You are here

CM योगी का मोदी पुराण, मोदी सरकार के कामों से देशवासियों को जो सुख मिल रहा है, वही रामराज्य है

नई दिल्ली/ अयोध्या, नेशनल जनमत ब्यूरो। 

उत्तर प्रदेश के धार्मिक मुख्यमंत्री महंत आदित्यनाथ ने केंद्र के नरेंद्र मोदी शासन की तुलना रामराज्य से करते हुए कहा कि केंद्र सरकार के कार्यों से देश के आम नागरिक को जो सुख मिल रहा है, वही राम राज्य है.

योगी ने आध्यात्मिक नगरी अयोध्या में दीपावली के भव्य आयोजन के अवसर पर कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लक्ष्य तय किया है कि वर्ष 2022 तक कोई भी परिवार ऐसा ना बचे, जिसके सिर पर छत ना हो, जिसके पास 2019 तक अपना व्यक्तिगत शौचालय ना हो, बिजली कनेक्शन ना हो. राम राज्य यही तो है.

उन्होंने कहा, जिसके पास अपना घर हो, रोजगार हो और जिसके घर में जब प्रधानमंत्री के माध्यम से बिजली के नि:शुल्क कनेक्शन का बल्ब जलता है, उसके लिए वही रामराज्य है. जिस गरीब के घर में कभी रसोई गैस का चूल्हा नहीं जला है, वह जब यह चूल्हा जलाता है तो उसके लिए वही रामराज्य है. जीवन में जो उसने सोचा नहीं, उस सोच को साकार रूप प्रदान करने के लिए जो भी अभियान चल रहे हैं, वे मानवता के कल्याण को लेकर चल रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने संकल्प से सिद्धि का मंत्र दिया है. उनका संकल्प है कि एक ऐसा भारत बने जो गंदगी, गरीबी, जातिवाद, संप्रदायवाद, आतंकवाद, नक्सलवाद से मुक्त हो.

उन्होंने कहा कि भगवान राम उस समय के सबसे बड़े आतंक के पर्याय यानी रावण और उसकी सेना को मारकर अयोध्या लौटे थे. आज इस देश को जिस दिशा में प्रधानमंत्री ले जा रहे हैं, निरंतर विकास की योजनाएं चल रही है. हम आप सबको आश्वस्त कर सकते हैं.

एक-एक कर सारे कार्य हो रहे हैं. केवल उस संकल्प के साथ जुड़िए, अगर आपके पास ताकत होगी तो उसके बल पर कुछ भी कर सकते हैं. वह ताकत होगी विकास की. वह ताकत होगी भारत को ताकतवर बनाने की इच्छा की.

जय श्रीराम के गगनभेदी नारों के बीच गोरक्षपीठाधीश्वर ने कहा कि अयोध्या ने दुनिया को दीपोत्सव दिया, लेकिन अयोध्या खुद उपेक्षित हो गई. वह लगातार प्रहार झेलने को मजबूर होती गई, लेकिन अब यह स्थिति नहीं रहेगी. आज 135 करोड़ रुपये की लागत से केंद्र की योजनाओं का शिलान्यास हुआ है.

उन्होंने कहा कि अयोध्या को आशंकाओं की नजरों से देखना बंद हो, उस पर से प्रश्नचिह्न हटे. हम इसके लिए यहां उपस्थित हुए हैं. अब कहा जा रहा है कि हम जनता का ध्यान हटाने के लिए अयोध्या आए हैं. लेकिन हम तो अपनी योजनाओं के साथ यहां आए हैं.

योगी ने पूर्ववर्ती सरकारों के शासन पर कहा, वह रावण राज्य था जो जाति, परिवार और क्षेत्र के नाम पर भेदभाव करता था. अब वे ही लोग भाजपा सरकारों पर ऐसे आरोप लगा रहे हैं, जिनका खंडन करना हम अपना अपमान समझते हैं. सरकार विकास कार्य से रामराज्य की परिकल्पना को साकार करना चाहती है.

शब्दों से भेदभाव मिटाने की निकली केरल सरकार, ‘दलित-हरिजन’ शब्दों के इस्तेमाल पर रोक

AU छात्र संघ: समाजवादी छात्रसभा की जीत सामाजिक न्याय की जीत है, 1 यादव, 1 पटेल, 1 दलित, 1 ठाकुर

CM केजरीवाल का गंभीर आरोप, 90 फीसदी IAS काम नहीं करते इसलिए विकास ‘सचिवालय में अटक गया’ है

PM मोदी के शिक्षा मंत्री का संघी एजेंडा, विश्वविद्यालयों का ही नहीं, पूरे देश का भगवाकरण होना चाहिए

भगवाकरण राजनीति पर ममता बनर्जी का तंज, BJP कहीं ‘ताजमहल’ और ‘भारत’ का नाम ना बदल दे

अखिलेश ने सपा की नई कार्यकारिणी घोषित की, नेताजी-चाचाजी के नाम गायब, देखिए पूरी लिस्ट

 

 

Related posts

Share
Share