You are here

घमंड में चूर IAS का महिला विरोधी बयान, टॉयलेट बनवाने के नहीं हैं पैसे, तो अपनी बीवी बेच दो

नई दिल्ली/पटना। नेशनल जनमत ब्यूरो 

पीएम मोदी की सरकार का ‘स्वच्छ भारत अभियान’ सफाई के लिए कम और विवादों के लिए ज्यादा चर्चा में रहता है. अब अभियान के प्रचार के लिए रखे गए एक कार्यक्रम में बिहार के औरंगाबाद में जिलाधिकारी कंवल तनुज ने कुछ ऐसा बोल दिया जिससे विवाद पैदा हो गया है.

रैली को संबोधित करते हुए अपने भाषण के बीच में ही डीएम कंवल तनुज ने एक व्यक्ति को महिला विरोधी, आपत्तिजनक और विवादास्पद सलाह दे डाली. इसके बाद महिला अधिकार कार्यकर्ताओँ ने डीएम को महिला विरोधी करार देते हुए कार्रवाई की मांग कर डाली।

इसे भी पढ़ें-चीन से निपटने के लिए मोदी सरकार को RSS का ‘गुरु मंत्र’, 5 बार मंत्र का जाप करो मसला ही खत्म

स्त्री विरोधी मानसिकता- 

सामाजिक कार्यकर्ता कविता पटेल ने डीएम के बयान का विरोध करते हुए कहा कि इस तरह की मानसिकता गलत परवरिश और मनुवाद से उपजी पुरुषवादी मानसिकता की देन है। जो व्यक्ति लगातार घरों में स्त्री को अपमानित होते देखते आया वही इस तरह की टिप्पणी कर सकता है। देश की एक बड़ी परीक्षा पास करने वाले व्यक्ति से इस तरह की सोच की उम्मीद नहीं की जा सकती।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, घर में टॉयलेट बनवाने के लिए उन्होंने एक गरीब शख्स को पत्नी को बेच डालने के लिए कह दिया. उन्होंने भाषण के बीच कहा कि जो लोग घर में टॉयलेट नहीं बनवा सकते, उन्हें अपनी बीवी को बेच देना चाहिए.

इसे भी पढ़ें-चल रहा मौतों का खेल, मारे जा रहे बेगुनाह पटेल….शायर मुज़म्मिल अय्यूब की झकझोर देने वाली नज़्म

कौन 12 हजार रुपये में बीवी की इज्जत देगा- 

डीएम कंवल तनुज सदर प्रखंड के जम्होर में साफ सफाई को लेकर एक सभा को संबोधित कर रहे थे.  वो इतना ही कहकर शांत नहीं हुए आगे डीएम तनुज ने कहा- टॉयलेट की कमी के चलते महिलाओं का रेप होता है और उन्हें परेशान किया जाता है. एक शौचालय का निर्माण करने में केवल 12 हजार रुपये लगते हैं. क्या 12 हजार रुपये किसी महिला की इज्जत से ज्यादा हैं? ऐसा कौन सा आदमी है जो कहेगा कि मेरी बीवी की इज्जत ले लो और मुझे 12 हजार रुपये दे दो.

गरीबी की बात सुनते ही बोले बीवी बेच दो- 

तनुज के इस भाषण के बीच में ही भीड़ में मौजूद एक व्यक्ति ने कहा, साहब मैं बहुत गरीब हूं कैसे बनवाऊंगा टॉयलेट. इतना सुनते ही डीएम कुछ नाराज से हो गए और स्टेज से ही उस शख्स को नसीहत देते हुए बोले टॉयलेट बनवाने के नहीं हैं पैसे, तो अपनी बीवी बेच दो।

इसे भी पढ़ें-पैर से लेकर गले तक टंगे ‘काले धागे’ के पीछे एक कट्टर ब्राह्मणवादी सोच है, दीपाली तायडे का नजरिया

Related posts

Share
Share