You are here

मोदी की काशी में 6 साल की विकलांग से रेप के आरोपी संजय राठौर को बचाने में लगी योगी पुलिस

वाराणसी/ नई दिल्ली। नेशनल जनमत ब्यूरो।

योगी राज में प्रधानमंत्री मोदी का संसदीय क्षेत्र भी हत्या, लूट और बलात्कार की घटनाओं से अछूता नहीं है. मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हवस की आग में अंधे हो चुके एक दरिंदे ने 6 साल की विकलांग लड़की को भी नहीं छोड़ा। अब घटना के बाद आरोपी को बचाने का आरोप लगाते हुए परिजनों ने सामाजिक संगठनों समेत वाराणसी में प्रदर्शन  भी किया.

इसे भी पढ़ें…जंगलराज, सीएम योगी के गोरखपुर में नग्न हालत में युवती को फेककर भागे दरिंदे

घटना 11 मई को मंडुवाडीह थाना क्षेत्र के चांदपुर इलाके की है. देर रात जब लोग सो रहे थे, उस समय दरिंदा संजय राठौर अपनी हवस को मिटाने के लिए शिकार की तलाश में निकला. नवापुरा गांव पहुँचे उस दरिन्दे ने पहले अपनी हवस मिटाने के लिए घर के बाहर सो रही एक बच्ची को निशाना बनाया, लेकिन बच्ची के शोर मचाने पर वह भाग खड़ा हुआ।

इसके बाद इस दरिन्दे की नजर ननिहाल में आयी एक 6 वर्षीय मूकबधिर बच्ची पर पड़ी जो देर रात घर के बाहर सो रही थी। बच्ची के मूकबधिर होने का फायदा उठाते हुए दरिन्दा उसे उठाकर सुनसान इलाके में ले गया और उसने मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया।

इसे भी पढ़ें…जब कांशीराम ने अपने साथी मनोहर आप्टे से मांगे 5 पैसे, पढ़िए कांशीराम के संघर्ष की दास्तान

बच्ची की शिनाख्त के आधार पर की गई दरिंदे की पहचान

सरिता (बदला हुआ नाम ) की बच्ची के घर से गायब होने की खबर पूरे गांव में आग फ़ैल गयी और परिजनों के साथ ग्रामीण भी उसकी खोज करने लगे। गांव से कुछ दूरी पर मासूम बदहवास हालत में मिली जिसके बाद परिजन मासूम को मंडलीय अस्पताल ले गए जहाँ बच्ची की हालत गंभीर होने पर बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर भेज दिया गया। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दिया और दरिन्दे के दरिंदगी के चंगुल से बचने वाली पहली लड़की की शिनाख्त के आधार पर आरोपी को पकड़कर जमकर पिटाई की और पुलिस के हवाले कर दिया।

इसे भी पढ़ें…सुमित पटेल को गोली मारने वाले ठाकुरों के बचाव में योगी पुलिस, 8 पीड़ित पटेलों को ही ठूंस दिया जेल में

दरिंदे की ऊंची जात का होने के कारण पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई- 

मामले में पुलिस की हीलाहवाली का आरोप लगाते हुए लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आरोपी पर गंभीर धाराओं में मामला दर्ज करने की मांग की. इस दौरान ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि अारोपी की ऊंची जाति को देखते हुए पुलिस सही धाराआें में कार्रवाई नहीं कर रही है। ग्रामीणों के साथ पुलिस थाने पहुंचे स्थानीय नेताओं ने आरोपी के साथ और लोगों के मिले होने की बात कह थाने के बाहर अन्य आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर प्रदर्शन करने लगे। प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों और स्थानीय नेताओं को पुलिस ने जल्द ही पूरे मामले पर न्याय होने का आश्वासन देकर शांत कराया।

इसे भी पढ़े…भोपाल के बाद अब उत्तराखंड में भी भाजपा नेता निकली सेक्स रैकेट की सरगना, पार्टी से बाहर

 

Related posts

Share
Share