सब्सिडी

आपको बता दें कि भाजपा और हिंदीवादी संगठन बातें चाहे जो करें पर मोदी सरकार द्वारा बूचड़खानों की दी जाने वाली सब्सिडी से आज भारत में बीफ का निर्यात बहुत बढ़ गया है. भारत दुनियां को 25 लाख मीटरी टन बीफ का निर्यात करता है.

बीते वित्तीय वर्ष में   बीफ निर्यात से भारत ने लगभग 5 अरब डॉलर की विदेशी मुद्रा अर्जित की है .

बूचड़खानों पर केन्द्र की मोदी सरकार भारी-भरकम सब्सिडी दे रही है जिसके चलते देश भर में पशुधन की चोरी के मामले बढ़ गए हैं. पशु चोर किसानों के जानवर चुराकर उन्हें बूचड़खानों में कटवा देते हैं. आपको बता दें मोदी राज में भारत दुनिया में सबसे सधिक मांस निर्यात करने के मामले में ब्राजील को पछाड़ते हुए पहले  नम्बर पर है.

Related posts

Share
Share